रोहिंग्या लोग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
रोहिंग्या लोग

Ruáingga ﺭُﺍَࣺﻳﻨڠَ

Displaced Rohingya people in Rakhine State (8280610831) (cropped).jpg
कुल जनसंख्या

1,547,778[1]–2,000,000+[2]

ख़ास आवास क्षेत्र
बांग्लादेश, म्यांमार (रखाइन राज्य), पाकिस्तान, थाईलैंड, मलेशिया, भारत, संयुक्त राज्य अमेरिका , इंडोनेशिया, नेपाल, सऊदी अरब
Flag of Bangladesh.svg बांग्लादेश 900,000+[3] (सितम्बर 2017)
Flag of Myanmar.svg म्यान्मार 500,000[4] (सितम्बर 2017)
Flag of Saudi Arabia.svg सउदी अरब 400,000 [5] (2015)
Flag of Pakistan.svg पाकिस्तान 200,000 [6][7][8]
Flag of Thailand.svg थाईलैण्ड 100,000 [9]
Flag of Malaysia.svg मलेशिया 40,070 [10]
Flag of India.svg भारत 40,000 (सितम्बर 2017) [11][12]
Flag of the United States.svg संयुक्त राज्य 12,000+ (सितम्बर 2017) [13]
Flag of Indonesia.svg इंडोनेशिया 11,941 [14]
Flag of Nepal.svg नेपाल 200 (सितम्बर 2017) [15]
भाषाएँ
रोहिंग्या भाषा
धर्म
इस्लाम (अल्पसंख्या में हिन्दू धर्म)

रोहिंग्या लोग (/ˈrɪnə/; ऐतिहासिक तौर पर अरकानी भारतीय (आकनीज़ इंडियंज़)[16][17] के नाम से भी पहचाने जाते हैं) म्यांमार देश के रखाइन राज्य और बांग्लादेश के चटगाँव इलाक़े में बसने वाले राज्यविहीन[18]रखाइन राज्य पर बर्मी क़ब्ज़े के बाद अत्याचार के माहौल से तंग आ कर बड़ी संख्या में रोहिंग्या लोग थाईलैंड में शरणार्थी हो गए। रोहिंग्या लोग आम तौर पर मुसलमान होते हैं, लेकिन अल्पसंख्या में कुछ रोहिंग्या हिन्दू भी होते हैं।[19][20][21][22][23] ये लोग रोहिंग्या भाषा बोलते हैं।[24] 2016-17 संकट से पहले म्यांमार में क़रीब 8 लाख रोहिंग्या लोग रहते थे[25] और यह लोग इस देश की सरज़मीन पर सदियों से रहते आए हैं, लेकिन बर्मा के बौद्ध लोग और वहाँ की सरकार इन लोगों को अपना नागरिक नहीं मानते हैं। इन रोहिंग्या लोगों को म्यांमार में बहुत अत्याचार का सामना करना पड़ा है। बड़ी संख्या में रोहिंग्या लोग बांग्लादेश और थाईलैंड की सरहदों पर स्थित शरणार्थी कैंपों में अमानवीय हालातों में रहने को मजबूर हैं। युनाइटेड नेशंज़ के मुताबिक़ रोहिंग्या लोग दुनिया के सब से उत्पीड़ित अल्पसंख्यक समूहों में से एक है।[26][27][28]

1982 म्यांमार राष्ट्रीयता क़ानून के तहत रोहिंग्या लोगों को म्यांमार में नागरिकता प्राप्त करने से प्रतिबन्धित है।[29][30][31] ह्यूमन राइट्स वॉच के मुताबिक़ 1982 क़ानून ने प्रभावी तौर पर रोहिंग्या लोगों के लिए राष्ट्रीयता प्राप्त करने की कोई भी सम्भवता दूर की थी।[31] म्यांमार में रोहिंग्या लोगों का इतिहास 8वीं सदी में शुरू हुआ था, इसके बावजूद इन्हें म्यांमारी क़ानून के आठ "राष्ट्रीय समूहों" में से वर्गीकृत नहीं है। वे आंदोलन की स्वतंत्रता, राज्य शिक्षण प्राप्त करने से और नागरिक सेवा में काम करने से भी प्रतिबन्धित हैं।[32] म्यांमार में रोहिंग्या लोगों की क़ानूनी अवस्था को दक्षिण अफ़्रीका में रंगभेद नीति यानि अपार्थीड के साथ तुलना हुई है।[33][34][35][36][37][38][39]

