आई एन एस अरिहंत

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Arihant.png
कैरियर (भारत) भारतीय नौसेना पताका
वर्ग और प्रकार: अरिहंत वर्ग पनडुब्बी
नाम: आई एन एस अरिहंत
निर्माता: पोत निर्माण केन्द्र (SBC), विशाखापट्टनम, Flag of India.svg भारत
जलावतरण: 26 जुलाई 2009
नाम दिया: आई एन एस अरिहंत
अजि॔त: 13 दिसंबर 2014
सेवा शुरु: अगस्त 2016
गृहपत्तन: विशाखापत्तनम
स्थिति: सेवा में
सामान्य विशेषताएँ
वर्ग और प्रकार: अरिहंत-श्रेणी की बैलिस्टिक मिसाइल पनडुब्बी
विस्थापन: सतह पर:6000 टन (अनुमानित)[1]
लम्बाई: 111 मी. (360 फुट)[2]
चौड़ाई: 15 मी. (49 फुट)[2]
खाका: 11 मी. (36 फुट)[2]
स्थापित शक्ति: 83 मेगावॉट
प्रणोदन: 83 मेगावाट दाबीकृत जल रिएक्टर 40% संवर्धित यूरेनियम ईंधन के साथ;[2] 1 टरबाइन (70 मेगावाट); 1 शाफ्ट; एक 7-ब्लेड, हाइ-स्क्यू प्रणोदक
गति:
  • जलमग्न पर: 24 नॉट[3]
  • सतह पर: 15 नॉट
पंहुच: असीमित, खाद्य आपूर्ति को छोड़कर
परीक्षित गहराई: 350 मी. (1,100 फुट) (अनुम्मन)[4]
कर्मि-मण्डल: 95–100 अधिकारी और कर्मचारी
संवेदक और
संसाधन प्रणाली:
  • USHUS सोनार
    • पंचेंद्रिय एकीकृत पनडुब्बी सोनार, नियंत्रण प्रणाली और पानी के भीतर संचार प्रणाली।[3]
आयुध:

भारतीय नौसेना पोत (आई एन एस) अरिहंत (अरि: शत्रु हंतः मारना अर्थात शत्रु को मारने वाला) परमाणु शक्ति चालित भारत की प्रथम पनडुब्बी है।[5]इस 6000 टन के पोत का निर्माण उन्नत प्रौद्योगिकी पोत (ATV) परियोजना के अंतर्गत पोत निर्माण केंद्र विशाखापत्तनम में 2.9 अरब अमेरिका डॉलर की लागत से किया गया है। इसको बनाने के बाद भारत वह छठा देश बन गया जिनके पास इस तरह की पनडुब्बियां है। अन्य पाँच देश हैं, अमेरिका (71), रूस (50), चीन (7), ब्रिटेन (6) और फ्रांस (5) (कोष्ठक में पनडुब्बियों की संख्या दी गई है)

अरिहंत का प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और उनकी पत्नी गुरशरण कौर द्वारा 26 जुलाई 2009 को जलावतरण किया गया यह दिन इसलिए भी चुना गया क्योंकि यह कारगिल युद्ध में विजय की सालगिरह भी थी और इस दिन को कारगिल विजय दिवस या विजय दिवस)[6] रूप में मनाया जाता है। भारतीय नौसेना के बेड़े मे 2011 मे शामिल होने से पहले अरिहंत को गहन बंदरगाह और समुद्री परीक्षणों से गुजरना पड़ेगा।

डिज़ाइन[संपादित करें]

आईएनएस अरिहंत भारतीय नौसेना के गोपनीय उन्नत प्रौद्योगिकी वेसल (एटीवी) परियोजना के एक भाग के रूप में डिजाइन और निर्माण की गई पनडुब्बियों की कक्षा में अपेक्षित पांच में से पहली है। अरिहंत वर्ग की पनडुब्बियां अकुला वर्ग की पनडुब्बी पर आधारित हैं।[7] उनके दल को आईएनएस चक्र पर प्रशिक्षण का अवसर दिया जायेगा। अकुला वर्ग की पनडुब्बी, भारतीय नौसेना ने रूस से पट्टे पर ली थी।[8][9] अरिहंत एडमिरल निर्मल वर्मा के अनुसार पूरी तरह से ऑपरेशनल एसएसबीएन के बजाय "एक प्रौद्योगिकी प्रदर्शक" अधिक होगी।[10]

