तोरमाण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

me|Toraman}}

तोरमाण
Tegin of the अल्कॉन हूण
Toramana portrait from coin.jpg
Portrait of Toramana.
शासनावधि493-515
पूर्ववर्तीमेहम
उत्तरवर्तीमिहिरकुल

तोरमाण भारत वर्ष पर आक्रमण करने वाले हूणों का नेता था जिसने 500ई के लगभग मालवा पर अधिकार किया था। मिहिरकुल तोरमाण का ही पुत्र था, जिसने हूण साम्राज्य का विस्तार अफ़ग़ानिस्तान तक किया। तोरमाण ने कई विजय अभियान किये थे, एक बड़े विस्तृत भू-भाग पर अपना साम्राज्य स्थापित किया था। अपनी विजयों के बाद उसने 'महाराजाधिराज' की उपाधि धारण की थी। भारत के काफ़ी बड़े क्षेत्रफल पर उसने अपनी विजय पताकाएँ फहराई थीं। उसका प्रभुत्व सम्भवत: मध्य प्रदेश , नमक की पहाड़ियों तथा मध्य भारत तक व्याप्त था। बहुत बड़ी संख्या में तोरमाण के चाँदी के सिक्के बरामद हुए हैं।

तोरमाण के सिक्के
तोरमाण का सोने का सिक्का जिसमे पीठ पर हिन्दू देवी लक्ष्मी का चित्र है(circa 490-515)

तोरमाण का सुप्रसिद्ध पुत्र मिहिरकुल अथवा 'मिहिरगुल' लगभग 502 ई. में उसका उत्तराधिकारी बना था।

[1]

  1. सभी चित्र English Wikipedia के Toramana लेख से सधन्यवाद