आइएसडीएन (ISDN)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
ओएसआई प्रतिमान
७. अनुप्रयोग परत

एनएनटीपी  · एसआईपी  · एसएसआई  · डीएनएस  · एफ़टीपी  · गोफ़र  · एचटीटीपी  · एनएफ़एस  · एनटीपी  · एसएमपीपी  · एसएमटीपी  · एसएनएमपी  · टेलनेट

(अन्य)
६. प्रस्तुति परत
एमआईएमई  · एक्सडीआर  · एसएसएल  · टीएलएस
५. सत्र परत
नामित निलियाँ  · नेटबीआईओएस  · एसएपी
४. यातायात परत
टीसीपी  · यूडीपी  · पीपीटीपी  · एल२टीपी  · एससीटीपी
३. जाल परत
आईपी  · आईसीएमपी  · आईपीसेक  · आईजीएमपी
2. सामग्री कड़ी परत
एआरपी  · सीएसएलआईपी  · एसएलआईपी  · ढाँचा पुनर्प्रसारण  · आईटीयू-टीजी.एचएन डीएलएल
१. भौतिक परत
आरएस-२३२  · वी.३५  · वी.३४  · आई.४३०  · आई.४३१  · T1  · ई१  · ८०२.३ ईथरनेट  · १०बीएएसई-टी  · १००बीएएसई-टीएक्स  · पीओटीएस  · एसओएनईटी  · डीएसएल  · ८०२.११ए/बी/जी/एनपीएचवाई  · आईटीयू-टी जी.एचएन पीएचवाई
आइएसडीएन (ISDN) टेलीफोन

एकीकृत सेवा डिजिटल नेटवर्क (आइएसडीएन (ISDN) ), पब्लिक स्विच्ड टेलीफोन नेटवर्क के परंपरागत परिपथों पर आवाज़, वीडियो, डाटा और अन्य नेटवर्क सेवाओं के समकालीन डिजिटल संचरण के संचार के मानकों का एक सेट है.

आइएसडीएन (ISDN) से पहले, फोन सिस्टम को डाटा के लिए उपलब्ध कुछ विशेष सेवाओं के साथ आवाज़ के परिवहन के एक तरीके के रूप में देखा जाता था. आइएसडीएन (ISDN) की प्रमुख विशेषता यह है कि यह बातचीत और डाटा को उसी तर्ज पर एकीकृत करता है लेकिन इसके साथ कुछ ऐसी सुविधाओं को भी शामिल करता है जो पारंपरिक टेलीफोन सिस्टम में उपलब्ध नहीं थे. आइएसडीएन (ISDN) के एक्सेस अंतराफलक के कई प्रकार हैं जिन्हें मूल दर अंतराफलक (बीआरआई (BRI)), प्राथमिक दर अंतराफलक (पीआरआई (PRI)) और ब्रॉडबैंड आइएसडीएन (ISDN) (बी-आईएसडीएन (B-ISDN)) के रूप में परिभाषित किया जाता है.

आइएसडीएन (ISDN) एक परिपथ-स्विच्ड टेलीफोन नेटवर्क सिस्टम है, जो पैकेट स्विच्ड नेटवर्कों में भी एक्सेस प्रदान करता है, जिसे साधारण टेलीफोन के तांबे के तारों पर आवाज़ और डाटा के डिजिटल संचरण की अनुमति प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिसके परिणामस्वरूप यह एक एनालॉग फोन की अपेक्षा संभावित रूप से बेहतर आवाज़ गुणवत्ता प्रदान करता है. यह 64 kilobit/s (किलोबिट/से) की वृद्धि में परिपथ-स्विच्ड कनेक्शन (या तो आवाज़ के लिए या डाटा के लिए), और पैकेट-स्विच्ड कनेक्शन (डाटा के लिए) प्रदान करता है. कुछ देशों में आइएसडीएन (ISDN) का एक प्रमुख बाज़ार अनुप्रयोग इंटरनेट एक्सेस है, जहां आइएसडीएन (ISDN) मिसाल के तौर पर अपस्ट्रीम और डाउनस्ट्रीम दोनों दिशाओं में अधिक से अधिक 128 kbit/s (किलोबिट/से) प्रदान करता है. बृहत्तर डाटा दर को प्राप्त करने के लिए आइएसडीएन (ISDN) के B-चैनलों को जोड़ा जा सकता है, मिसाल के तौर पर 3 या 4 बीआरआई (BRI) (6 से 8 64 kbit/s चैनल) को जोड़ा जाता है.

आइएसडीएन (ISDN) को विशेष प्रोटोकॉल, जैसे Q.931 जिससे आइएसडीएन (ISDN) ओएसआई (OSI) मॉडल के सन्दर्भ में नेटवर्क, डाटा-लिंक और भौतिक परतों के रूप में कार्यरत है, के साथ इसके प्रयोग के लिए गलत नहीं समझना चाहिए. एक व्यापक अर्थ में आइएसडीएन (ISDN) को ओएसआई (OSI) मॉडल के परत 1, 2, और 3 पर मौजूद डिजिटल सेवाओं का एक समूह माना जा सकता है. आइएसडीएन (ISDN) को आवाज़ और डाटा सेवाओं में एक साथ एक्सेस प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है.

बहरहाल, सामान्य प्रयोग ने आइएसडीएन (ISDN) को Q.931 और संबंधित प्रोटोकॉलों में सीमाबद्ध किये जाने के लिए इसमें कमी की गई है, जो परिपथ स्विच्ड कनेक्शनों की स्थापना करने और तोड़ने के लिए, और उपयोगकर्ता के लिए उन्नत कॉल सुविधाओं के लिए प्रोटोकॉलों का एक सेट है. उनकी शुरुआत 1986 में की गई.[1]

एक वीडियोकॉन्फ्रेंस में आइएसडीएन (ISDN) व्यक्तिगत डेस्कटॉप वीडियोकॉन्फ्रेंसिंग सिस्टमों और समूह (कक्ष) वीडियोकॉन्फ्रेंसिंग सिस्टमों के बीच एकसाथ आवाज़, वीडियो, और पाठ संचरण प्रदान करता है.

आइएसडीएन (ISDN) के तत्व[संपादित करें]

  • एकीकृत सेवा , एकल लाइन पर डाटा, आवाज़, वीडियो, और फैक्स के किसी भी संयोजन में एक साथ कम से कम दो कनेक्शनों में आइएसडीएन (ISDN) की क्षमता से सम्बद्ध है. एकाधिक उपकरणों को लाइन से जोड़ा जा सकता है, और जरूरत पड़ने पर प्रयोग किया जा सकता है. इसका मतलब है कि एक आइएसडीएन (ISDN) लाइन एकाधिक एनालॉग फोन लाइनों को खरीदने पर मजबूर हुए बिना ही बहुत अधिक संचरण दर पर अधिकांश लोगों की सम्पूर्ण संचार सम्बन्धी जरूरतों की देखभाल कर सकता है.

