आर्चर ब्लड

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
आर्चर केंट ब्लड
Archer Kent Blood

ढाका में संयुक्त राज्य के कॉन्सुल जनरल
राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन
उत्तरा धिकारी पद समाप्त

जन्म March 20, 1923
शिकागो, इलिनॉ, संयुक्त राज्य
मृत्यु 3 सितम्बर, 2004 (उम्र 81)
फ़ोर्ट कॉलिंज़, कॉलराडो, संयुक्त राज्य
जीवन संगी मार्ग्रेट मिलवर्ड ब्लड
बच्चे 4[1]

आर्चर केन्ट ब्लड (Archer Kent Blood, मार्च 20, 1923 – सितम्बर 3, 2004) एक अमेरिकी दूत थे। सन् 1971 के बांग्लादेश मुक्ति युद्ध के दौरान वे ढाका में अमेरिकी वाणिज्य दूतावास (कॉन्सुलेट) में तैनात थे। ढाका, जो आज बांग्लादेश की राजधानी है, उस समय पूर्वी पाकिस्तान का मुख्यालय था। ब्लड उस समय ढाका से अपनी (यानी अमेरिकी) सरकार को पाकिस्तानी सेना द्वारा किए जा रहे अत्याचार के विरुद्ध एक तार भेजेने के लिए प्रसिद्ध हुए। यह तार आगे जाकर ब्लड टेलीग्राम (Blood Telegram) कहलाया।[2]

उन्होंने ग्रीस, अल्जीरिया, जर्मनी, अफगानिस्तान में भी सेवा की और 1982 में सेवानिवृत्त होकर नई दिल्ली, भारत में अमेरिकी दूतावास के प्रभारी के रूप में अपने करियर का अंत किया।

करियर[संपादित करें]

1970 में, ब्लड पूर्वी पाकिस्तान के ढाका में अमेरिकी वाणिज्य दूत के रूप में पहुँचे। जब बांग्लादेश में नरसंहार शुरू हुआ, तो ढाका स्थित अमेरिका के वाणिज्य दूतावास ने नियमित रूप से व्हाइट हाउस में होने वाली घटनाओं की सूचना दी, लेकिन पश्चिमी पाकिस्तान के साथ अमेरिका के गठबंधन के कारण कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। इसका एक कारण राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन की पाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति याह्या ख़ान के साथ व्यक्तिगत मित्रता (और दोनों की भारतऔर इन्दिरा गांधीके प्रति घृणा) भी थी। साथ ही राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हेनरी किसिंजर के चीन के साथ अमेरिकी संबंधों शुरू करने में दोनों देशों से पारस्परिक मित्रता होने के कारण पाकिस्तान की इस अमेरिकी पहल में बड़ी भूमिका भी इसके एक कारण के रूप में बताई जाती है । हालाँकि, ब्लड के शुरुआती टेलीग्राम उनकी सरकार की प्रतिक्रिया को प्राप्त करने में विफल रहे, जब उन्हें लीक किया गया तब अमेरिकी जनता के साथ हलचल मच गई। जिससे पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने अमेरिकी सरकार को शिकायत करने के लिए प्रेरित किया।[3]

पूर्वी पाकिस्तानमें तनाव बढ़ने के साथ, ब्लड ने बांग्लादेश की स्वतंत्रता को एक अपरिहार्यता के रूप में देखा। उन्होंने टिप्पणी करते हुए कहा:

"The ominous prospect of a military crackdown is much more than a possibility, but it would only delay, and ensure, the independence of [sic.] Bangla Desh."

"सैन्य अभियान की मनहूस संभावना एक संभावना से कहीं अधिक है, लेकिन इससे केवल देरी होगी, और बांग्लादेश की स्वतंत्रता को यह केवल सुनिश्चित ही करेगी। "


जब विदेशी पत्रकारों की घेराबंदी की जाने लगी और उन्हें पूर्वी पाकिस्तान से बाहर निकलने को कहा जाने लगा, तब भी ब्लड ने एक रिपोर्टर को भी पनाह दी, जो छिपकर वहाँ से रिपोर्टिंग करना चाहता था, ताकि घटनाओं की सूचना मिलती रहे। इसके अलावा उन्होंने अमेरिकी द्वारा चेतावनी दिए जाने के बावजूद पश्चिमी पाकिस्तानियों से हिंदू बंगालियों को आश्रय भी दिया। [3]

