मुन्नार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
मुन्नार
—  कस्बा  —
मुनार में चाय के उद्यान और पर्वत
मुनार में चाय के उद्यान और पर्वत
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य केरल
ज़िला  • इड्डुक्कि
जनसंख्या
महानगर

• 68 (2001 तक )
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)
557 कि.मी² (215 वर्ग मील)[1]
• 1,700 मीटर (5,577 फी॰)
आधिकारिक जालस्थल: पर्यटन idukki.nic.in पर्यटन

Erioll world.svgनिर्देशांक: 10°06′00″N 77°04′00″E / 10.1°N 77.0666667°E / 10.1; 77.0666667 मुन्नार (मलयालम: മൂന്നാര്‍) केरल का एक प्रमुख पर्वतीय स्थल है। यह इड्डुक्की जिला में आता है। प्रतिवर्ष हजारों पर्यटक यहाँ आते हैं। जिंदगी की भागदौड़ और प्रदूषण से दूर यह जगह लोगों को अपनी ओर खींचता है। 12000 हेक्टेयर में फैले चाय के खूबसूरत बागान यहां की खासियत है। दक्षिण भारत की अधिकतर जायकेदार चाय इन्हीं बागानों से आती हैं। चाय के उत्पादन के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए चाय संग्रहालय है जहां इससे संबधित सभी तस्वीरें और सूचनाएं मिलती हैं। इसके अतिरिक्त यहाँ वन्य जीवन को करीब से देखा जा सकता है। अर्नाकुलम राष्ट्रीय उद्यान में दुर्लभ नीलगिरी बकरों को देखा जा सकता है।

प्रमुख आकर्षण[संपादित करें]

मट्टुपेट्टी[संपादित करें]

मट्टुपेट्टी समुद्र तल से 1700 मी. ऊंचाई पर स्थित है। यहां पर बनी मट्टुपेट्टी झील और बांध पर पर्यटक पिकनिक मनाने आते हैं। यहां से चाय के बागानों का मनमोहक दृश्य नजर आता हैं। यहां पर पर्यटक बोटिंग का भी आनंद ले सकते हैं। मट्टुपेट्टी अपने उच्च विशिष्टीकृत डेयरी फार्म के लिए प्रसिद्ध है। मट्टुपेट्टी के अंदर व आसपास के शोला वन ट्रैकिंग करने की सुविधा उपलब्ध कराता हैं। ये जंगल विभिन्न प्रकार के पक्षियों का घर भी है। यहाँ एक छोटी सी नदी और पानी का सोता भी है जो यहां के आकर्षण को और भी बढ़ा देता है। समय: सुबह 9-11 बजे तक, दोपहर 2-3.30 बजे तक

इरावीकुलम राष्ट्रीय उद्यान[संपादित करें]

यह उद्यान मुन्नार से 15 किमी. दूर है। यह स्थान देवीकुलम तालुक में पड़ता है। उद्यान के दक्षिणी क्षेत्र में अनामुडी चोटी है। मूल रूप से इस पार्क का निर्माण नीलगिरी जंगली बकरों की रक्षा करने के लिए किया गया था। 1975 में इसे अभ्यारण्य घोषित किया गया था। वनस्पति और जंतु के पर्यावरण जगत में इसके महत्व को देखते हुए 1978 में इसे राष्ट्रीय उद्यान घोषित कर दिया गया। 97 वर्ग किमी में फैला यह उद्यान प्राकृतिक सुंदरता के लिए मशहूर है। यहां दुर्लभ नीलगिरी बकरों को देखा जा सकता है। साथ ही यहां ट्रैकिंग की भी सुविधा उपलब्धह है।

चाय संग्रहालय और टी प्रोसेसिंग[संपादित करें]

यह संग्रहालय टाटा टी द्वारा संचालित है। इस संग्रहालय में 1880 में मुन्नार में चाय उत्पादन की शुरुआत से जुड़ी निशानियां रखी गई हैं। यहाँ कई ऐतिहासिक तस्वीरें भी लगी हुई हैं। इसके पास ही स्थित टी प्रोसेसिंग ईकाई में चाय बनने की पूरी प्रक्रिया को करीब से देखा व समझा जा सकता है। समय: सुबह10-दोपहर 4बजे तक, सोमवार को बंद, दूरभाष: 04865-230561-65, एक्सटेंशन: 3224