मूल दर अंतराफलक[संपादित करें]

आइएसडीएन (ISDN) का प्रवेश स्तरीय अंतराफलक, मूल दर अंतराफलक (बीआरआई (BRI)) है जो मानक टेलीफोन के एक जोड़े तांबे के तारों पर वितरित की जाने वाली एक 128 kbit/s सेवा है. 144 kbit/s दर को 64 kbit/s वाले दो धारक चैनलों ('B' चैनलों) और 16 kbit/s वाले एक संकेतन चैनल ('D' चैनल या डेल्टा चैनल) में विभाजित कर दिया गया है.

बीआरआई (BRI) को कभी-कभी 2B+D के रूप में भी उल्लिखित किया जाता है.

अंतराफलक निम्नलिखित नेटवर्क अंतराफलकों को निर्दिष्ट करता है:

  • U अंतराफलक , आदान-प्रदान और एक नेटवर्क अंतरापृष्ठ इकाई के बीच दो तारों वाला एक अंतराफलक है, जो आम तौर पर गैर-उत्तर अमेरिकी नेटवर्कों का सीमांकन बिंदु है.
  • T अंतराफलक , एक कंप्यूटिंग उपकरण और एक टर्मिनल अनुकूलक के बीच एक क्रमिक अंतराफलक है, जो एक मॉडेम का डिजिटल समवस्तु है.
  • S अंतराफलक , चार तारों वाला एक बस है जिसे आइएसडीएन (ISDN) उपभोक्ता उपकरणों में प्लग में लगाते हैं; S एवं T सन्दर्भ बिन्दुओं को आम तौर पर एक एनटी1 (NT1) पर एक सिंगल अंतराफलक लेबल वाले 'S/T' के रूप में कार्यान्वित किया जाता है.
  • R अंतराफलक , एक गैर-आइएसडीएन (ISDN) उपकरण और एक टर्मिनल अनुकूलक (टीए (TA)) के बीच के बिंदु को परिभाषित करता है जो ऐसे एक उपकरण में या से रूपांतरण करता है.

बीआरआई-आइएसडीएन (BRI-ISDN) यूरोप में बहुत लोकप्रिय है, लेकिन उत्तर अमेरिका में बहुत कम प्रचलित है. इसे जापान में भी आम तौर पर प्रयोग किया जाता है - जहां इसे आईएनएस64 (INS64) के नाम से जाना जाता है.

प्राथमिक दर अंतराफलक[संपादित करें]

अन्य उपलब्ध आइएसडीएन (ISDN) सेवा प्राथमिक दर अंतराफलक (पीआरआई (PRI)) है, जिसे विश्व के अधिकांश भागों में एक E1 (2048 kbit/s) पर स्थानांतरित किया जाता है. एक E1, 64 kbit/s वाले 30 'B' चैनल, 64 kbit/s वाला एक 'D' चैनल और 64 kbit/s वाला एक समय और अलार्म चैनल है. उत्तर अमेरिका में पीआरआई (PRI) सेवा को 1544 kbit/s (24 चैनल) वाले एक या एक से अधिक T1 (जिसे कभी-कभी 23B+D के रूप में संदर्भित किया जाता है) पर प्रदान किया जाता है. एक T1 में संकेतन के लिए 23 'B' चैनल और एक 'D' चैनल होते हैं. (जापान J1 नामक एक परिपथ का प्रयोग करता है, जो एक T1 की तरह ही है).

उत्तर अमेरिका में, एनएफएएस (NFAS) दो या दो से अधिक पीआरआई (PRI) को एक सिंगल D चैनल द्वारा नियंत्रित किए जाने की अनुमति प्रदान करता है, और कभी-कभी "23B+D + n*24B" कहा जाता है. प्राथमिक चैनल के विफल होने की स्थिति में डी-चैनल बैक-अप एक दूसरे D चैनल की अनुमति प्रदान करता है. T3 पर एनएफएएस (NFAS) का एक प्रयोग एक लोकप्रिय प्रयोग है.

पीआरआई (PRI)-आइएसडीएन (ISDN) दुनिया भर में, विशेष रूप से पीबीएक्स (PBX) में पीएसटीएन (PSTN) परिपथ के कनेक्शन के लिए, लोकप्रिय है.

हालांकि कई नेटवर्क पेशेवर शब्द "आइएसडीएन (ISDN)" का प्रयोग कम बैंडविड्थ वाले बीआरआई (BRI) परिपथ के सन्दर्भ में करते हैं, लेकिन उत्तर अमेरिका में अब तक आइएसडीएन (ISDN) सेवाओं में से अधिकांश वास्तव में पीबीएक्स (PBX) की तरह काम करने वाले पीआरआई (PRI) परिपथ हैं.[कृपया उद्धरण जोड़ें]

डाटा चैनल[संपादित करें]

धारक चैनल (B), G.711 एन्कोडिंग के साथ 8 kHz में 8 बिट्स नमूना वाला एक मानक 64 kbit/s आवाज़ चैनल है. B-चैनलों को डाटा ले जाने के लिए भी प्रयोग किया जा सकता है क्योंकि वे डिजिटल चैनल से ज्यादा कुछ नहीं हैं.

इनमें से प्रत्येक चैनल को डीएस0 (DS0) के रूप में जाना जाता है.

अधिकांश B चैनल 64 kbit/s वाले एक संकेत को ले जा सकते हैं, लेकिन कुछ 56K तक ही सीमित थे क्योंकि वे आरबीएस (RBS) लाइनों पर गुजरते थे. यह अतीत में एक समस्या से बढ़कर था, और आजकल इसका आम तौर पर सामना नहीं करना पड़ता है.

संकेतन चैनल[संपादित करें]

संकेतन चैनल (D), लिंक की दूसरी तरफ से संकेत देने के लिए Q.931 का प्रयोग करता है.

X.25[संपादित करें]

X.25 को बीआरआई (BRI) लाइन के B या D चैनलों पर, और पीआरआई (PRI) लाइन के B चैनलों पर ले जाया जा सकता है. बिक्री केंद्र (क्रेडिट कार्ड) के कई टर्मिनलों में D चैनल पर X.25 का प्रयोग किया जाता है क्योंकि यह मॉडेम व्यवस्था को समाप्त कर देता है, और क्योंकि यह B चैनल पर केन्द्रीय व्यवस्था से जुड़ जाता है, जिससे मॉडेम की जरूरत समाप्त हो जाती है और केन्द्रीय व्यवस्था के टेलीफोन लाइनों का प्रयोग कहीं बेहतर हो जाता है.

