पलाणा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search


बीकानेर से १४ मील दक्षिण में इसी नाम के रेलवे स्टेशन के पास बसा हुआ यह स्थान कोयले की खान के लिए प्रसिद्ध है। यहां पर १४८२ ई० की एक देवली (स्मारक) उल्लेखनीय है, जिससे जांगल देश में प्रथम अधिकार करने वाले राठौड़ों में से राव बीका के चाचा रिणमल के पुत्र मांड़ण की मृत्यु का पता चलता है।