भारतीय आदरसूचक शब्द

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

भारतीय आदरसूचक शब्दों से आशय भारत में व्यक्तियों के नाम में जुड़ने वाले उन शब्दों से है जो सम्बोधन को आदरसूचक बन देते हैं। ऐसे शब्द सामाजिक, वाणिज्यिक या धार्मिक सम्बन्धों में प्रयुक्त हो साते हैं। ये शब्द मूल नाम के पहले, बाद में या मूल नाम के स्थान पर प्रयुक्त होते हैं।

देशी आदरसूचक शब्द[संपादित करें]

ऐसे शब्द जो चिरकाल से भारतीय समाज में प्रचलित रहे हैं।

हिन्दू-बौद्ध आदरसूचक शब्द[संपादित करें]

पदवियाम्ं[संपादित करें]

कुछ विशेष समुदायों में प्रयुक्त आदरसूचक शब्द[संपादित करें]

व्यवसाय सम्बन्धी आदरसूचक शब्द[संपादित करें]

अन्य संस्कृतियों पर प्रभाव[संपादित करें]

Indianised kingdoms in several parts of world beyond India proper as part of the Indosphere of Sanskritized Greater India, including through historical spread of Indian culture, Bollywood, spread of Hinduism in Southeast Asia and spread of Buddhism on Silk Road. Conseuently, Indian honorifics influenced the following honorifics of other cultures and nations:

सिख आदरसूचक शब्द[संपादित करें]

मुसलमानी या विदेशी मूल के आदरसूचक शब्द[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. T.N. Madan (1982). Way of Life: King, Householder, Renouncer : Essays in Honour of Louis Dumont (1st संस्करण). Institute of Economic Growth. पृ॰ 129. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 81-208-0527-5. मूल से 31 मार्च 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 31 मार्च 2019.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]