X.25, आइएसडीएन (ISDN) के एक प्रोटोकॉल का भी हिस्सा था जिसे "ऑलवेज़ ऑन/डाइनामिक आइएसडीएन (ISDN)", या एओ/डीआई (AO/DI) कहते थे. यह एक उपयोगकर्ता को D चैनल पर X.25 के ऊपर इंटरनेट से एक सतत बहु-लिंक पीपीपी (PPP) को जोड़ने की अनुमति प्रदान करता था और आवश्यकतानुसार एक या दो B चैनलों को प्रस्तुत करता था.

फ्रेम रिले[संपादित करें]

सिद्धांत में, फ़्रेम रिले बीआरआई (BRI) और पीआरआई (PRI) के D चैनल पर काम कर सकता है, लेकिन इसे शायद ही कभी प्रयोग किया जाता है.

उपभोक्ता और उद्योग दृष्टिकोण[संपादित करें]

आइएसडीएन (ISDN) की दुनिया के दो दृष्टिकोण हैं. सबसे आम दृष्टिकोण अंतिम उपयोगकर्ता का है, जो घर के टेलीफोन/डाटा नेटवर्क में एक डिजिटल कनेक्शन लेना चाहता है, जिसका प्रदर्शन एक साधारण एनालॉग मॉडेम कनेक्शन से बेहतर होगा. अंतिम-उपयोगकर्ता का विशिष्ट इंटरनेट कनेक्शन इस दृष्टिकोण से संबंधित है, और विभिन्न आइएसडीएन (ISDN) मॉडेमों की खूबियों की चर्चा, वाहकों की पेशकश और टैरिफ (सुविधाएं, मूल्य निर्धारण) इसी परिप्रेक्ष्य से संबंधित है. अगली चर्चा में से अधिकांश इसी दृष्टिकोण से संबंधित है, लेकिन इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि एक डाटा कनेक्शन सेवा के रूप में, आइएसडीएन (ISDN) का ज्यादातर डीएसएल (DSL) द्वारा अधिक्रमण हो गया है.

एक दूसरा दृष्टिकोण है जो टेलीफोन उद्योग से संबंधित है जहां आइएसडीएन (ISDN) एक केन्द्रीय प्रौद्योगिकी है. एक टेलीफोन नेटवर्क को स्विचिंग सिस्टमों के बीच बंधे तारों का एक संग्रह माना जा सकता है. इन तारों पर संकेतों का आम विद्युतीय विनिर्देशन T1 या E1 है. टेलीफोन कंपनी के स्विचों के बीच संकेतन को SS7 के माध्यम से किया जाता है. आम तौर पर, गंतव्य संख्या का कूटलेखन करने के लिए ऑन-हूक या ऑफ-हूक परिस्थितियों और एमएफ (MF) और डीटीएमएफ (DTMF) टोन को दर्शाने के लिए वंचित बिट संकेतन के साथ एक T1 के माध्यम से पीबीएक्स (PBX) को जोड़ा जाता है. आइएसडीएन (ISDN) बहुत बेहतर है क्योंकि संदेशों को लम्बे (100 ms प्रति अंक) टोन क्रम तक की संख्याओं का कूटलेखन करने की कोशिश करने की अपेक्षा बहुत ज्यादा तेजी से भेजा जा सकता है. इसके परिणामस्वरूप कॉल निर्धारण के समय में तेजी आ जाती है. इसके अलावा, अधिक से अधिक संख्या में सुविधाएं उपलब्ध हो जाती है और धोखाधड़ी कम हो जाती है.

आइएसडीएन (ISDN) को एक चतुर-नेटवर्क प्रौद्योगिकी के रूप में भी प्रयोग किया जाता है जिसका उद्देश्य पब्लिक स्विच्ड टेलीफोन नेटवर्क (पीएसटीएन (PSTN)) में नई सेवाओं को शामिल करना है जिसके लिए यह उपयोगकर्ताओं को एक छोर से दूसरे छोर के परिपथ-स्विच्ड डिजिटल सेवाओं में प्रत्यक्ष एक्सेस करने की सुविधा प्रदान करता है और इसके साथ ही साथ इसे (आइएसडीएन (ISDN)) को महत्वपूर्ण प्रयोग वाले डाटा परिपथों के एक पूर्तिकर या निष्फल-रक्षित परिपथ समाधान के रूप में भी प्रयोग किया जाता है.

आइएसडीएन (ISDN) और प्रसारण उद्योग[संपादित करें]

आइएसडीएन (ISDN) को कम विलंबता, उच्च गुणवत्ता, लंबी दूरी की ऑडियो परिपथ स्विचिंग का एक विश्वसनीय तरीके के रूप में प्रसारण उद्योग द्वारा बहुत अधिक प्रयोग किया जाता है. उपयुक्त कोडेक के साथ संयोजन के रूप में, 20Hz-20 kHz बैंडविड्थ वाले स्टीरियो द्वि-दिशात्मक ऑडियो को भेजने के लिए एक आइएसडीएन बीआरआई (ISDN BRI) का प्रयोग किया जा सकता है, हालांकि आमतौर पर परिणामी ऑडियो को एक लो-फाई "आइएसडीएन (ISDN) ध्वनि" प्रदान करके एक सिंगल B चैनल पर पुराने हो चले G.722 कोडेक का ही प्रयोग किया जाता है. जहां उच्च बैंडविड्थ वाला एक परिपथ स्विच्ड कनेक्शन प्रदान करने के लिए बहुत उच्च गुणवत्ता वाला ऑडियो आवश्यक होता है, वहां इसके समानांतर एकाधिक आइएसडीएन बीआरआई (ISDN BRI) का प्रयोग किया जा सकता है. बीबीसी (BBC) रेडियो 3, सीधे बाहरी प्रसारणों के लिए 320kbps ऑडियो स्ट्रीम का वहन करने के लिए आम तौर पर तीन आइएसडीएन बीआरआई (ISDN BRI) का प्रयोग करता है. सुदूर स्टूडियो, खेल के मैदानों और बाहरी प्रसारणों को मुख्य प्रसारण स्टूडियो में जोड़ने के लिए आइएसडीएन बीआरआई (ISDN BRI) सेवाओं का प्रयोग किया जाता है. दुनिया भर के क्षेत्र संवाददाताओं द्वारा उपग्रह के जरिए आइएसडीएन (ISDN) का प्रयोग किया जाता है. दूरदराज के उपग्रह प्रसारण वाहनों में वापसी ऑडियो कड़ियों के लिए आइएसडीएन (ISDN) का प्रयोग भी आम है.

