बेरिंजिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
हिमयुग अंत होने पर बेरिंग ज़मीनी पुल धीरे-धीरे समुद्र के नीचे डूब गया
अपने चरम पर बेरिंजिया का क्षेत्र (हरे रंग की लकीर के अन्दर) काफ़ी विशाल था
हाथी-नुमा मैमथ बेरिजिंया में रहते थे और उस के ज़रिये एशिया से उत्तर अमेरिका भी पहुँचे

बेरिंग ज़मीनी पुल (Bering land bridge) या बेरिंजिया (Beringia) एक ज़मीनी पुल था जो एशिया के सुदूर पूर्वोत्तर के साइबेरिया क्षेत्र को उत्तर अमेरिका के सुदूर पश्चिमोत्तर अलास्का क्षेत्र से जोड़ता था। इस धरती के पट्टे की चौड़ाई उत्तर से दक्षिण तक लगभग १,६०० किमी (१,००० मील) थी यानि इसका क्षेत्रफल काफ़ी बड़ा था। पिछले हिमयुग के दौरान समुद्रों का बहुत सा पानी बर्फ़ के रूप में जमा हुआ होने से समुद्र-तल आज से नीचे था जिस वजह से बेरिंजिया एक ज़मीनी क्षेत्र था। हिमयुग समाप्त होने पर बहुत सी यह बर्फ़ पिघली, समुद्र-तल उठा और बेरिंजिया समुद्र के नीचे डूब गया।

जब बेरिंजिया अस्तित्व में था तो क्षेत्रीय मौसम अनुकूल होने की वजह से यहाँ बर्फ़बारी कम होती थी और वातावरण मध्य एशिया के स्तेपी मैदानों जैसा था। इतिहासकारों का मानना है कि उस समय कुछ मानव समूह एशिया से आकर यहाँ बस गए। वह बेरिंजिया से आगे उत्तर अमेरिका में दाख़िल नहीं हो पाए क्योंकि आगे भीमकाय हिमानियाँ (ग्लेशियर) उनका रास्ता रोके हुए थीं। इसके बाद बेरिंजिया और एशिया के बीच भी एक बर्फ़ की दीवार खड़ी होने से बेरिंजिया पर चंद हज़ार मानव लगभग ५,००० सालों तक अन्य मानवों से बिना संपर्क के हिमयुग के भयंकर प्रकोप से बचे रहे। आज से क़रीब १६,५०० वर्ष पहले हिमानियाँ पिघलने लगी और वे उत्तर अमेरिका में प्रवेश कर गए। लगभग उसी समय के आसपास बेरिंजिया भी पानी में डूबने लगा और आज से क़रीब ६,००० वर्ष पहले तक तटों के रूप वैसे हो गए जैसे कि आधुनिक युग में देखे जाते हैं।

भूगोल[संपादित करें]

बेरिंजिया लगभग ४,००० किमी लम्बा और १,६०० किमी चौड़ा था। यह आधुनिक साइबेरिया की लेना नदी से लेकर कनाडा की मैकेन्ज़ी नदी तक पहुँचता था। इसका क्षेत्र इतना बड़ा था कि कुछ भूवैज्ञानिकों के अनुसार यह एक ज़मीनी पुल कम और एक उपमहाद्वीप ज़्यादा था।[1] मैमथों के अवशेषों की हड्डियों में मौजूद कोलेजन पर अनुसंधान करके वैज्ञानिकों ने यह मत दिया है कि पश्चिमी बेरिंजिया (साइबेरिया) पूर्वी बेरिंजिया (युकोन/अलास्का) से ज़यादा शुष्क और ठंडा था, और इसलिए पूर्वी बेरिंजिया में प्राणियों और पौधों की अधिक समृद्धि और विविधता थी।[2]

बेरिंजियाई मानव[संपादित करें]

बेरिंजिया एक बड़ा क्षेत्र था और इसका अधिकतर भाग हिमानियों से मुक्त था और इसके स्तेपी जैसे क्षेत्र पर बहुत से जानवर रहते थे। इसलिए कुछ हज़ार मानव भी यहाँ रह पाए। माना जाता है कि यह ५-१७ हज़ार साल तक बेरिंजिया में रहे और दूसरे मानव समाजों से इनका कोई संपर्क नहीं था। कुछ इतिहासकारों का सोचना है कि एक ज़माने में बेरिंजियाई मानवों की पाषाणयुगीय संस्कृति पूरे बेरिंजिया में पूर्व में साइबेरिया के प्रिमोर्ये क्षेत्र से लेकर पश्चिम में अलास्का तक और दक्षिण में होक्काइदो तक फैली हुई थी।[3] बेरिंजियाइयों के कोई अवशेष नहीं मिलें हैं क्योंकि यह पूरा उपमहाद्वीप अब सागर के नीचे डूबा हुआ है। इन बेरिंजियाई लोगों का जीवन यक़ीनन कठिन था क्योंकि यह एक अत्यंत सर्द इलाक़ा था। यह एक शिकारी-फ़रमर जीवनी व्यतीत करते थे और औसतन ४० साल से भी कम उम्र तक जीते होंगे।[4] गर्मियों में बड़ी तादाद में मच्छर और अन्य कीट उन्हें परेशान करते होंगे, जैसा कि साइबेरिया में भी देखा जाता है। जब मौसम बदला और उनका इलाक़ा डूबने पर बेरिंजियाई उत्तर अमेरिका में जाने पर मजबूर हुए, तो उन्हें अमेरिका की अलग आब-ओ-हवा में नए सिरे से जीवन व्यतीत करना सीखना पड़ा होगा। २००५ में हुए एक अनुवांशिकी (जेनेटिक) अनुसंधान से संकेत मिलता है कि शायद ८० से भी कम बेरिंजियाइयों का वंश आधुनिक काल तक चल पाया है, यानि अन्य सभी किसी-न-किसी मुसीबत में पड़कर बिना आगे वंश चलाए ही ख़त्म हो गए।[5]

