भारत की राजनीति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
भारत
Emblem of India.svg

यह लेख यह श्रेणी के सम्बन्ध में है:

भारत की राजनीति


भारत सरकार

संविधान

विधायिका

कार्यपालिका

न्यायपालिका

स्थानीय

भारतीय चुनाव


अन्य देशप्रवेशद्वार:राजनीति
प्रवेशद्वार:भारत सरकार

भारत की राजनीति संयुक्त संसदीय प्रतिनिधीय लोकतांत्रिक राज्य के ढाँचे में ढली है, जहां पर प्रधानमंत्री सरकार का प्रमुख होता है और बहु-दलीय तंत्र होता है। शासन एवं सत्ता सरकार के हाथ में होती है। संयुक्त वैधानिक बागडोर सरकार एवं संसद के दोनो सदनों, लोक सभा एवं राज्य सभा के हाथ में होती है। न्याय मण्डल शासकीय एवं वैधानिक, दोनो से स्वतंत्र होता है। पर इस वक़्त लोकतंत्र से फॉरवर्ड बैकवर्ड कास्ट वाली भावनाओं को हटाने की जरूरत है ! नहीं तो बैक्वोर्ड समाज लूट-लूट कर ख़तम ही हो जायेगा! इसके लिए अलग से कोई नियम बनाने के बजाय अपनी मन से बुरे भावनाओं को हटाना होगा ! जो शायद संभव नहीं है ! पर पक्षपात वाली राजनीति घातक सिद्ध हो सकती है

संविधान के अनुसार, भारत एक प्रधान, समाजवादी, धर्म-निरपेक्ष, लोकतांत्रिक राज्य है, जहां पर सरकार जनता के द्वारा चुनी जाती है। अमेरिका की तरह, भारत में भी संयुक्त सरकार होती है, लेकिन भारत में केन्द्र सरकार राज्य सरकारों की तुलना में अधिक शक्तिशाली है, जो कि ब्रिटेन की संसदीय प्रणाली पर आधारित है। बहुमत की स्थिति में न होने पर सरकार न बना पाने की दशा में अथवा विशेष संवैधानिक परिस्थिति के अंतर्गत, केन्द्र सरकार राज्य सरकार को निष्कासित कर सकती है और सीधे संयुक्त शासन लागू कर सकती है, जिसे राष्ट्रपति शासन कहा जाता है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]