अफगानिस्तान के सोवियत आक्रमण में ब्लड ने भी भूमिका निभाई थी, हालांकि यह उस समय संयुक्त राज्य अमेरिका में नहीं जाना जा सकता था। एक रिपोर्ट बताती है कि आक्रमण के लिए दो ट्रिगर थे, जिनमें से एक था "हफ़ीज़ुल्लाह अमीन का 27 अक्टूबर को अमेरिकन चार्जे डी'एफ़ेयर के रूप में आर्चर ब्लड का स्वागत"। [4]


ब्लड टेलीग्राम[संपादित करें]

ब्लड तार, जो सन् 1971 में बांग्लादेश मुक्ति युद्धके दौरान ढाकामें नियुक्त अमेरिकीदूत

ब्लड टेलीग्राम (6 अप्रैल, 1971), अमेरिकी राज्य सेवा के डिसेंट चैनल के माध्यम से भेजा गया था। इसे अमेरिकी विदेश सेवा के इतिहास की सबसे कड़े शब्दों में निंदा की उपाधि दी गई है।[5][6]इसपर वहाँ की राजनयिक सेवा के 20 सदस्यों ने हस्ताक्षर किए थे।[7]टेलीग्राम में लिखा था:

Our government has failed to denounce the suppression of democracy. Our government has failed to denounce atrocities. Our government has failed to take forceful measures to protect its citizens while at the same time bending over backwards to placate the West Pak[istan] dominated government and to lessen any deservedly negative international public relations impact against them. Our government has evidenced what many will consider moral bankruptcy,... But we have chosen not to intervene, even morally, on the grounds that the Awami conflict, in which unfortunately the overworked term genocide is applicable, is purely an internal matter of a sovereign state. Private Americans have expressed disgust. We, as professional civil servants, express our dissent with current policy and fervently hope that our true and lasting interests here can be defined and our policies redirected in order to salvage our nation's position as a moral leader of the free world.
—U.S. Consulate (Dacca) Cable, Dissent from U.S. Policy Toward East Pakistan, April 6, 1971, Confidential, 5 pp. Includes Signatures from the Department of State. Source: RG 59, SN 70-73 Pol and Def. From: Pol Pak-U.S. To: Pol 17-1 Pak-U.S. Box 2535[8]

हमारी सरकार लोकतंत्र के दमन की निंदा करने में विफल रही है। हमारी सरकार अत्याचारों की निंदा करने में विफल रही है। हमारी सरकार अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए प्रभावी उपाय करने में नाकाम रही है, उसी समय यह पश्चिम पाक [इस्तान] के दबदबे वाली सरकार के सामने झुककर उसके खिलाफ किसी भी योग्य नकारात्मक अंतर्राष्ट्रीय जनसंपर्क के प्रभाव को कम करने की कोशिश कर रही है। हमारी सरकार ने जो किया है, उसे कई लोग हमारे नैतिक दिवालियेपन का सबूत समझेंगे, ... लेकिन हमने चुना है कि हम हस्तक्षेप नहीं करेंगे, यहां तक कि नैतिक रूप से भी नहीं, वह भी इस आधार पर कि अवामी संघर्ष, जहाँ दुर्भाग्य से वह अतिरंजित शब्द "नरसंहार" लागू होता है, विशुद्ध रूप से एक सार्वभौम देश का एक आंतरिक मामला है। आम अमेरिकियों ने इसपर घृणा व्यक्त की है। हम पेशेवर लोकसेवकों के रूप में, वर्तमान नीति के साथ अपने असंतोष को व्यक्त करते हैं और यह उम्मीद करते हैं कि यहां हमारे सच्चे और स्थायी हितों को परिभाषित किया जा सकता है, और हमारी नीतियों को स्वतंत्र दुनिया के नैतिक नेता के रूप में हमारे देश की स्थिति को उबारने के लिए पुनर्निर्देशित किया जा सकता है।

इससे पहले ब्लड ने एक और टेलीग्राम भेजा था (March 27, 1971), जिसमें उन्होंने यह चिंता जताई थी कि बांग्लादेश में "चुनिंदा रूप से नरसंहार" (Selective genocide) होने के आसार हैं:

1. Here in Decca we are mute and horrified witnesses to a reign of terror by the Pak[istani] Military. Evidence continues to mount that the MLA authorities have list of AWAMI League supporters whom they are systematically eliminating by seeking them out in their homes and shooting them down

2. Among those marked for extinction in addition to the A.L. hierarchy are student leaders and university faculty. In this second category we have reports that Fazlur Rahman head of the philosophy department and a Hindu, M. Abedin, head of the department of history, have been killed. Razzak of the political science department is rumored dead. Also on the list are the bulk of MNA's elect and number of MPA's.

