अस्मिता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अस्मिता दिल्ली स्थित रंगमंच कर्मियों की एक नाट्य संस्था (थियेटर ग्रुप) है। अस्मिता नाट्य संस्था ने नुक्कड़ नाटकॉ के साथ- साथ दो दशकों में 60 से अधिक मंच नाटक किये है। संस्था सामाजिक-राजनीतिक दृष्टि से प्रासंगिक व समकालीन मुद्दों पर नाटक करने के लिए प्रतिबद्ध है। इन दिनो अरविन्द गौड़ अस्मिता थियेटर ग्रुप के निदेशक के रूप मे कार्यरत है।

इतिहास[संपादित करें]

देश में अग्रणी हिंदी थिएटर समूह अस्मिता की स्थापना 1993 में हूई। युवाओ को रंगमंच मे प्रशिक्षित करना और समकालीन मुद्दों पर दर्शकों को जागरूक बनाना इस नाट्य संस्था की स्थापना का उद्देश्य है। पिछले 15 वर्षों में अस्मिता ने रंगमंच कार्यशालाओं का विभिन्न संस्थानों, विश्वविद्यालयों और स्कूलॉ मे आयोजन किया है। जिनमे- इंडिया हैबिटेट सेंटर, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, लोक कला मंच, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी, दिल्ली),अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, मदर इंटरनेशनल स्कूल, दि प स (DPS) स्कूल, सहयाद्रि स्कूल (पुणे), मदर इंटरनेशनल स्कूल (SPA), गार्गी कालेज, हिंदू कालेज, लेडी श्री राम कालेज, कमला नेहरू कालेज, अदिति कालेज, किरोडी मल कालेज और आई पी कालेज आदि प्रमुख है।

अस्मिता नाट्य संस्था ने भारत के प्रमुख थियेटर महोत्सवो में प्रदर्शन किया है। नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (NSD) महोत्सव (भारत रंग महोत्सव),संगीत नाटक अकादमी, साहित्य कला परिषद, दर्पणा अकादमी ऑफ आर्टस् (अहमदाबाद), नान्दिकार (कोलकाता), विवेचेना थिएटर महोत्सव (जबलपुर), ओल्ड वल्ड् थिएटर महोत्सव, टाइम्स महोत्सव, गजानन माधव 'मुक्तिबोध' नाट्य महोत्सव, वर्ल्ड सोशल फोरम और नेहरू सेंटर महोत्सव (मुम्बई) मे भाग लिया है।

अस्मिता के प्रमुख नाटक[संपादित करें]

गिरीश कर्नाड का तुगलक, भीष्म साहनी का हानूश, स्वदेश दीपक का कोर्ट मार्शल, महेश दत्ताणी का फाइनल सोलुसन्स, विजय तेंडुलकर का घासिराम कोतवाल,उदय प्रकाश की कहानी पर नाटक- वॉरेन हेस्टिंग्स का सान्ड्, भीष्म साहनी के नाटक माधवी पर राशी बनी के साथ एकल, हर्ष मन्दर की किताब पर आधारित अनसुनी (पटकथा- मल्लिका साराभाई),धर्मवीर भारती का अंधा युग, मुंशी प्रेमचंद की कहानी पर आधारित मोटॅ राम का सत्याग्रह, रूपान्तर- ह्बीब तनवीर और सफ़दर हाशमी, बेर्तोल्त ब्रेस्त् का कोकेशियान चाक सर्किल, हरिशंकर परसाई का माता दीन चान्द पर,गोविंद पुरुषोत्तम देशपांडे का अन्तिम दिवस, नाग बोडस का अम्मा तुझे सलाम,गिरीश कर्नाड का रक्त् कल्याण (Taledanda), राम गोपाल बजाज द्वारा हिन्दी अनुवाद, अशोक लाल का एक मामूली आदमी, दूधनाथ सिंह का यम-गाथा, अल्बर्ट कामस का कलिगुला, समुअल बेकेट का वॅटग फोर गोदो (प्रतीक्षा Godot के लिए), अनुवाद -कृष्ण बलदेव वैद, भारतेन्दु हरिश्चंद्र का अंधेर नगरी, राजेश कुमार का मी गांधी बोल्तो (गांधी ने क्हा था), हरीश नवल का पीली छत पर काला निशान, गान्धारी- ऐशवरया निधि के साथ एकल और भीष्म साहनी का कबीरा खड़ा बाजार मे आदि।

प्रमुख अभिनेता[संपादित करें]

कुछ प्रमुख सिनेमा व रंगमंच अभिनेताओं - कंगना राणावत (फिल्म- शाकालाका बूम बूम (2007 फ़िल्म), गैंगस्टर, लाइफ़ इन अ... मेट्रो (2007 फ़िल्म), फैशन), दीपक डोबरियाल, शिल्पा शुक्ला , पीयूष मिश्र , लुशिन दुबे, बबल्रस सबरवाल, ऐशवरया निधि , तिलोत्त्त्त्मा शोम, राशि बनि, रुथ शेअर्द्,मनु ऋषि चड्ढा , शिल्पी मारवाह, सूरज सिंह, सीमा आज़मी, सुसान बरार, चन्दन आनंद, जैमिनि कुमार श्रीवास्तव, शक्ति आनंद, अर्चना जोशी, सपना खटाना, अमिता वालिया, हाशिम हेदर, दीपक ओचानी, अपर्णा सिन्ह्, मोह्म्मद अली, सन्दीप श्रीवास्तव, राजेश बगोत्रा, मनवीर चौधरी अभिनेताओं ने अस्मिता नाट्य संस्था के साथ काम किया है। संगीत निर्देशक के रूप में डॉ॰ संगीता गौड़ भी अस्मिता थिएटर ग्रुप के साथ काम करती है, उन्होने कई बहुप्रशंसित नाटकों में संगीत दिया है।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

१-अस्मिता नाट्य संस्था के विषय मे जानकारी।

२-नाट्य संस्था के प्रमुख अभिनेताओं के बारे मे।

३-नाट्य संस्था के निदेशक का साक्षात्कार।

४-अस्मिता नाट्य संस्था के नाटको के विडियो यू-टुयुब पर।

5-अस्मिता नाट्य संस्था वेबसाइट।