जहाज को समृद्ध यूरेनियम ईंधन के साथ 83 मेगावाट (111,305 एचपी) के दबाव युक्त हल्के पानी रिएक्टर द्वारा संचालित किया जाएगा।[11][12] रिएक्टर का एक भूमि-आधारित प्रोटोटाइप कल्पक्कम में पहली बार बनाया गया था और सितंबर 2006 में इसे चालू किया गया था। तीन वर्षों की अवधि में सफल संचालन से डेटा प्राप्त किया जो कि अरीहंत के उत्पादन संस्करण को सक्षम करता था।[13][14] यह बताया गया था कि जनवरी 2008 में एटीवी के पतवार में एक 80 मेगावाट परमाणु रिएक्टर को एकीकृत किया गया था।[15]

जहाज के लिए पतवार को एलएंडटी के हज़ीरा जहाज निर्माण सुविधा द्वारा बनाया गया था। टाटा पावर एसएडी (स्ट्रैटेजिक इंजीनियरिंग डिवीजन) ने पनडुब्बी के लिए नियंत्रण प्रणालियां बनाई हैं वालचंदनगर उद्योग द्वारा रिएक्टर के साथ एकीकृत स्टीम टरबाइन की व्यवस्था की गयी है।[16]इस परियोजना के लिए परामर्श रूस द्वारा प्रदान किया गया था।[17] रूस ने भी भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र (बीएआरसी) के वैज्ञानिकों को परमाणु पनडुब्बी की पतवार में फिट होने के लिए रिएक्टर को छोटा करने में सहायता प्रदान करने की सूचना दी थी।[18]

अस्र-शस्र[संपादित करें]

आईएनएस अरिहंत का संकल्पनात्मक चित्रण

अरिहंत मे चार ऊर्ध्वाधर लॉन्च ट्यूब हैं, जो 12 (तीन प्रति लॉन्च ट्यूब) के-15 मिसाइलों या 4 के-4 मिसाइलों को ले सकता है। के-4 मिसाइल की सीमा 3,500 किमी (2,200 मील) है और उसके परीक्षण शुरू हो चुके है।

लॉन्च[संपादित करें]

आईएनएस अरिहंत को 26 जुलाई 2009 को एक प्रतीकात्मक लॉन्च समारोह में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की पत्नी गुरशरण कौर के साथ जनता को पेश किया गया था।[19] यह लांच कारगिल युद्ध के समापन की 10वीं वर्षगांठ के साथ हुआ [20]और इसमें ड्राई डॉक में पानी भर इसे तैराया गया। डिफेंस प्रोफेशनल डेली ने दावा किया कि अरिहंत को इसके परमाणु रिएक्टर, निगरानी उपकरण और आयुध सहित प्रमुख प्रणालियों के बिना लॉन्च किया गया था। प्रति नौसैनिक परंपरा के अनुसार, गुरशरण कौर ने विशाखापत्तनम में गुप्त नौसैनिक बस्ति 'मत्स्य' में पनडुब्बी के प्रक्षेपण को चिह्नित करने के लिए पतवार पर नारियल फोड़ा।[21] फोटोग्राफ़ी निषिद्ध थीं और पूरे पोत को दिखाए जाने वाले फोटो उपलब्ध नहीं हैं।[22][23] भीड़ को अपने संबोधन में, प्रधानमंत्री सिंह ने पनडुब्बी को एक सार्वजनिक-निजी साझेदारी के नतीजे के रूप में प्रस्तुत किया था। उन्होंने अपने संबोधन में रूस को भी धन्यवाद दिया, उन्होंने कहा, "मैं अपने रूसी मित्रों के लिए उनके सुसंगत और अमूल्य सहयोग के लिए हमारी प्रशंसा व्यक्त करना चाहूंगा, जो कि रूस के साथ करीबी रणनीतिक साझेदारी का प्रतीक है।"[24] अरिहंत के प्रक्षेपण ने एक विश्वसनीय परमाणु त्रियक (ट्राएड) निर्माण के लिए भारत के प्रयासों को मजबूत किया है -जिसमें हवा, भूमि और समुद्र से परमाणु हथियारों को फायर क्षमता शामिल है।

विकास चरण[संपादित करें]

नाम न छापने की शर्त पर, परियोजना से परिचित एक परमाणु वैज्ञानिक ने उस मीडिया कवरेज के जवाब में इस रिपोर्ट को उठाया जिसमें कहा गया कि भारत ने पूरी तरह से पूर्ण परमाणु पनडुब्बी लॉन्च की है।[25] यह भी उम्मीद थी कि भारत के भूमि आधारित रिएक्टर, सिस्टम का एकीकरण, और समुद्री परीक्षणों का दोहराव तीन से पांच वर्ष तक होने की उम्मीद है।[26]

