जुड़वा (1997 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
जुड़वा
जुड़वा.jpg
जुड़वा का पोस्टर
निर्देशक डेविड धवन
निर्माता साजिद नाडियाडवाला
कहानी ई. वी. वी. सत्यनारायण
अभिनेता सलमान खान,
करिश्मा कपूर,
रंभा
संगीतकार अनु मलिक
कोटी (पार्श्व संगीत)
छायाकार डब्लू. वी. राव
वितरक नाडियाडवाला ग्रैंडसन एंटरटेनमेंट
प्रदर्शन तिथि(याँ) 7 फरवरी, 1997
समय सीमा 136 मिनट
देश भारत
भाषा हिन्दी
लागत 6.25 करोड़ (US$0.91 मिलियन)[1]
कुल कारोबार 23.4 करोड़ (US$3.42 मिलियन)[1]

जुड़वा भारतीय हिन्दी हास्य फिल्म है। इसमें सलमान खान ने दो अलग अलग किरदार निभाए हैं। इनके साथ करिश्मा कपूर और रंभा भी मुख्य किरदार में हैं। इसका निर्देशन डेविड धवन ने और निर्माण साजिद नाडियाडवाला ने किया था। इस फिल्म का प्रदर्शन 7 फरवरी 1997 को हुआ था। यह 1994 में बनी भारतीय तेलुगू फिल्म हैलो ब्रदर का पुनः निर्माण थी जिसमें अक्किनेनी नागार्जुन, रम्या कृष्णन और सौन्दर्या मुख्य कलाकार थे। जुड़वा डेविड धवन और सलमान ख़ान की एक साथ पहली फ़िल्म थी।

संक्षेप[संपादित करें]

जयंतीलाल "रतन" (दीपक शिर्के) एक डाकू है। इंस्पेक्टर एसपी मल्होत्रा ​​(दलीप ताहिल) ने उसे गिरफ्तार कर लिया। रतन खुद को घायल कर लेता है और उसे अस्पताल ले जाया जाता है। वहाँ मल्होत्रा ​​अपनी पत्नी गीता (रीमा लागू) की प्रतीक्षा कर रहे हैं, जो प्रसव-वेदना में हैं। वह जुड़वां बच्चों को जन्म देती है और डॉक्टर बताते हैं कि दोनों बच्चों की प्रतिबिंब मानसिकता है, जिसका अर्थ है कि उनके बीच निकटता के आधार पर "एक बच्चे के साथ जो होता है, वो अन्य द्वारा प्रतिबिंबित किया जा सकता है"। रतन भाग जाता है और गीता को चोट पहुंचाने के साथ जुड़वां में से एक को ले जाता है। मल्होत्रा ​​उसके पीछे जाता है और रतन को भागने से रोकने के लिए उसे गोली मार देता है। लेकिन अपने बेटे को खोजने में असमर्थ रहता है। वह बच्चा राजा (सलमान खान) के रूप में बड़ा होता है। उसे एक लड़की मिलती है, जिसे वह अपनी बहन के रूप में अपनाता है। उसे एक और अनाथ रंगीला (शक्ति कपूर) मिलता है और दोनों दोस्त बन जाते हैं। वे दोनों एक साथ लड़की का ख्याल रखते हैं और चोर बन जाते हैं। दूसरी तरफ, गीता अवसाद में चली जाती है और उसे लकवा हो जाता है। मल्होत्रा ​​उसे इलाज के लिए अमेरिका ले जाता है, जहां दूसरा जुड़वां प्रेम (सलमान खान) पला-बढ़ा है। वह भारत आता है तो उसे शर्मा साब (कादर ख़ान) द्वारा स्वागत किया जाता है जो अपनी बेटी माला (करिश्मा कपूर) से उसकी शादी करना चाहते हैं। लेकिन माला राजा से प्यार करती है। हवाई अड्डे पर प्रेम को अपने सार्वजनिक कार्यक्रमों के आयोजक सुंदरी बटवाणी (बिन्दू) की पुत्री रुपा (रंभा) पाई। प्रेम रुपा के साथ प्यार में पड़ता है। टोनी (जैक गॉड), सुंदरी का भतीजा भी रूपा से शादी करना चाहता है। इस बीच माला प्रेम को राजा समझती है और उसके साथ छेड़छाड़ शुरू कर देती है। एक दिन, एक रेस्तरां में, दोनों जुड़वां एक दूसरे को देखते हैं और उन्हें पता चलता है कि वो समान दिखते हैं।