आईपी (IP) आधारित स्ट्रीमिंग कोडेक, जैसे - कॉम्रेक्स एक्सेस, दूरदराज के स्टूडियो से जुड़ने के लिए ब्रॉडबैंड इंटरनेट का प्रयोग करके प्रसारण क्षेत्र में अपनी पकड़ हासिल करना शुरू कर रहा है. हालांकि विश्वसनीयता प्रसारकों के लिए निर्णायक ढंग से बहुत महत्वपूर्ण है और पैकेट स्विच्ड विकल्पों द्वारा आइएसडीएन (ISDN) द्वारा प्रस्तुत सेवा की गुणवत्ता का अब तक मिलान नहीं किया गया है.

संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा[संपादित करें]

आइएसडीएन-बीआरआई (ISDN-BRI) को कनाडा और अमेरिका में कभी एक सामान्य प्रयोग टेलीफोन एक्सेस प्रौद्योगिकी के रूप में लोकप्रियता हासिल नहीं हुई है और आज यह एक आला उत्पाद बना हुआ है. सेवा को एक समस्या की तलाश में एक समाधान के रूप में देखा गया,[2] और अधिकांश ग्राहकों के लिए विकल्प और सुविधाओं की व्यापक सारिणी को समझ पाना और इसका प्रयोग करना मुश्किल था. आइएसडीएन (ISDN) को लम्बे समय से इन मुद्दों पर प्रकाश डालने वाले कई अपमानजनक आदिवर्णिक शब्दों, जैसे - इट स्टिल डज़ नथिंग (यह अभी भी कुछ नहीं करता है), इनोवेशंस सबस्क्राइबर्स डोंट नीड (अभिनव अभिदाताओं को जरूरत नहीं है), और आई स्टिल डोंट नो (मुझे अभी भी पता नहीं है), के माध्यम से जाना जाता है.[3][4]

मुश्किल यह है कि चूंकि बीआरआई (BRI) सेवा के क्षेत्र में कदम रख रहा था, इसलिए शब्द ब्रॉडबैंड शब्द का जो मतलब था उसकी अवधारणा का उर्ध्वमुखी संशोधन किया जा रहा था ताकि ग्राहक को इसके कम से कम 256 kbit/s होने का पता चल सके.[5] जैसे ही संयुक्त राज्य अमेरिका में एडीएसएल (ADSL) की लोकप्रियता में वृद्धि हुई, वैसे ही बीआरआई (BRI) का उपभोक्ता बाज़ार बिखर गया. इसका केवल शेष बचा हुआ सकारात्मक तत्व यही है कि जहां एडीएसएल (ADSL) की कार्यात्मक दूरी सीमित है, वहीं बीआरआई (BRI) की कार्य करने की सीमा अपेक्षाकृत बड़ी है और यह पुनरावर्तकों का प्रयोग कर सकता है. वैसे तो, बीआरआई (BRI) उन स्थितियों में स्वीकार्य हो सकते हैं जहां ग्राहक इतने दूर होते हैं कि वे एडीएसएल (ADSL) का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं. बीआरआई (BRI) के व्यापक प्रयोग को आगे चलकर कुछ उत्तर अमेरिकी सीएलईसी (CLEC), जैसे सेंचुरी-टेल, की बाधा का सामना करना पड़ा है जिन्होंने इसका परित्याग कर दिया है और इसके प्रयोग से इंटरनेट एक्सेस की सुविधा प्रदान नहीं करेंगे.[6] हालांकि, अधिकांश राज्यों (खास तौर पर पूर्व एसबीसी (SBC)/एसडब्ल्यूबी (SWB) क्षेत्र) में एटी एण्ड टी (AT&T) अभी भी एक आइएसडीएन बीआरआई (ISDN BRI) लाइन को कहीं भी स्थापित कर देगा जहां एक सामान्य एनालॉग लाइन को रखा जा सकता है और मासिल शुल्क लगभग 55 डॉलर ही होता है.

वर्तमान में आइएसडीएन-बीआरआई (ISDN-BRI) को मुख्य रूप से विशेष और बहुत विशिष्ट आवश्यकताओं वाले उद्योगों में प्रयोग किया जाता है. सोनी, पॉलीकॉम और टैंडबर्ग जैसी कंपनियों द्वारा बनाई गई हाई-एंड वीडियोकॉन्फ्रेंसिंग लगभग दुनिया में कहीं भी डिजिटल, परिपथ-स्विच्ड वीडियो कनेक्शन प्रदान करने के लिए 6 B-चैनलों को एक साथ (प्रत्येक 2 चैनलों के लिए एक बीआरआई (BRI) परिपथ का प्रयोग करके) जोड़ देते हैं. यह बहुत महंगा है, और इसकी जगह आईपी (IP)-आधारित कॉन्फ्रेंसिंग का प्रयोग किया जा रहा है, लेकिन जहां लागत की कोई समस्या नहीं है और उत्तम वुन्वत्ता की आवश्यकता होती है, वहां बीआरआई (BRI) ही पसंदीदा विकल्प है.

अधिकांश आधुनिक गैर-वोआईपी (VoIP) पीबीएक्स (PBX), आइएसडीएन-पीआरआई (ISDN-PRI) परिपथों का प्रयोग करते हैं. इन्हें पुराने एनालॉग दो-तरफा और प्रत्यक्ष अंदरूनी डायलिंग (डीआईडी (DID)) के वृहद् खण्डों की जगह, केन्द्रीय कार्यालय स्विच वाले T1 लाइनों के माध्यम से जोड़ा जाता है. पीआरआई (PRI) दोनों दिशाओं में कॉलिंग लाइन पहचान (सीएलआईडी (CLID)) की सुविधा प्रदान करने में सक्षम है ताकि कंपनी के मुख्य नंबर के बजाय एक एक्सटेंशन का टेलीफोन नंबर भेजा जा सके. इसे अभी भी आम तौर पर रिकॉर्डिंग स्टूडियो में प्रयोग किया जाता है, जब एक पार्श्व-स्वर अभिनेता एक स्टूडियो में होता है लेकिन निर्देशक और निर्माता किसी दूसरे स्थान के एक स्टूडियो में रहते हैं. आइएसडीएन (ISDN) प्रोटोकॉल, प्रवाहित, नॉट-ओवर-द-इंटरनेट सेवा, शक्तिशाली कॉल व्यवस्था और अनुमार्गण सुविधाएं, अपेक्षाकृत तेज़ व्यवस्था और टियर डाउन, श्रेष्ठ ऑडियो विश्वस्तता (पीओटीएस (POTS) (प्लेन ओल्ड टेलीफोन सर्विस) की तुलना में), कम विलंबता और अधिक घनत्व, कम लागत पर प्रदान करता है.