एडमिरल वर्मा ने 7 अगस्त 2012 को संवाददाताओं से कहा कि अरिहंत के समुद्री परीक्षण आने वाले महीनों में शुरू हो रहे हैं और वह लगातार संचालन के लिए प्रगति कर रही है।[27] 27 जनवरी 2013 को, अरिहंत की प्राथमिक हथियार सागरिका ने अपना अंतिम विकास परीक्षण पूरा किया और बाद में इसे पनडुब्बी के साथ एकीकृत किया गया।[28] 10 अगस्त 2013 को, पनडुब्बी के परमाणु रिएक्टर को क्रिटिकल किया गया,[11]यह कई महीनों के सिस्टम चेक के बाद किया गया था इसमें किनारे स्थित उच्च दबाव वाले भाप का उपयोग किया गया। [15] [36] रिएक्टर की शक्ति 5 से 10% की वृद्धि में बढ़ाया गई थी जब तक कि यह पूर्ण शक्ति तक नहीं पहुंच गया।[11][29]

समुद्री और हथियार परीक्षण[संपादित करें]

13 दिसंबर 2014 को, अरिहंत, विशाखापटनम बंदरगाह के ब्रेकवेटर्स से आंशिक रूप से जलमग्न हुआ, जिसने स्वदेशी प्रौद्योगिकियों के सत्यापन में एक कदम और रखा। और अपने व्यापक समुद्री परीक्षणों के लिए बंगाल की खाड़ी के उत्तर में रवाना हुआ।[30][31][32][33] समुद्री परीक्षणों में स्वदेशी पनडुब्बी-बैलेस्टिक मिसाइलों और क्रूज मिसाइलों के परीक्षण फायर शामिल थे। जबकि इसके 100 सदस्यीय दल को रूसी विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षित किया गया है। मुंबई के बीएआरसी के भारतीय वैज्ञानिकों ने रिएक्टर के आकार को कम करने में एक महत्वपूर्ण विशेषज्ञता विकसित की ताकि इसे पनडुब्बी के 10 मीटर (33 फीट) व्यास पतवार में फिट किया जा सके। भारतीय रक्षा मंत्री के अनुसार, आईएनएस अरिहंत का समुद्री परीक्षण 2016 की पहली तिमाही में भारतीय नौसेना में शामिल होने से पहले 8 से 10 महीनों तक चलेगा।[34][35]

25 नवंबर 2015 को अरिहंत से एक नकली या निहत्थे सागरिका मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया।[36] इसके बाद पनडुब्बी पर आगे के विस्तृत समुद्री परीक्षण हुए, जो कि फरवरी 2016 की शुरुआत में पूरा हो गया था। हालांकि शुरुआत में यह अनुमान लगाया गया था कि अरिहंत को इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यू 2016 में भाग लेने के लिए समय पर नियुक्त किया जाएगा, बाद में उसकी भागीदारी सुरक्षा संबंधी चिंताओं के कारण रद्द हो गई थी। 23 फरवरी को, अरिहंत की आधिकारिक तौर पर परिचालन के लिए तैयार होने के रूप में पुष्टि की गई थी।[37]

नियुक्ति[संपादित करें]

अगस्त 2016 में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय नौसेना में आईएनएस अरिहंत को नियुक्त किया।[38][39]

ऑपरेटर[संपादित करें]

