सूरतगढ़

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सूरतगढ़
Suratgarh
सूरतगढ़ is located in राजस्थान
सूरतगढ़
सूरतगढ़
राजस्थान में स्थिति
सूचना
प्रांतदेश: श्रीगंगानगर ज़िला
राजस्थान
 भारत
जनसंख्या (2011): 91,639
मुख्य भाषा(एँ): राजस्थानी, पंजाबी, हिन्दी, बागड़ी
निर्देशांक: 29°19′05″N 73°53′56″E / 29.318°N 73.899°E / 29.318; 73.899

सूरतगढ़ (Suratgarh) थर्मल पावर प्लांटभारत के राजस्थान राज्य के श्रीगंगानगर ज़िले में स्थित एक नगर है। यह बीकानेर से 113 किमी उत्तर-उत्तरपूर्व में बसा हुआ है।[1][2][3]

विवरण[संपादित करें]

सूरतगढ़ का प्राचिन नाम सोढल गढ़ था। जो सरस्वत्ती नदी के किनारे बसा हूआ है। यह एशिया का सबसे बडा कृषि र्फाम[4] है। यहाँ देवीदासपुर और लधेर के बीच में गुसाँई जी महाराज का विशाल मेला लगता है। माह महीने की द्वितीय (दुज) को।

सूरतगढ़ का नाम महाराजा सूरत सिंह पर रखा गया था, जिन्होंने सन् 1705 में यहाँ एक नया क़िला बनवाया। पूरा किला ईंटों का बना है, जिसमें कुछ महत्व की वस्तुएँ अब बीकानेर के किले में सुरक्षित है। इनमें हड़जोरा की पत्तियाँ, गरुड़, हाथी, राक्षस आदि की आकृतियाँ बनी है। इसी स्थान से शिव पार्वती, कृष्ण की गोवर्धन लीला तथा एक पुरुष एंव स्री की पकी हुई मिट्टी की बनी हुई मूर्तियां मिली हैं जो अब बीकानेर संग्रहालय में है।

सूरतगढ़ क़स्बा एक और रेगिस्तान से घिरा तथा दूसरी और घग्घर नदी से सिंचित अत्यंत उपजाऊ जमीन से सराबोर है। जहां एक और राजस्थान का पहला ताप विद्युत संयत्र है वहीं दूसरी और इंदिरा गांधी नहर से सिंचित उपजाऊ क्षेत्र है। लहलहाती फसल इस कसबे के चारों और हरित आभा बिखेरती है।

चित्रदीर्घा[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Lonely Planet Rajasthan, Delhi & Agra," Michael Benanav, Abigail Blasi, Lindsay Brown, Lonely Planet, 2017, ISBN 9781787012332
  2. "Berlitz Pocket Guide Rajasthan," Insight Guides, Apa Publications (UK) Limited, 2019, ISBN 9781785731990
  3. Meena, R. P. Art Culture and Heritage of Rajasthan Study Material With MCQ: Useful for RPSC RAS Prelims and Other Exams (अंग्रेज़ी में). New Era Publication.
  4. Singh, Rama Shankar (1989). Indo-Soviet Cooperation and India's Economic Development (अंग्रेज़ी में). Deep & Deep Publ. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-7100-134-7.