परमार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

परमार (पंवार) एक राजपूत[1] गोत्र है जो अपने को अग्निवंशी क्षत्रिय मानते हैं। एक गड़रिया जाति भी परमार उपनाम लगाती है और स्वयं को राजपूत वंशज मानती है। और यह एक जाट[2] [3] गोत्र भी है। 'परमार' के साथ ही इसके अन्य रूप भी हैं- प्रमार, पवार, पोवार, पंवार, और पोंवार आदि।

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Anthropometric Measurements of Maharashtra (iravati karve(Mrs).Vishnu Mahadev Dandekar) S.M.katre ,1951.anthropometry.p.37
  2. Nijjar, Bakhshish Singh (2008). Origins and History of Jats and Other Allied Nomadic Tribes of India: 900 B.C.-1947 A.D. (अंग्रेज़ी में). Atlantic Publishers & Dist. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-269-0908-7.
  3. भीम सिंह दहिया (1980). Jats the Ancient Rulers (A clan study) [प्राचीन जाट शासक (एक गोत्र अध्ययन)] (अंग्रेज़ी में). आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1895603026.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]