3. Moreover, with the support of the Pak[istani] Military. non-Bengali Muslims are systematically attacking poor people's quarters and murdering Bengalis and Hindus.

—U.S. Consulate (Dacca) Cable, Selective genocide, March 27, 1971[9]

1. यहाँ ढाका में हम पाक [इस्तानी] सेना द्वारा आतंक के शासन के मूक और भयाकुल गवाह हैं। सबूतों से पता चलता है कि विधायक अधिकारियों के पास अवामी लीग समर्थकों की सूची है, जिन्हें वे उनके घरों से बाहर निकाल-निकालकर गोली मारकर उनका व्यवस्थित रूप से ख़ात्मा कर रहे हैं

2. अवामी लीग पदानुक्रम के अलावा गुमशुदा होने के लिए चिह्नित छात्रों में छात्र नेता और विश्वविद्यालय के संकाय हैं। इस दूसरी श्रेणी में हमारे पास रिपोर्ट है कि फजलुर रहमान, दर्शन विभाग के प्रमुख और एक हिंदू, एम॰ अबेदीन इतिहास विभाग के प्रमुख मारे गए हैं। राजनीति विज्ञान विभाग के रज्जाक की मौत की अफवाह है। इसके अलावा सूची में अधिकतर चयनित एमएनए और एमपीए की संख्या के थोक हैं।

3. इसके अलावा, पाक [इस्तानी] सेना के समर्थन से गैर-बंगाली मुसलमान व्यवस्थित रूप से गरीब लोगों के क्वार्टर पर हमला कर रहे हैं और बंगालियों और हिंदुओं की हत्या कर रहे हैं।

परिणाम[संपादित करें]

हालांकि ब्लड को ढाका में एक और 18 महीने के दौरे के लिए निर्धारित किया गया था, राष्ट्रपति निक्सन और राज्य के सचिव हेनरी किसिंजर इस घटना के बाद से उनका विरोध करने लगे थे। उन्होंने पुरानी योजना के खिलाफ जाकर से ब्लड को वापस बुला लिया, क्योंकि पश्चिमी पाकिस्तान अमेरिका के लिए चीन से दोस्ती बढ़ाने और सोवियत संघ की शक्ति का मुकाबला करने के लिए महत्वपूर्ण था। [10] [11] [12] उन्हें राज्य विभाग के कार्मिक कार्यालय को सौंपा गया था। 1972 में सरकारी अधिकारियों ने स्वीकार किया कि उन्हें ब्लड टेलीग्राम में वर्णित हत्या की तीव्रता पर विश्वास नहीं हुआ था। टेलीग्राम के बाद से उन्हें अपने करियर में काफ़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। उन्होंने बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के दौरान अपने अनुभव के बारे में, द क्रूएल बर्थ ऑफ बांग्लादेश - मेम्वार्ज़ अव एक अमेरिकी डिप्लमैट पुस्तक लिखी। [13]

आर्चर ब्लड को 1971 में "पहल, अखंडता, बौद्धिक साहस और रचनात्मक असंतोष से युक्त असाधारण उपलब्धि" के लिए क्रिश्चियन ए॰ हेटर पुरस्कार मिला। [10] ब्लड टेलीग्राम राज्य विभाग के ' डिसेंट चैनल ' के गठन का भी अग्रदूत था, जो आने वाले वर्षों में स्थापित हुआ। यह एक ऐसा तंत्र बना, जिसके माध्यम से एजेंसी के अधिकारी संयुक्त राज्य अमेरिका की विदेश नीति की औपचारिक तौर पर आलोचना कर सकते थे। [14]

विरासत[संपादित करें]

3 सितंबर, 2004 को कोलोराडो के फोर्ट कॉलिंस में धमनी काठिन्य से रक्त की मृत्यु हो गई, जहां वह 1993 से रह रहे थे। उनकी मौत ने बांग्लादेश में सुर्खियां बटोरीं, लेकिन अमेरिकी अखबारों में शोक संदेश सेक्शन के पिछले पन्नों में ही जगह बना पाईं। बांग्लादेश ने फोर्ट कोलिन्स में ब्लड के अंतिम संस्कार के लिए एक प्रतिनिधिमंडल भेजा। इसके अलावा भी ब्लड की शोकाकुल पत्नी को बांग्लादेशियों से साम्य प्राप्त हुआ। 1971 में अमेरिकी कूटनीति के नैतिक संदर्भों को आकार देने में उनके योगदान को वॉशिंगटन पोस्ट ने अपने कार्यक्षेत्र में स्वीकार किया। [10]

