इस्लाम की आलोचना

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

इस्लाम के जन्म से ही उसकी आलोचना होती रही है। सबसे पहले सन् १००० ई में भी पहले ईसाइयों के द्वारा इसकी आलोचना शुरू हुई। वे इस्लाम को इसाईयत का एक परिवर्तित रूप या नया सम्प्रदाय (heresy) के रूप में मानते थे।[1] बाद में मुस्लिम-विश्व से भी आलोचना के स्वर निकलने लगे और साथ ही साथ यहूदी लेखक एवं चर्च से जुड़े इसाई (ecclesiastical Christians) इसकी आलोचना करते पाये गये।[2][3][4] आधुनिक काल में हिन्दू, सिख, जैन, नास्तिक तथा इस्लाम के अन्दर और बाहर के लोग विविध मुद्दों को लेकर इसकी आलोचना करते हैं।

आलोचना के मुख्य बिन्दु

इस्लाम की आचोलना अनेकानेक विषयों पर होती है। कुछ विषय हैं -

  • इस्लाम द्वारा आलोचना को सहन न करना,
  • इस्लाम में काफिरों के प्रति दुर्व्यवहार की व्यवस्था,
  • इस्लाम के नये सम्प्रदायों के प्रति नीति
  • इस्लाम के पैगम्बर मुहम्मद साहब के जीवन के अनैतिक पक्षों की भी बहुत आलोचना होती रहती है। यह अनैतिकता उनके नीजी व

सार्वजनिक दोनो जीवन में देखने को मिलती है।[4][5]

  • मुसलमानों की धार्मिक पुस्तक कुरान की विश्वसनीयता एवं नैतिकता को लेकर भी सवाल खड़े किये जाते हैं।[6][7]
  • आधुनिक इस्लामी राष्ट्रों में मानव अधिकारों के हनन को लेकर भी आलोचबा होती है।
  • इस्लाम में महिलाओं की स्थिति पर भी इस्लाम आलोचना का शिकार होता है।[8][9].
  • हाल के दिनों में इस बात के लिये इस्लाम की आलोचना हुई है कि मुसलमान पश्चिमी देशों के समाज में घुल-मिल पाने में अक्षम रहे हैं।[10]
  • इस्लाम को आतंकवादी मजहब कहा जाता है और सांख्यिकीय आधार पर इसके अनुयायी अधिक संख्या में आतंकवादी एवं हिंसक कार्यवाहियों में लिप्त पाये गये हैं।
  • कहा जाता है कि मुसलमान जब अल्पमत में होते हैं तो अशान्त (turbulent) होते हैं तथा बहुमत में होने पर असहनशील (intolerant).

सन्दर्भ

  1. ^ De Haeresibus by John of Damascus. See Migne. Patrologia Graeca, vol. 94, 1864, cols 763-73. An English translation by the Reverend John W Voorhis appeared in THE MOSLEM WORLD for October 1954, pp. 392–398.
  2. ^ a b Warraq, Ibn (2003). Leaving Islam: Apostates Speak Out. Prometheus Books. p. 67. ISBN 1-59102-068-9.
  3. ^ a b Ibn Kammuna, Examination of the Three Faiths, trans. Moshe Perlmann (Berkeley and Los Angeles, 1971), pp. 148–49
  4. ^ a b c d Mohammed and Mohammedanism, by Gabriel Oussani, Catholic Encyclopedia, retrieved April 16, 2006
  5. ^ a b Ibn Warraq, The Quest for Historical Muhammad (Amherst, Mass.:Prometheus, 2000), 103.
  6. ^ a b c Bible in Mohammedian Literature., by Kaufmann Kohler Duncan B. McDonald, Jewish Encyclopedia, retrieved April 22, 2006
  7. ^ Robert Spencer, "Islam Unveiled", pp. 22, 63, 2003, Encounter Books, ISBN 1-893554-77-5
  8. ^ a b http://www.freedomhouse.org/template.cfm?page=22&year=2005&country=6825. See also Timothy Garton Ash (2006-10-05). "Islam in Europe". The New York Review of Books. http://www.nybooks.com/articles/19371.
  9. ^ a b Timothy Garton Ash (2006-10-05). "Islam in Europe". The New York Review of Books. http://www.nybooks.com/articles/19371.
  10. ^ a b Tariq Modood (2006-04-06). Multiculturalism, Muslims and Citizenship: A European Approach (1st ed.). Routledge. p. 29. ISBN 978-0-415-35515-5.