इतिहास[संपादित करें]

1400 ई. के आस-पास बर्मा (आज के म्यांमार) के ऐतिहासिक अराकान प्रांत (आज के रखाइन राज्य) में आकर बस गए थे। इनमें से बहुत से लोग 1430 में अराकान पर शासन करने वाले बौद्ध राजा नारामीखला (बर्मी में मिन सा मुन) के राज दरबार में नौकर थे। इस राजा ने मुस्लिम सलाहकारों और दरबारियों को अपनी राजधानी में प्रश्रय दिया था।

बर्मा की आजादी[संपादित करें]

साल 1948 में बर्मा को अंग्रेजों से स्वतंत्रता मिली। बर्मा की आजादी की लड़ाई में रोहिंग्या मुसलमानों का काफी अहम् योगदान था। इसके फलस्वरूप देश की आजादी के बाद रोहिंग्या समुदाय को आधिकारिक पदों पर नौकरियां मिली। हालाँकि, 1960 के दशक से रोहिंग्या समुदाय के साथ अन्याय शुरू हो गया। उन्हें अल्पसंख्यक मानकर उन्हें प्रताड़ित करना शुरू कर दिया गया।

इसके बाद साल 1982 में जब देश में बर्मा राष्ट्रिय कानून पारित किया गया था, तो इसमें रोहिंग्या को देश की जनता के रूप में कोई जगह नहीं दी गयी। [40]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Mahmood; Wroe; Fuller; Leaning (2016). "The Rohingya people of Myanmar: health, human rights, and identity". Lancet: 1–10. PMID 27916235. डीओआइ:10.1016/S0140-6736(16)00646-2.
  2. David Mathieson (2009). Perilous Plight: Burma's Rohingya Take to the Seas. Human Rights Watch. पृ॰ 3. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781564324856.
  3. http://www.thedailystar.net/world/rohingya-crisis/400000-rohingyas-myanmar-arrive-bangladesh-august-25-unicef-1462066
  4. Sarah Wildman (29 सितम्बर 2017). "Half of Myanmar's Rohingya minority has fled the country". Vox.
  5. "Saudi Arabia entry at Ethnologue". Ethnologue. अभिगमन तिथि 6 February 2015.
  6. "Homeless In Karachi | Owais Tohid, Arshad Mahmud". Outlook India. 29 November 1995. अभिगमन तिथि 18 October 2013.
  7. "Box 5925 Annapolis, MD 21403 info@srintl". Burmalibrary.org. अभिगमन तिथि 18 October 2013.
  8. Derek Henry Flood (31 December 1969). "From South to South: Refugees as Migrants: The Rohingya in Pakistan". The Huffington Post. अभिगमन तिथि 11 February 2015.
  9. Husain, Irfan (30 July 2012). "Karma and killings in Myanmar". Dawn. अभिगमन तिथि 10 August 2012.
  10. "Figure At A Glance". UNHCR Malaysia. 2014. मूल से 30 December 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 December 2014.
  11. "India in talks with Myanmar, Bangladesh to deport 40,000 Rohingya". Reuters. 2017. अभिगमन तिथि 17 August 2017.
  12. "India plans to deport thousands of Rohingya refugees". www.aljazeera.com. अभिगमन तिथि 17 August 2017.
  13. Timothy Mclaughlin (20 September 2016). "Myanmar refugees, including Muslim Rohingya, outpace Syrian arrivals in U.S." (अंग्रेज़ी में). Reuters. अभिगमन तिथि 3 सितम्बर 2017.
  14. Jalimin (19 May 2015). "Jumlah Pengungsi Rohingya di Indonesia Capai 11.941 Orang" (इंडोनेशियाई में). Aceh Tribun News. मूल से 11 October 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 October 2015.
  15. "200 Rohingya Refugees are not being accepted as Refugees and the Nepali Government considers them illegal migrants". मूल से 4 June 2016 को पुरालेखित. An estimated 36,000 Rohingya Refugess living in India
  16. Colin Clarke; Ceri Peach; Steven Vertovec (26 October 1990). South Asians Overseas: Migration and Ethnicity. Cambridge University Press. पृ॰ 46. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-521-37543-6.
  17. British Foreign Office (December 1952). "On The Mujahid Revolt in Arakan" (PDF). National Archives.