प्राणी जगत[संपादित करें]

बेरिंजिया पर ऊँट, मैमथ, अमेरिकी सिंह, घोड़े, हिरण, भेड़, भेड़िया और स्तेपी भैंसे जैसे जानवर रहा करते थे। उत्तर अमेरिका में हाथी (मैमथ), बालदार गैंडा और सिंह अब विलुप्त हैं लेकिन वे इसी ज़मीनी पुल के ज़रिये एशिया से वहाँ पहुँचे।[1][6] अध्ययन से यह भी ज्ञात हुआ है कि वास्तव में ऊँटों का वंश सबसे पहले उत्तर अमेरिका में शुरू हुआ था और ऊँट वहाँ से बेरिंजिया से गुज़रकर एशिया और विश्व के अन्य भागों में पहुँचे।[7] इतिहासकार अंदाज़ा लगते हैं कि बेरिंजिया में मैमथ (एक हाथी की विलुप्त जाती) जैसे भीमकाय जानवरों के बीच रहकर बेरिंजियाई मानव उनके शिकार में माहिर हो गए थे। बाद में जब यह फैलकर अलास्का और उत्तर अमेरिका के अन्य भागों में गए तो वहाँ भी उन्होंने अपनी महारत से बड़े पैमाने पर इन बड़े जानवरों का शिकार जारी रखा। उत्तर अमेरिकी महाद्वीप में मैमथ, मैस्टोडॉन और बालदार गैंडे के विलुप्त हो जाने का यह एक बड़ा कारण माना जाता है।[8]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Fodor's Alaska 2012, Fodor's, Random House Digital, Inc., 2011, ISBN 978-0-679-00955-9, ... Beringia, a vast, ice-free zone that stretched from the Mackenzie River in the Yukon to as far as the Lena River in Russia, the continents connected by the Bering Land Bridge, which was more like a subcontinent than a bridge ... home to steppe bison (like Blue Babe at the UAF Museum), mammoths, camels, a couple of different types of saber-toothed cats, and American lions ...
  2. Regional differences in bone collagen δ13C and δ15N of Pleistocene mammoths: Implications for paleoecology of the mammoth steppe, Paul Szpak, Palaeogeography, Palaeoclimatology, Palaeoecology (journal), Pages 88-96, Volume 286, Issue 1-2, 2010
  3. From the Yenisei to the Yukon: Interpreting Lithic Assemblage Variability in Late Pleistocene/Early Holocene Beringia, Ted Goebel, Ian Buvit, Texas A&M University Press, 2011, ISBN 978-1-60344-321-0, ... This period of isolation in Beringia is calculated to have lasted "at least 7-15 thousand years" ... almost all Native American haplogroup C, widely distributed in the Americas and absent from Asia, "show similar coalenscence times of approximately 13,900±2,700 years ago" ... Swan Point offers convincing evidence that it belongs to an ancient cultural system that was widespread across greater Beringia, from Hokkaido in the south, across Primorye and Siberia, and into Alaska ...
  4. The Brave New World: A History of Early America, Peter Charles Hoffer, JHU Press, 2006, ISBN 978-0-8018-8483-2, ... Their life in Beringia was grueling. We have no archaeological evidence of their presence because the subcontinent is now under water, but arctic hunter-gatherers in historical times had a life expectancy of less than forty years ...
  5. On the Number of New World Founders: A Population Genetic Portrait of the Peopling of the Americas, Jody Hey, PLoS Biology 3 (6): e193, 2005, ... The estimated effective size of the founding population for the New World is fewer than 80 individuals, approximately 1% of the effective size of the estimated ancestral Asian population ...
  6. Cold: Adventures in the World's Frozen Places, Bill Streever, Hachette Digital, Inc., 2009, ISBN 978-0-316-04291-8, ... In its abundance of wild animals and in their variety, the Arctic steppe resembled the Serengeti. Wildlife in Beringia, on the Arctic steppe, was not the same as that found south of the great ice sheets, but it was similar. Mammoths wandered in the grass with musk oxen, bison, elk, grizzly bears, and Dall sheep ...
  7. Human Ecology of Beringia, John F. Hoffecker, Scott A. Elias, Columbia University Press, 2007, ISBN 978-0-231-13060-8, ... paleontological evidence suggests that camelids (camels, llamas, alpacas, guanacos, and others) evolved in the Americas during the Tertiary, and that camels migrated west across the Bering Land Bridge into Asia ...
  8. Cumulative Effects in Wildlife Management: Impact Mitigation, Paul R. Krausman, Lisa K. Harris, pp. 67, Taylor & Francis US, 2011, ISBN 978-1-4398-0916-7, ... Beringian immigrants that populated North America beginning with present-day Alaska specialized in the harvest of large mammals, eventually leading or contributing to extirpations and extinctions of many species, including the wooly mammoth (Mammuthus primigenius), mastodons (Mammut spp.), and the wooly rhinoceros (Coelodonta antiquitatis; Martin 1967) ...