अथुकड फॉल्स[संपादित करें]

गहरी घाटी में स्थित यह झरना मुन्नार से 8 किमी. दूर कोच्चि रोड पर स्थित है। अथुकड फॉल्य मुन्नार का एक प्रमुख पर्यटक स्थल है। मानसून के दिनों में (जुलाई-अगस्त) इसकी सुंदरता और भी बढ़ जाती है। इस झरने के अलावा भी इस रास्ते में दो और झरने भी हैं-चीयापरा फॉल्स और वलार फॉल्स।

निकटवर्ती दर्शनीय स्थल[संपादित करें]

चिन्नार वन्यजीव अभ्यारण्य[संपादित करें]

(60 किमी.) मरयूर से 20 किमी आगे चिन्नार वन्यजीव अभ्यारण्य केरल-तमिलनाडु बॉर्डर पर स्थित है। राजमला-उदुमलपेट रोड इस अभ्यारण्य के बीच से होकर जाती है जहां से पर्यटक हाथी, जंगली सुअर, धब्बेदार हिरन, सांभर, गौर और मोर को देख सकते हैं। अगर आप भाग्यशाली रहे तो आपको मंजमपट्टी का सफेद भैंसा दिखाई दे जाएगा। शेर और चीते भी यहां दिखाई दे जाते हैं। वन विभाग पर्यटकों के लिए ट्रैकिंग, चिन्नार सफारी और वॉटर फॉल ट्रैकिंग की सुविधा भी उपलब्ध कराता है। मरयूर से मुन्नार का रास्ता 2 घंटे का है। समय: सुबह 7 बजे-शाम 5बजे तक

कोल्लुकुमल्ले चाय बागान[संपादित करें]

(38 किमी.) यह चाय बागान भारत में सबसे ऊंचाई पर स्थित चाय बागान है। कहा जाता है कि यहां भारत की सबसे जायकेदार चाय का उत्पादन होता है। चाय के अलावा यहां की एक और खासियत यहां के खूबसूरत नजारे हैं। यहां से तमिलनाडु के मैदानी इलाकों के खूबसूरत दृश्य दिखाई देते हैं। यहां केवल जीप से ही पहुंचा जा सकता है।

Tea Garden in Munnar

अवागमन[संपादित करें]

वायु मार्ग

नजदीकी हवाई अड्डा कोचीन अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट

रेल मार्ग

मुख्य रेलवे जंक्शन एर्नाकुलम (127किमी)

सड़क मार्ग

राष्ट्रीय राजमार्ग 49 कोच्चि और मुन्नार को आपस में जोड़ता है। मुन्नार तमिलनाडु में कोयंबटूर से पोल्लची और उदुमलाईपेट्टई के रास्ते जुड़ा है। केएसआरटीसी की बसें और निजी बसें भी मुन्नार को आसपास के राज्यों से जोड़ती हैं।

खानपान[संपादित करें]

मुन्नार में खाने-पीने की अनेक छोटी दुकानें हैं जो दिखने में अधिक आकर्षक नहीं हैं लेकिन यहां सस्ता और अच्छा भोजन मिलता है। राप्सी रेस्टोरेंट और होटल अजारिका की खासियत यहां मिलने वाली चिकन और मटन बिरयानी है। शुद्ध और असली केरलाई खाने के लिए एसएन लॉज सबसे सही जगह है। एमजी रोड पर स्थित सरवन भवन का शाकाहारी भोजन बहुत मशहूर है। इसके अलावा शाकाहारी खाने के लिए आर्य भवन ओर एसएन एनेक्स भी अच्छे विकल्प हैं। अंग्रेजी खाने के शौकीनों के लिए हाई रेंज क्लब सबसे बेहतर जगह है।

चित्र दीर्घा[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. जन सम्पर्क विभाग, केरल सरकार., सांख्रिकीय आंकड़े प्राप्त:6/21/2007 Idukki

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]