सच्चियाय माता मन्दिर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सच्चियाय माता मन्दिर
Sachiya-mata-gate.jpg
सच्चियाय माता का मंदिर
धर्म संबंधी जानकारी
सम्बद्धताहिंदू धर्म
अवस्थिति जानकारी
अवस्थितिओसियां ,जोधपुर, राजस्थान
वास्तु विवरण
प्रकारमंदिर

सच्चियाय माता (सचिया माता) के नाम से भी जानी जाती है इनका मंदिर जोधपुर से 63 किमी दूर ओसियां में स्थित है। यह मंदिर जोधपुर जिले का सबसे बड़ा मंदिर है इसका निर्माण 9वीं या 10वीं सदी में उपत्पलदेव ने करवाया था। सच्चियाय माता की पूजा ओसवाल, जैन, परमार, पंवार, कुमावत , राजपूत , चारण,ब्राह्मण,माहेश्वरी,सोनार,विश्नोई,मेघवाल,नाई,माली,रावणा राजपूत,दर्जी, कर्णावट, पारिक इत्यादि जातियों के लोग पूजते हैं। [1][2]

हिन्दु पौराणिक इतिहास[संपादित करें]

सच्चियाय माता का पूर्व का नाम साची था तथा ये असुर राजा पौलोमा की बेटी थी। राजा पौलोमा वृत्र के सेना प्रमुख थे। वृत्र साची से विवाह करना चाहती थी। परंतु साची उससे विवाह नहीं करना चाहती थी इस कारण पौलोमा ने वृत्र का कार्य छोड़ दिया।

पौलोमा दधीचि से विवाह कराना चाहता था। इसके पश्चात् दधीचि और वृत्र के बीच घमासान युद्ध हुआ , युद्ध में यह प्रस्ताव रखा गया कि जो युद्ध जीतेगा वह साची से विवाह करेगा। आखिर में वृत्र ने युद्ध जीता और विवाह किया।

जैन पौराणिक इतिहास[संपादित करें]

एक पत्थर शिलालेख जो ओसियां में मिला था वह कुछ और कहानी बतलाती हैं। जैन धर्म के एक आचार्य श्रीमद् विजय रत्नाप्रभासुरीजी ने ओसियां की यात्रा की थी इनके अनुसार ओसियां का पूर्व का नाम उपकेशपुर था और यहाँ चामुण्डा माता का एक मंदिर भी था। इनका मानना था कि चामुण्डा माँको लोग बली चढाते थे। जैन साधु विजय रत्नाप्रभासुरीजी इस प्रथा पर प्रतिबंध लगाने का प्रयास कर रहे थे। इनका मानना था कि चामुण्डा माता का दूसरा नाम (सच्चियाय माता) ही था।

वर्तमान[संपादित करें]

आज वर्तमान समय में सच्चियाय माता के मंदिर में मिठाई, नारियल, कुमकुम, केसर, धुप, चंदन, लापसी इत्यादि का छड़ावा किया जाता है।[3] बलि का कहीं ज़िक्र भी नहीं होता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://www.shriosiyamataji.org/
  2. http://www.jodhpurindia.net/ossian-city-temples/sachiya-mata-temple.html
  3. Travel, Vibrant4. "ओसियां माता मंदिर, सच्चियाय माता मंदिर, जोधपुर (Shri Osiya Mataji Temple, Jodhpur)". Vibrant4Travel. Vibrant4Travel. अभिगमन तिथि 2 अगस्त 2016.

ओसियाजी,राजु शर्मा पर्यटक गाईड सदस्य श्री सच्चियाय माताजी ट्रस्ट ओसिया