रेडियोसक्रियता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
रेडियोधर्मिता (रेडियोऐक्टिविटी) के अन्य प्रयोगों के लिये रेडियोधर्मिता (बहुविकल्पी) देखें
अल्फा, बीटा और गामा विकिरण की भेदन क्षमता अलग-अलग होती है।

रेडियोसक्रियता (रेडियोऐक्टिविटी / radioactivity) या रेडियोधर्मिता वह प्रकिया होती है जिसमें एक अस्थिर परमाणु अपने नाभिक (न्यूक्लियस) से आयनकारी विकिरण (ionizing radiation) के रूप में ऊर्जा फेंकता है। ऐसे पदार्थ जो स्वयं ही ऐसी ऊर्जा निकालते हों विकिरणशील या रेडियोधर्मी कहलाते हैं। यह विकिरण अल्फा कण (alpha particles), बीटा कण (beta particle), गामा किरण (gamma rays) और इलेक्ट्रॉनों के रूप में होती है। ऐसे पदार्थ जिनकी परमाण्विक नाभी स्थिर नहीं होती और जो निश्चित मात्रा में आवेशित कणों को छोड़ते हैं, रेडियोधर्मी (रेडियोऐक्टिव) कहलाते हैं।[1]

इतिहास[संपादित करें]

रेडियोसक्रियता की खोज फ्राँस के वैज्ञानिक हेनरी बेक्वेरल ने 1896 में की थी। यदि यह क्रिया स्वतः होती है, तो इसे प्राकृतिक रेडियो सक्रियता कहते हैं, जबकि मनुष्य के द्वारा करा जाने पर कृत्रिम रेडियो सक्रिता कही जाती है। प्राकृतिक रेडियोसक्रियता मुख्यतः भारी नाभिकों से होती है। यूरेनियम पहला खोजा गया प्राकृतिक रेडियोसक्रिय तत्व है।[2]

रेडियोसक्रिय समस्थानिकों के उदाहरण[संपादित करें]

प्राकृतिक समस्थानिक[संपादित करें]

कृत्रिम समस्थानिक[संपादित करें]

विभिन्न प्रकार के क्षय[संपादित करें]

यद्यपि पहले केवल अल्फा, बीटा और गामा विकिरण की ही खोज हुई थी, किन्तु बाद में पता चला कि कै अन्य प्रकार के उत्सर्जन (emission) भी होते हैं।

क्षय की प्रणाली भाग लेने वाले कण संतति केंद्रक (Daughter nucleus)
Decays with emission of nucleons:
अल्फा क्षय An alpha particle (A = 4, Z = 2) emitted from nucleus (A − 4, Z − 2)
प्रोटॉन उत्सर्जन A proton ejected from nucleus (A − 1, Z − 1)
न्यूट्रॉन उत्सर्जन A neutron ejected from nucleus (A − 1, Z)
द्विक प्रोटॉन उत्सर्जन Two protons ejected from nucleus simultaneously (A − 2, Z − 2)
Spontaneous fission Nucleus disintegrates into two or more smaller nuclei and other particles
Cluster decay Nucleus emits a specific type of smaller nucleus (A1, Z1) which is larger than an alpha particle (A − A1, Z − Z1) + (A1, Z1)
Different modes of beta decay:
β decay A nucleus emits an electron and an electron antineutrino (A, Z + 1)
पॉजिट्रॉन उत्सर्जन (β+ decay) A nucleus emits a positron and an electron neutrino (A, Z − 1)
Electron capture A nucleus captures an orbiting electron and emits a neutrino; the daughter nucleus is left in an excited unstable state (A, Z − 1)
Bound state beta decay A free neutron or nucleus beta decays to electron and antineutrino, but the electron is not emitted, as it is captured into an empty K-shell; the daughter nucleus is left in an excited and unstable state. This process is a minority of free neutron decays (0.0004%) due to the low energy of hydrogen ionization, and is suppressed except in ionized atoms that have K-shell vacancies. (A, Z + 1)
Double beta decay A nucleus emits two electrons and two antineutrinos (A, Z + 2)
Double electron capture A nucleus absorbs two orbital electrons and emits two neutrinos – the daughter nucleus is left in an excited and unstable state (A, Z − 2)
Electron capture with positron emission A nucleus absorbs one orbital electron, emits one positron and two neutrinos (A, Z − 2)
Double positron emission A nucleus emits two positrons and two neutrinos (A, Z − 2)
Transitions between states of the same nucleus:
Isomeric transition Excited nucleus releases a high-energy photon (gamma ray) (A, Z)
Internal conversion Excited nucleus transfers energy to an orbital electron, which is subsequently ejected from the atom (A, Z)

रेडियोसक्रियता से सम्बन्धित खतरे के चिह्न[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Stabin, Michael G. (2007). "3". Radiation Protection and Dosimetry: An Introduction to Health Physics. Springer. doi:10.1007/978-0-387-49983-3. ISBN 978-0387499826.
  2. रेडियोसक्रियता आलोक पाण्डेय द्वारा
  3. IAEA news release Feb 2007