रेडियो प्रसारण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
ध्वनि प्रसारण का योजनामूलक आरेख

रेडियो तरंगों के माध्यम से ध्वनि को किसी स्थान से चारों ओर प्रसारित करना (भेजना) रेडियो प्रसारण (Radio broadcasting) कहलाता है। भूमि पर स्थित स्टेशनों से प्रसारण करने के लिए भूमि पर ऊँचे ट्रान्समिटर लगाए जाते हैं। किसी कृत्रिम उपग्रह से भी रेडियो प्रसारण किया जा सकता है। प्रसरित रेडियो तरंगों को प्राप्त करके उनको सुनने के लिए श्रोता के पास एक रेडियो संग्राही (radio receiver या radio) होना आवश्यक है।

रेडियो प्रसारण के लिए ध्वनि संकेतों को उच्च आवृत्ति के रेडियो संकेतों से मॉडुलेट करना पड़ता है। ऐसा करने से अनेक लाभ हैं। मॉडुलेशन मुख्यतः दो प्रकार का होता है, आयाम का मॉडुलेशन (amplitude modulation या AM) और आवृत्ति मॉडुलेशन (frequency modulation या FM)। नए रेडियो स्टेशन कुछ ने प्रकार के प्रसारणों का उपयोग करते है, जैसे डीएबी (digital audio broadcasting / DAB ), एच डी रेडियो , डीआरएम (Digital Radio Mondiale) आदि। टेलीविजन प्रसारण भी रेडियो तरंगों के द्वारा ही किया जाता है किन्तु यह प्रaयः एक अलग सेवा है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]