जापान[संपादित करें]

जापान में, यह 1999 से 2001 के आसपास कुछ हद तक लोकप्रिय हुआ था, लेकिन अब वही एडीएसएल (ADSL) शुरू हो गया है और अभिदाताओं की संख्या में गिरावट आई है. एनटीटी (NTT)[[]], जो कि एक प्रमुख जापानी टेलीफोन कंपनी है, आईएनएस64 (INS64) और आईएनएस1500 (INS1500) के नाम से आइएसडीएन (ISDN) सेवा प्रदान करता है, जो आइएसडीएन (ISDN) से बहुत कम मान्य है.

यूनाइटेड किंगडम[संपादित करें]

यूनाइटेड किंगडम में, ब्रिटिश टेलीकॉम (बीटी (BT)) आइएसडीएन2e (ISDN2e) (बीआरआई (BRI)) के साथ-साथ आइएसडीएन30 (ISDN30) (पीआरआई (PRI)) भी प्रदान करता है. अप्रैल 2006 तक, उन्होंने होम हाईवे और बिज़नेस हाईवे नामक सेवाओं को भी प्रदान किया, जो बीआरआई (BRI) आइएसडीएन (ISDN)-आधारित सेवाएं हैं जो एकीकृत एनालॉग कनेक्टिविटी के साथ-साथ आइएसडीएन (ISDN) की सुविधा भी प्रदान करते हैं, हाईवे उत्पादों के बाद वाले संस्करणों में प्रत्यक्ष कंप्यूटर एक्सेस के लिए अंतर्निर्मित यूनिवर्सल सीरियल बस (यूएसबी (USB)) के सॉकेट भी शामिल किए गए. होम हाईवे को कई गृह उपयोगकर्ताओं ने आम तौर पर इंटरनेट कनेक्शन के लिए खरीद लिया है लेकिन फिर भी यह उतना तेज़ नहीं है जितना एडीएसएल (ADSL) है, क्योंकि एडीएसएल (ADSL) से पहले और ऐसी जगहों में उपलब्ध था जहां एडीएसएल (ADSL) नहीं पहुंचता है. वर्जिन मीडिया भी वर्जिन ब्रॉडबैंड के उन ग्राहकों के लिए आइएसडीएन (ISDN) लाइनों का प्रयोग करता है जो केबल टीवी के क्षेत्रों[कृपया उद्धरण जोड़ें] में रहते हैं.

फ़्रांस[संपादित करें]

फ्रांस टेलीकॉम अपने उत्पाद नाम न्युमरिस (2 B+D) के तहत आइएसडीएन (ISDN) सेवाएं प्रदान करता है, जिसका एक प्रोफेशनल डुओ और होम आईटू संस्करण उपलब्ध है. आइएसडीएन (ISDN) को फ्रांस में आम तौर पर आरएनआईएस (RNIS) के नाम से जाना जाता है और बड़े पैमाने पर उपलब्ध है. एडीएसएल (ADSL) की शुरूआत ने डाटा स्थानांतरण और इंटरनेट एक्सेस के लिए आइएसडीएन (ISDN) के प्रयोग में कटौती की है, हालांकि अधिक ग्रामीण और दूरस्थ इलाकों में, और व्यवसायगत आवाज़ और बिक्री केंद्र के टर्मिनलों जैसे अनुप्रयोगों के लिए यह अभी भी आम है.

जर्मनी[संपादित करें]

जर्मनी में, आइएसडीएन (ISDN) बहुत लोकप्रिय है जहां 25 मिलियन चैनल स्थापित हुए हैं (जो 2003 तक के आंकड़े के अनुसार जर्मनी के सभी ग्राहक लाइनों का 29% और दुनिया भर के सभी आइएसडीएन (ISDN) चैनलों का 20% है). आइएसडीएन (ISDN) की सफलता के कारण, स्थापित एनालॉग लाइनों की संख्या घट रही है. ड्यूश टेलीकॉम (डीटीएजी (DTAG)) बीआरआई (BRI) और पीआरआई (PRI) दोनों सेवाएं प्रदान करता है. प्रतिस्पर्धी फोन कंपनियां अक्सर एनालॉग लाइनों को नहीं बल्कि केवल आइएसडीएन (ISDN) सेवा प्रदान करती हैं. हालांकि, ये ऑपरेटर आम तौर पर मुफ्त हार्डवेयर की पेशकश करता है जो एकीकृत टर्मिनल अनुकूलकों के साथ NTBAs जैसे पीओटीएस (POTS) उपकरण के प्रयोग की भी अनुमति प्रदान करता है. एडीएसएल (ADSL) सेवाओं की व्यापक उपलब्धता के कारण, आइएसडीएन (ISDN) को आजकल मुख्य रूप से आवाज़ और फैक्स आवागमन के लिए प्रयोग किया जाता है, लेकिन जर्मन दूरसंचार प्रदाताओं की मूल्य निर्धारण नीति के परिणामस्वरूप यह अभी भी बहुत लोकप्रिय है. आजकल आइएसडीएन (ISDN) (बीआरआई (BRI)) और एडीएसएल (ADSL)/वीडीएसएल (VDSL) को अक्सर एक ही लाइन में जोड़ा जाता है, जिसका मुख्य कारण यह है कि एक एनालॉग लाइन के साथ एडीएसएल (ADSL) को जोड़ने से संयुक्त आइएसडीएन-एडीएसएल (ISDN-ADSL) लाइन पर कोई लागत लाभ प्राप्त नहीं होता है. कुछ जर्मन ऑपरेटर अगली पीढ़ी की नेटवर्किंग को लागू करने लगे, जिसे आम तौर पर डीएसएल (DSL) और अबंध स्थानीय लूप के माध्यम से समझा गया. हालांकि, कुछ ऑपरेटर उसी सेवाओं को केबल टेलीविजन अवसंरचना के माध्यम से या गिने-चुने क्षेत्रों में एफटीटीएच (FTTH) के माध्यम से प्रस्तुत करते हैं. आइएसडीएन (ISDN) की लोकप्रियता के कारण, वस्तुतः ये सभी दूरसंचार प्रदाता अपने उत्पादों को आवासीय प्रवेशद्वार के साथ जोड़ देते हैं जिनमें एकीकृत एनालॉग टेलीफोनी अनुकूलक और आइएसडीएन-एनजीएन (ISDN-NGN) अनुकूलक दोनों शामिल रहते हैं.

