पुरापाषाण काल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

पुरापाषाण काल (अंग्रेजी Palaeolithic) प्रौगएतिहासिक युग का वह समय है जब मानव ने पत्थर के औजार बनाना सबसे पहले आरम्भ किया। यह काल आधुनिक काल से २५-२० लाख साल पूर्व से लेकर १२,००० साल पूर्व तक माना जाता है। इस दौरान मानव इतिहास का ९९% विकास हुआ। इस काल के बाद मध्यपाषाण युग का प्रारंभ हुआ जब मानव ने खेती करना शुरु किया था। [1]

भारत में पुरापाषाण काल के अवशेष तमिल नाडु के कुरनूल, कर्नाटक के हुँस्न्गी, ओडिशा के कुलिआना, राजस्थान के डीडवानाके श्रृंगी तालाब के निकट और मध्य प्रदेश के भीमबेटका में मिलते हैं। इन अवशेषो की संख्या मध्यपाषाण काल के प्राप्त अवशेषो से बहुत कम है।[2]

इस काल को जलवायु परिवर्तन तथा उस समय के पत्थर के हथियारो तथा औजारो के प्रकारों के आधार पर निम्न तीन भागों में विभाजित किया गया है:-

   (1)निम्नपुरापाषाण काल Lower Paleolithic
   (2)मध्यपुरापाषाण काल Middle Paleolithic
   (3)उत्तर या उच्चपुरापाषाण काल Upper Paleolithic

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. हमारे अतीत १. कक्षा ६ की पाठ्य पुस्तक. NCERT. २००९. 
  2. भारत में पुरातत्वीक महत्व के स्थान (अंग्रेजी)