इस बीच, राजा की बहन कृष्णा स्थानीय गुंड रतनलाल टाइगर (मुकेश ऋषि) (रतन का पुत्र) को सड़क पर एक इंस्पेक्टर की हत्या करते हुए देखती हैं और अदालत में हत्या की मुख्य गवाह बन जाती हैं। गुस्से में टाइगर उसे मारता है और राजा अपनी बहन को बचाने के लिए उसके साथ झगड़ा करता है। टाइगर, राजा से अपना बदला लेने के लिए, कृष्णा के दूल्हे के रूप में टॉमी (शशि किरण) नामक अपने आदमी को भेजता है, लेकिन राजा उसकी योजना का पता लगा लेता है और अपनी बहन की किसी और से शादी कराता है। अदालत ने इंस्पेक्टर की हत्या के लिए टाइगगर को मौत की सजा की घोषणा की। दिन बीतते हैं, कृष्णा गर्भवती हो जाती है और उसे अपनी डिलीवरी के लिए अस्पताल में भर्ती कराया जाता है। राजा प्रेम से अस्पताल में रहने के लिए कहता है क्योंकि वह पैसे की तलाश में जा रहा है। प्रेम अपने पिता मल्होत्रा ​​का दौरा करता है। साथ ही, टाइगर कृष्णा का अपहरण करने के लिए जेल से बच निकला और मल्होत्रा ​​को पहचान लिया, जिन्होंने उसके पिता रतन को गोली मार दी थी। उसे पता चला कि राजा उसका बेटा है। उसने कृष्णा को मुक्त करने के लिए मल्होत्रा को लाने के लिए राजा को ब्लैकमेल किया। राजा जो नहीं जानता कि मल्होत्रा ​​उसका पिता है, वह उनके घर जाता है। वहाँ गीता भी राजा के स्पर्श से पक्षाघात से बाहर आती है और उसे सच पता चल जाता है कि वे उसके माता-पिता हैं। अंत में, राजा और प्रेम अपने पिता को टाइगर से बचाने के लिए एक साथ आते हैं। कहानी समाप्त होती है जब दोनों अपनी संबंधित महिलाओं से शादी करते हैं।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

जुड़वा
अनु मलिक द्वारा
जारी
1997 (भारत)
संगीत शैली फिल्म साउंडट्रैक
लेबल
अनु मलिक कालक्रम

नमक
(1996)
जुड़वा
(1997)
औज़ार
(1997)

सभी अनु मलिक द्वारा संगीतबद्ध।

क्र॰शीर्षकगीतकारगायकअवधि
1."दुनिया में आये हो तो लव कर लो"देव कोहलीकुमार सानु, कविता कृष्णमूर्ति6:04
2."गो ईस्ट या वेस्ट इंडिया बेस्ट"नितिन राईकवार, अनु मलिकअनु मलिक7:05
3."ऊँची है बिल्डिंग लिफ्ट तेरी बंद है"देव कोहलीअनु मलिक, पूर्णिमा5:14
4."टन टना टन टन टन तारा"देव कोहलीअभिजीत, पूर्णिमा6:37
5."तेरा आना तेरा जाना"देव कोहलीकुमार सानु, कविता कृष्णमूर्ति4:55
6."तू मेरे दिल में बस जा"देव कोहलीकुमार सानु, पूर्णिमा4:46

परिणाम[संपादित करें]

जुड़वा 2 नामक फिल्म के जरिए इसको पुन:निर्मित किया गया था। फिल्म को एक बार फिर धवन द्वारा निर्देशित किया गया है और नाडियावाला द्वारा निर्मित किया गया है। लेकिन प्रमुख डबल भूमिका में धवन के बेटे वरुण धवन है।[2] सिर्फ अनुपम खेर ही अकेले कलाकार थे जो इस फिल्म से अगली फिल्म में भी काम किए।

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

वर्ष नामित कार्य पुरस्कार परिणाम
1998 शक्ति कपूर फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता पुरस्कार नामित

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Judwaa". Boxofficeindia.com. मूल से 5 October 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2016-09-03.
  2. "जुड़वा-2- मूवी रिव्यू". नवभारत टाइम्स. 11 मई 2018. अभिगमन तिथि 19 मई 2018.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]