ग्रीस[संपादित करें]

ओटीई (OTE), जो कि पदस्थ दूरसंचार ऑपरेटर है, ग्रीस में आइएसडीएन बीआरआई (ISDN BRI) (बीआरए (BRA)) सेवाएं प्रदान करता है. 2003 में एडीएसएल (ADSL) के शुभारम्भ के बाद, डाटा स्थानांतरण के लिए प्रयोग होने वाले आइएसडीएन (ISDN) का महत्व घटने लगा और आजकल यह स्थल-से-स्थल की आवश्यकताओं वाले आला व्यावसायिक अनुप्रयोगों के लिए सीमित है.

भारत[संपादित करें]

महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड जो दिल्ली, मुंबई महानगर और भारत संचार निगम लिमिटेड, जो राज्य के स्वामित्व वाला सबसे बड़ा संचार सेवा प्रदाता है, देश भर में आइएसडीएन बीआरआई (ISDN BRI) और पीआरआई (PRI) दोनों सेवाएं प्रदान करता है. ब्रॉडबैंड प्रौद्योगिकी की शुरूआत के साथ, बैंडविड्थ के बोझ को एडीएसएल (ADSL) के द्वारा अवशोषित किया जा रहा है. आइएसडीएन (ISDN) स्थल-से-स्थल के लिए पट्टे पर ली गई लाइन के ग्राहकों, जैसे - बैंक, एसेवा सेंटर्स [1], भारतीय जीवन बीमा निगम, एसबीआई (SBI) एटीएम (ATM), के लिए एक महत्वपूर्ण पूर्तिकर नेटवर्क के रूप में बना हुआ है.

अन्य आइएसडीएन (ISDN) प्रदाता - रिलायंस, एडीएजी (ADAG) और वीएसएनएल (VSNL) हैं.

अंतर्राष्ट्रीय परिनियोजन[संपादित करें]

जर्मन विज्ञान विभाग के एक अध्ययन[7] से वर्ष 2005 में प्रति 1000 निवासियों के लिए आइएसडीएन (ISDN)-चैनलों के निम्नलिखित प्रसार का पता चलता है:

विन्यास[संपादित करें]

आइएसडीएन (ISDN) में दो प्रकार के चैनल - B ("धारक" के लिए) और D ("डेल्टा" के लिए) होते हैं. B चैनल का प्रयोग डाटा के लिए किया जाता है (जिसमें आवाज़ शामिल हो सकता है), और D चैनल का प्रयोग संकेतन और नियंत्रण के लिए किया जाता है (लेकिन डाटा के लिए भी प्रयोग किया जा सकता है).

आइएसडीएन (ISDN) के दो कार्यान्वयन हैं. मूल दर अंतराफलक (बीआरआई (BRI)), जिसे मूल दर एक्सेस (बीआरए (BRA)) भी कहते हैं — दो B चैनलों, जिसमें से प्रत्येक का बैंडविड्थ 64 kbit/s है, और एक D चैनल, जिसका बैंडविड्थ 16 kbit/s है, से मिलकर बना होता है. एक साथ इन तीन चैनलों को 2B+D के रूप में निर्दिष्ट किया जा सकता है. प्राथमिक दर अंतराफलक (पीआरआई (PRI)), जिसे यूरोप में प्राथमिक दर एक्सेस (पीआरए (PRA)) भी कहते हैं — में असंख्य B चैनल और 64 kbit/s बैंडविड्थ वाला एक D चैनल होता है. पीआरआई (PRI) के B चैनलों की संख्या देश के आधार पर बदलता रहता है: उत्तर अमेरिका और जापान में इसकी संख्या 23B+1D है जिसका कुल बिट दर 1.544 Mbit/s (T1) है; यूरोप, भारत और ऑस्ट्रेलिया में इसकी संख्या 30B+1D है जिसका कुल बिट दर 2.048 Mbit/s (E1) है. ब्रॉडबैंड एकीकृत सेवा डिजिटल नेटवर्क (बीआइएसडीएन (BISDN)), आइएसडीएन (ISDN) का एक दूसरा कार्यान्वयन है और यह एक ही समय में विभिन्न प्रकार की सेवाओं का प्रबंध करने में सक्षम है. इसे मुख्य रूप से नेटवर्क बैकबोन के भीतर प्रयोग किया जाता है और यह एटीएम (ATM) को नियोजित करता है.

एक अन्य वैकल्पिक आइएसडीएन (ISDN) विन्यास का प्रयोग किया जा सकता है, जिसमें एक आइएसडीएन बीआरआई (ISDN BRI) लाइन के B चैनल, 128 kbit/s की दर से एक कुल द्वैध बैंडविड्थ प्रदान करने के लिए बाध्य होता है. यह उस समय आवाज़ कॉल के लिए लाइन के प्रयोग में बाधा डालता है जिस समय इंटरनेट कनेक्शन प्रयोग में हो. कई बीआरआई (BRI) के B चैनलों को बाध्य किया जा सकता है जिसके एक व्यापक प्रयोग के रूप में 384K वीडियोकॉन्फ्रेंसिंग चैनल का प्रयोग किया जा सकता है.

आठ-शून्य प्रतिस्थापन युक्त द्विध्रुवी का कूटलेखन तकनीक प्रयोग करके, कॉल डाटा को कॉल व्यवस्था और प्रबंधन के लिए प्रयुक्त संकेतन (D) चैनलों के साथ डाटा (B) चैनलों पर संचरित किया जाता है. एक बार एक कॉल की स्थापना हो जाने पर, अंतिम पक्षों के बीच एक सामान्य 64 kbit/s तुल्यकालिक द्विदिश डाटा चैनल (जिन्हें वास्तव में दो एकसंकेतित चैनल, प्रत्येक दिशा में एक, के रूप में कार्यान्वित किया जाता हैं) बन जाता है जो कॉल के समाप्त होने तक बना रहता है. एक ही या अलग-अलग छोर पर उतने ही कॉल हो सकते हैं जितने धारक चैनल होते हैं. धारक चैनलों को B चैनल बाध्यता नामक एक प्रक्रिया के माध्यम से, या बहु-लिंक PPP "बंधन" के प्रयोग के माध्यम से या एक पीआरआई (PRI) पर H0, H11, या H12 चैनल का प्रयोग करके एकल, उच्चतर बैंडविड्थ वाले चैनलों के रूप में विचार किए जा सकने वाले बहुसंकेतित चैनल बनाया जा सकता है.