मई 2005 में, मरणोपरांत बांग्लादेशी-अमेरिकन फाउंडेशन, इंक॰ (BAFI) द्वारा पहले बांग्लादेशी-अमेरिकी सम्मेलन में ब्लड को उत्कृष्ट सेवा पुरस्कार से सम्मानित किया गया। । [15] मिस्टर ब्लड को यह पुरस्कार 1970 और 1971 में उनकी भूमिका के लिए मानवता और अमेरिका की आधिकारिक नीति के खिलाफ उनके बहादुर रुख के लिए मिला, जबकि पाकिस्तान की सेना अब बांग्लादेश में होने वाले जनसंहार मिशन में लगी हुई थी। उनके बेटे, पीटर ब्लड ने परिवार की ओर से पुरस्कार स्वीकार किया। इसके बाद 13 दिसंबर 2005 को अमेरिकन सेंटर लाइब्रेरी, यूएस एम्बेसी ढाका में आर्चर के॰ ब्लड के नाम पर समर्पित की गई। रिबन काटने की रस्म में चार्जे डी'फेयर जुडिथ चामास, श्रीमती॰ मार्गरेट ब्लड और उनके बच्चे, शिरीन अपडीग्राफ और पीटर ब्लड भी उपस्थित थे।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

विरासत[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Hopey, Don (13 September 2004). "Obituary: Archer K. Blood / Longtime diplomat who taught at Allegheny College". Pittsburgh Post-Gazette. मूल से 21 फ़रवरी 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 February 2019.
  2. Holley, Joe (23 September 2004). "Archer K. Blood; Dissenting Diplomat". Washington Post. मूल से 7 जून 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 May 2014.
  3. Bass, Gary J. (2013), (First edition. ed.). New York: Knopf. ISBN 9780385350471. "The Blood telegram : Nixon, Kissinger, and a forgotten genocide".
  4. The National Security Archive. January 28, 2019. Retrieved January 28, 2019. ""The Soviet Invasion of Afghanistan, 1979: Not Trump's Terrorists, Nor Zbig's Warm Water Ports"". मूल से 9 सितंबर 2019 को पुरालेखित.सीएस1 रखरखाव: एक से अधिक नाम: authors list (link)
  5. "Dissent Channel in Foreign Affairs Manual 2 FAM 070 (PDF)" (PDF). मूल (PDF) से 23 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 अक्तूबर 2019.
  6. Hitchens, Christopher. "The Trial of Henry Kissinger", 2002
  7. Bass, Gary J. (2013). The Blood telegram : Nixon, Kissinger, and a forgotten genocide (First edition. संस्करण). New York: Knopf. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780385350471.
  8. "DISENT FROM U.S. POLICY TOWARD EAST PAKISTAN" (PDF). George Washington University. April 6, 1971. मूल से 18 दिसंबर 2014 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि January 28, 2019.
  9. "SELECTIVE GENOCIDE" (PDF). George Washington University. March 27, 1971. मूल से 17 जून 2009 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि January 28, 2019.
  10. Holley, Joe (23 September 2004). "Archer K. Blood; Dissenting Diplomat". Washington Post. मूल से 7 जून 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 May 2014.
  11. Bass, Gary (29 September 2013). "Nixon and Kissinger's Forgotten Shame". The New York Times. मूल से 28 मई 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 May 2014.
  12. Dymond, Jonny (11 December 2011). "The Blood Telegram". BBC Radio. मूल से 25 फ़रवरी 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 May 2014.
  13. "The peculiar global invisibility of 1971". The Daily Star (अंग्रेज़ी में). 2016-12-24. मूल से 15 अप्रैल 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2017-04-28.
  14. Nate Jones; Tom Blanton; Emma Sarfity, संपा॰ (March 15, 2018). "Department of State's Dissent Channel Revealed". National Security Archive. मूल से 10 जुलाई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2013-06-10.
  15. "Bangladeshi-American Foundation, Inc". मूल से 24 मार्च 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 अक्तूबर 2019.

आगे की पढाई[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]