कुमाऊँनी लोग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
कुमाऊँनी

NainSingh.gifसुमित्रा नंदन पंत.jpg
MS Dhoni.jpg बिपन चन्द्र जोशी.jpg
नैन सिंह रावत, हरीश रावत, सुमित्रा नंदन पंत, महेंद्र सिंह धोनी, गोविन्द बल्लभ पंत, जनरल बी.सी. जोशी
कुल जनसंख्या
३० लाख
बड़ी जनसंख्या वाले क्षेत्र
प्रमुख जनसंख्या क्षेत्र:

जनसंख्याएँ:

अन्य:

भाषाएँ

कुमाऊँनी, हिन्दी

धर्म

Om.svg हिन्दू

सम्बन्धित सजातीय समूह

हिन्द-आर्य, राजपूत, ब्राह्मण, गढ़वाली

पाद टिप्पणी

ब्रिटिश इण्डियन प्रणाली में लड़ाका नस्ल के रूप में वर्गीकृत

कुमाऊँनी लोग, भारत के उत्तराखण्ड राज्य के कुमाऊँ क्षेत्र के लोगों को कहते हैं।

इसमें वे सभी लोग सम्मिलित हैं जो कुमाऊँनी भाषा या सम्बन्धित उपभाषाएँ बोलते हैं, और जो उत्तराखण्ड के कुमाऊँ मण्डल के अल्मोड़ा, उधमसिंहनगर, चम्पावत, नैनीताल, पिथौरागढ़, और बागेश्वर जिलों में रहते हैं।

कूमाऊँनी मूल के लोग बड़ी संख्या में उत्तर प्रदेश में मुख्यतः लखनऊ में रहते हैं। इसके अतिरिक्त दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश, और हिमाचल प्रदेश में भी कुमाऊँनी लोग रहते हैं।

इस बात के प्रमाण मिले हैं की कुमाऊँ की पहाड़ियों पर एक सहस्त्राब्दी से मनुष्यों का वास रहा है, और आज के कुमाऊँ के लोग विभिन्न स्थानों से आए लोगों के वंशज है जो सदियों से प्रवास कर यहाँ आते रहे।

भारत की सशस्त्र सेनाएँ और केन्द्रीय पुलिस संगठन, कुमाऊँ के लोगों के लिए रोजगार का प्रमुख स्रोत रहे हैं। भारत की सीमाओं की रक्षा करने में कुमाऊँ रेजीमेंट की उन्नीस वाहिनियाँ कुमाऊँ के लोगों का स्पष्ट प्रतिनिधित्व करतीं हैं।

यह भी देखें[संपादित करें]