D चैनल को X.25 डाटा पैकेटों को भेजने और प्राप्त करने के लिए, और X.25 पैकेट नेटवर्क से कनेक्शन करने के लिए भी प्रयोग किया जा सकता है, इसे X.31 में निर्दिष्ट किया जाता है. व्यवहार में, X.31 को ही केवल व्यावसायिक तौर पर ब्रिटेन, फ्रांस और जापान में कार्यान्वित किया जाता था.

संदर्भ बिन्दु[संपादित करें]

संदर्भ बिन्दुओं के एक समूह को टेल्को और अंतिम उपयोगकर्ता के आइएसडीएन (ISDN) उपकरण के बीच के कुछ बिन्दुओं को संदर्भित करने के लिए आइएसडीएन (ISDN) मानक में परिभाषित किया जाता है.

  • R - एक गैर-आइएसडीएन (ISDN) उपकरण और एक टर्मिनल अनुकूलक (टीए (TA)) के बीच के बिंदु को परिभाषित करता है जिसे ऐसे किसी उपकरण को और से रूपांतरण की सुविधा प्रदान करता है
  • S - आइएसडीएन (ISDN) उपकरण (या टीए (TA)) और एक नेटवर्क टर्मिनेशन टाइप 2 (एनटी-2 (NT-2)) उपकरण के बीच के बिंदु को परिभाषित करता है
  • T - एनटी-2 (NT-2) और एनटी-1 (NT-1) उपकरणों1 के बीच के बिंदु को परिभाषित करता है.

1 ज्यादातर एनटी-1 (NT-1) उपकरण एनटी-2 (NT-2) के कार्यों का भी प्रदर्शन कर सकते हैं, और इसलिए S और T सन्दर्भ बिन्दुओं का आम तौर पर S/T सन्दर्भ बिंदु में पतन हो जाता है.
² उत्तर अमेरिका के अन्दर, एनटी-1 (NT-1) उपकरण को ग्राहक परिसर उपकरण (सीपीआई (CPE)) माना जाता है और ग्राहकों द्वारा इनका अनुरक्षण किया जाना चाहिए, इस प्रकार, U अंतराफलक ग्राहक को प्रदान किया जाता है. अन्य स्थानों में, एनटी-1 (NT-1) उपकरणों का अनुरक्षण टेल्को द्वारा किया जाता है, और S/T अंतराफलक ग्राहक को प्रदान किया जाता है. भारत में, सेवा प्रदाता U अंतराफलक प्रदान करते हैं और सेवा प्रदाता द्वारा सेवा की पेशकश के भाग के रूप में एक एनटी-1 (NT-1) की आपूर्ति की जा सकती है.

संचार के प्रकार[संपादित करें]

64 kbit/s चैनलों पर स्थानांतरण की क्षमता रखने वाले डाटा के प्रकारों में पल्स-कोड संशोधित आवाज़ कॉल होते हैं जो पारंपरिक आवाज़ पीएसटीएन (PSTN) में एक्सेस की सुविधा प्रदान करते हैं. इस सूचना को कॉल व्यवस्था के समय में नेटवर्क और उपयोगकर्ता के अंतिम-बिंदु के बीच गुजारा जा सकता है. उत्तर अमेरिका में, आइएसडीएन (ISDN) को अब अधिकतर एनालॉग कनेक्शनों के विकल्प के रूप में सबसे ज्यादा आम तौर पर इंटरनेट एक्सेस के लिए प्रयोग किया जाता है. आइएसडीएन (ISDN) पर वितरित किए जाने वाले परिकल्पित सेवाओं में से कुछ को अब इसके बजाय इंटरनेट पर वितरित किया जाता है. यूरोप में, और विशेष रूप से जर्मनी में, आइएसडीएन (ISDN) का कुछ या सुविधाराहित सुविधाओं वाले एक पीओटीएस (POTS) फोन के खिलाफ सुविधाओं वाले एक फोन के रूप में सफलतापूर्वक विपणन हुआ है. इस बीच, जो-जो सुविधाएं पहले आइएसडीएन (ISDN) (जैसे - तीन तरफ़ा कॉल, कॉल अग्रेषण, कॉलर आईडी (ID), आदि) के साथ उपलब्ध थी, वे अब आम तौर पर साधारण एनालॉग फ़ोनों के लिए भी उपलब्ध है जिससे आइएसडीएन (ISDN) के इस लाभ पर ध्यान नहीं दिया जाता है. आइएसडीएन (ISDN) का एक अन्य लाभ एकाधिक युगपत कॉल (एक कॉल प्रति B चैनल), जैसे - बड़े परिवारों के लिए, करने की संभावना थी, लेकिन मोबाइल टेलीफोनी की लोकप्रियता में वृद्धि होने और इसकी कीमतों के घटने से यह अब कम दिलचस्प बन गया है जिससे आइएसडीएन (ISDN) निजी ग्राहक के लिए नीरस बन गया है. हालांकि, आइएसडीएन (ISDN) आमतौर पर पीओटीएस (POTS) से ज्यादा विश्वसनीय है, और पीओटीएस (POTS) की तुलना में कॉल व्यवस्था समय काफी तेज़ है, और आइएसडीएन (ISDN) पर किए जाने वाले आईपी (IP) कनेक्शन का राउंड ट्रिप समय 56k या V.34/V.92 मॉडेम पर किए जाने वाले 120–180ms (दोनों को अन्य रूप से अप्रयुक्त लाइनों के साथ मापा गया है) की दर वाले कनेक्शन के खिलाफ आम तौर पर 35ms ही होता है, जो आइएसडीएन (ISDN) को दूरस्थ नियमित यात्रियों के लिए अधिक विश्वसनीय और अधिक कुशल बना देता है.

जहां एक एनालॉग कनेक्शन के लिए एक मॉडेम की आवश्यकता होती है, वहीँ एक आइएसडीएन (ISDN) कनेक्शन के लिए एक टर्मिनल अनुकूलक (टीए (TA)) की आवश्यकता होती है. एक आइएसडीएन (ISDN) टर्मिनल अनुकूलक के प्रकार्य को अक्सर एक S/T अंतराफलक के साथ एक पीसी (PC) कार्ड के रूप में प्रदान किया जाता है, और एकल-चिप समाधान मौजूद लगते हैं, जिसे संयुक्त आइएसडीएन (ISDN)- और एडीएसएल (ADSL)-अनुमार्गकों की बहुलता माना जाता है.