  18. "Will anyone help the Rohingya people?". BBC News. 10 June 2015.
  19. "There were at least a million members of the Rohingya ethnic group living in Myanmar, most of them Muslim, though some are Hindu." http://www.bbc.com/news/world-asia-41260767
  20. Jacob Judah (2 September 2017). "Thousands of Rohingya flee Myanmar amid tales of ethnic cleansing". The Observer. |work= और |newspaper= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)
  21. "Hindus too fleeing persecution in Myanmar". Daily Star. 31 August 2017. |work= और |newspaper= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)
  22. "Hindus From Myanmar Join Muslim Rohingyas in Seeking Refuge in Bangladesh". The Wire.
  23. Andrew Simpson (2007). Language and National Identity in Asia. United Kingdom: Oxford University Press. पृ॰ 267. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0199226481.
  24. "Rohingya reference at Ethnologue".
  25. "Myanmar Buddhists seek tougher action against Rohingya". The Washington Post. |work= और |newspaper= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)
  26. "Nobel Peace Prize winner accused of overlooking 'ethnic cleansing' in her own country". The Independent. 9 December 2016. |work= और |newspaper= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)
  27. Hofman, Lennart (25 February 2016). "Meet the most persecuted people in the world". The Correspondent.
  28. "Rohingya Muslims Are the Most Persecuted Minority in the World: Who Are They?". Global Citizen.
  29. Yuichi Nitta (25 August 2017). "Myanmar urged to grant Rohingya citizenship". Nikkei Asian Review. |work= और |newspaper= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)
  30. "Annan report calls for review of 1982 Citizenship Law". The Stateless. 24 August 2017.
  31. "Discrimination in Arakan". Vol. 12 (No. 3). ह्यूमन राइट्स वॉच. May 2000.
  32. "Kofi Annan-led commission calls on Myanmar to end Rohingya restrictions". SBS.
  33. Marshall, Andrew R.C., "Fresh Myanmar clashes signal growing Muslim desperation" August 12, 2013, Reuters, retrieved September 21, 2017
  34. Kristof, Nicholas (28 May 2014). "Myanmar's Appalling Apartheid". The New York Times. |work= और |newspaper= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)
  35. Emanuel Stoakes. "Myanmar's Rohingya Apartheid". The Diplomat.
  36. Weiss, Stanley (12 November 2014). "The Ethnic Apartheid in Myanmar". The Huffington Post.
  37. Ibrahim, Azeem (fellow at Mansfield College, Oxford University, and 2009 Yale World Fellow),"War of Words: What's in the Name 'Rohingya'?," June 16, 2016 Yale Online, Yale University, September 21, 2017
  38. "Aung San Suu Kyi’s Ultimate Test," Sullivan, Dan, January 19, 2017, Harvard International Review, Harvard University, retrieved September 21, 2017
  39. Tutu, Desmond, former Archbishop of Cape Town, South Africa, Nobel Peace Prize Laureate (anti-apartheid & national-reconciliation leader), "Tutu: The Slow Genocide Against the Rohingya," January 19, 2017, Newsweek, citing "Burmese apartheid" reference in 1978 Far Eastern Economic Review at Oslo Conference on Rohingyas; also online at: Desmond Tutu Foundation USA, retrieved September 21, 2017
  40. पंकज सिंह (18 दिसम्बर 2017) "रोहिंग्या मुस्लिम कौन है? इन पर इतने अत्याचार क्यों हो रहे हैं? ''दा इंडियन वायर''