आइएसडीएन (ISDN) को आमतौर पर रेडियो प्रसारण में प्रयोग किया जाता है. चूंकि आइएसडीएन (ISDN) एक उच्च गुणवत्ता वाले कनेक्शन की सुविधा प्रदान करता है, इसलिए यह रेडियो में संचरण के लिए अच्छी गुणवत्ता वाले ऑडियो के वितरण में सहायता प्रदान करता है. अधिकांश रेडियो स्टूडियो अन्य स्टूडियो या मानक फोन लाइनों के साथ संचार के मुख्य साधन के रूप में आइएसडीएन (ISDN) लाइनों से लैस होते हैं. ओम्निया (लोकप्रिय ज़ेफायर कोडेक) जैसी और अन्य कंपनियों द्वारा बनाए गए उपकरणों को नियमित रूप से रेडियो प्रसारकों द्वारा प्रयोग किया जाता है. किसी दूसरे निर्माता द्वारा बनाए गए एक दूसरे उपकरण के साथ "बात" करने के लिए कभी-कभी एक डिपस्विच व्यवस्था को एक कोडेक पर अवश्य परिवर्तित किया जाना चाहिए.

सैम्पल कॉल[संपादित करें]

निम्नलिखित एक प्राथमिक दर (पीआरआई (PRI)) आइएसडीएन (ISDN) कॉल का एक उदाहरण हैं जिसमें Q.921/एलएपीडी (LAPD) और Q.931/नेटवर्क के अन्तःमिश्रित (अर्थात् बिलकुल वही जिसकी D-चैनल पर अदला-बदली की गई थी) सन्देश को दर्शाया गया है. कॉल स्विच से उत्पन्न हो रहा है जहां निशान लिया गया था और उसके बाद यह किसी अन्य स्विच, शायद एक अंतिम-कार्यालय एलईसी (LEC) , की तरफ चला जाता है, जो कॉल को समाप्त कर देता है.

पहली लाइन का प्रारूप


  1. भावी प्रवृत्तियां आर. आरोन, आर. वाइन्ड्रम, एटी एण्ड टी (AT&T) बेल लेबोरेटरीज़, आईईईई (IEEE) कम्युनिकेशंस मैगज़ीन, मार्च 1986, खंड 24 #3, pp 38-43. 2007-09-02 को लिया गया.
  2. कम्प्यूटिंग जापान मैगज़ीन, सितम्बर/अक्टूबर 1995, लेख: आइएसडीएन (ISDN): एक समस्या की तलाश में एक समाधान , लेखा का प्रत्यक्ष URL: http://www.japaninc.com/cpj/magazine/issues/1995/sep95/09isdn.html
  3. बुक: द इरविन हैन्डबुक ऑफ़ टेलीकम्युनिकेशंस, जेम्स हैरी ग्रीन द्वारा, संस्करण: 5, इलस्ट्रेटेड, मक-ग्रॉ-हिल प्रोफेशनल द्वारा प्रकाशित, ISBN 0-07-145222-2, ISBN 978-0-07-145222-9, 770 पृष्ठ, गूगल बुक्स में द्रष्टव्य प्रत्यक्ष उद्धरण:http://books.google.com/books?id=L1iJaXDV89gC&pg=PA262&lpg=PA262&dq=%22Innovations+Subscribers+Don%27t+Need%22&source=bl&ots=0nDvQodRaP&sig=TDUn6v4soz3d3kh_gM9hqXJRfls&hl=en&ei=c7MoSovhJJXIM9Gqmd8J&sa=X&oi=book_result&ct=result&resnum=1
  4. मेडलिन बोडिन और कीथ डावसन की, कॉल सेंटर शब्दकोश: कॉल सेंटर और ग्राहक सहायता प्रौद्योगिकी समाधान की परिपूर्ण मार्गदर्शिका, संस्करण: 3, इलस्ट्रेटेड, फोकल प्रेस द्वारा प्रकाशित, 2002, ISBN 1-57820-095-4, ISBN 978-1-57820-095-5, 227 पृष्ठ, गूगल बुक्स में द्रष्टव्य प्रत्यक्ष उद्धरण:http://books.google.com/books?id=CTXhqkFDQKQC&pg=PA101&lpg=PA101&dq=ISDN+%22it+still+does+nothing%22+computer+dictionary&source=bl&ots=P6kxGpkvmC&sig=H8qkKjKaOiUaEbaV2_8Xoez9LH0&hl=en&ei=tbUoSrT-EpGsMonG_d8J&sa=X&oi=book_result&ct=result&resnum=2 (पृष्ठ की तह तक स्क्रॉल करें)
  5. ब्रॉडबैंड इंटरनेट एक्सेस लेख से उद्धृत: यद्यपि ब्रॉडबैंड की परिभाषा में विभिन्न न्यूनतम बैंडविड्थों का प्रयोग किया जाता है, जिसकी सीमा 64 kbit/s से लेकर 1.0 Mbit/s तक होती है, वर्ष 2006 की ओईसीडी (OECD) की रिपोर्ट[1] ब्रॉडबैंड को 256 kbit/s के बराबर या उससे तेज़ डाउनलोड डाटा स्थानान्तरण दरों वाले ब्रॉडबैंड के रूप में परिभाषित करने के प्रति प्रतीकात्मक है, जबकि यूनाइटेड स्टेट्स एफसीसी (FCC), वर्ष 2008 के हिसाब से, ब्रॉडबैंड को 768 kbit/s से कुछ ऊपर के रूप में परिभाषित करता है.[2] बाज़ार-स्थल द्वारा तेज़ सेवाओं के प्रदान के कारण ब्रॉडबैंड के परिभाषा की सीमा को बढ़ाना ही आज की प्रवृत्ति है.[3] उद्धरणों के लिए लेख का सन्दर्भ देखें.
  6. सेंचुरी-टेल की इंटरनेट एक्सेस सेवा की पेशकश का उद्धरण: आप आइएसडीएन (ISDN) लाइनों (बीआरआई (BRI) या पीआरआई (PRI)), समर्पित परिपथों या विशेष सेवा परिपथों पर इंटरनेट सेवा प्राप्त नहीं कर सकते हैं. http://www.centurytel.com/Pages/Disclaimers/internetDisclaimer.jsp
  7. Studie des BMBF: ISDN-Verbreitung http://www.bmbf.de/pub/sdi-19-07.pdf

बाहरी लिंक[संपादित करें]

साँचा:Internet Access