 भारत

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "India to Construct Two More Arihant Nuclear Submarines for Navy". DefenceNow. http://www.defencenow.com/news/551/india-to-construct-two-more-arihant-nuclear-submarines-for-navy.html. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  2. Subramanian, T.S. (15 August 2009). "Nuclear Arm". The Frontline 26 (17). http://www.hindu.com/fline/fl2617/stories/20090828261702500.htm. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  3. Retrieved on 2016-10-21.
  4. [1][मृत कड़ियाँ]
  5. "Arihant launched at Visakhapatnam". (रक्षा मंत्रालय की ओर से) पत्र सूचना कार्यालय, भारत सरकार. 12 जुलाई 2009. http://pib.nic.in/newsite/erelease.aspx?relid=50976. अभिगमन तिथि: 21 नवम्बर 2013. 
  6. http://www.dnaindia.com/india/report_india-reaches-milestone-with-launch-of-n-powered-submarine_1277227
  7. "SSBN Arihant Class Submarine, India". naval-technology.com. http://www.naval-technology.com/projects/arihant-class/. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  8. "Arihant – Advanced Technology Vessel (ATV)". Global Security. http://www.globalsecurity.org/military/world/india/atv.htm. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  9. "Leased Russian n-submarine to set sail for India this month end". indiatoday. 15 December 2011. http://indiatoday.intoday.in/story/leased-russian-n-submarine-to-set-sail-for-india-this-month-end/1/164449.html. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  10. Pandit, Rajat (3 December 2009). "Home-made nuke sub INS Arihant to be inducted in 2 years". The Times of India. http://articles.timesofindia.indiatimes.com/2009-12-03/india/28110779_1_ins-arihant-nuclear-powered-attack-submarines-technology-vessel. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  11. Pandit, Rajat (10 August 2013). "Reactor of India's first indigenous nuclear submarine INS Arihant goes 'critical'". The Times of India. http://timesofindia.indiatimes.com/india/Reactor-of-Indias-first-indigenous-nuclear-submarine-INS-Arihant-goes-critical/articleshow/21737816.cms. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  12. Pandit, Rajat (17 July 2009). "India set to launch nuclear-powered submarine". The Times of India. http://articles.timesofindia.indiatimes.com/2009-07-17/india/28203215_1_nuclear-powered-submarine-atv-project-ins-arihant. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  13. Subramanian, T.S. (2 August 2009). "PWR building shows indigenous capability, says Kakodkar". The Hindu (Chennai, India). Archived from the original on 8 August 2009. https://web.archive.org/web/20090808043941/http://www.hindu.com/2009/08/03/stories/2009080353810100.htm. अभिगमन तिथि: 2 August 2009. 
  14. Venkatesh, MR (2 August 2009). "Arihant propulsion reactor unveiled". Hindustan Times. http://www.hindustantimes.com/StoryPage/StoryPage.aspx?sectionName=HomePage&id=5721403d-8f66-43e2-92c4-4f3148032565&Headline=Arihant+propulsion+reactor+unveiled. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  15. "The secret undersea weapon". indiatoday. 17 January 2008. http://indiatoday.intoday.in/index.php?option=com_content&task=view&&issueid=37&id=3659&Itemid=1&page=in&latn=2. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  16. Joseph, Josy (27 July 2009). "Private sector played a major role in Arihant – India – DNA". Daily News and Analysis. http://www.dnaindia.com/india/report_private-sector-played-a-major-role-in-arihant_1277435. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  17. Bagla, Pallava (3 August 2009). "Russians helped with INS Arihant's heart: Kakodkar". NDTV. http://www.ndtv.com/article/india/russians-helped-with-ins-arihant-s-heart-kakodkar-6659. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  18. Malhotra, Jyoti (12 August 2013). "How India's pride INS Arihant was built". Business Standard. http://www.business-standard.com/article/specials/how-india-s-pride-ins-arihant-was-built-113081100745_1.html. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  19. "Wife of Indian PM launches home-made nuclear attack submarine". Xinhuanet. 26 July 2009. http://news.xinhuanet.com/english/2009-07/26/content_11775324.htm. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  20. Unnithan, Sandeep (16 July 2009). "Exclusive: PM's wife to launch INS Arihant, India's first nuclear submarine". indiatoday. http://indiatoday.intoday.in/index.php?option=com_content&task=view&id=51956&sectionid=4&secid=&Itemid=1&issueid=114. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  21. "India inducts nuke submarine into navy". The Hindu (Chennai, India). 26 July 2009. Archived from the original on 29 July 2009. https://web.archive.org/web/20090729212011/http://www.hindu.com/thehindu/holnus/000200907261621.htm. अभिगमन तिथि: 10 September 2009. 
  22. "PIB's Latest Photograph". Pib.nic.in. Archived from the original on 4 August 2009. https://web.archive.org/web/20090804105946/http://pib.nic.in/release/phsmall.asp?phid=23704. अभिगमन तिथि: 17 August 2009. 
  23. "PIB's Latest Photograph". Pib.nic.in. Archived from the original on 17 July 2011. https://web.archive.org/web/20110717071224/http://www.pib.nic.in/release/phsmall.asp?phid=23703. अभिगमन तिथि: 17 August 2009. 
  24. Singh, Harmeet Shah (26 July 2009). "India launches nuclear submarine". CNN. http://edition.cnn.com/2009/WORLD/asiapcf/07/26/india.nuclear.submarine/index.html. अभिगमन तिथि: 17 August 2009. 
  25. Jayaraman, KS (13 August 2009). "India's Nuclear Sub Doesn't Have Working Reactor Yet". Daiji World. http://www.daijiworld.com/news/news_disp.asp?n_id=64065&n_tit=India%27s+Nuclear+Sub+Doesn%27t+Have+Working+Reactor+Yet. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  26. Von Kospoth, Nicolas (28 July 2009). "India's INS Arihant Makes First Contact with Water". Defense Professionals Daily. Archived from the original on 5 September 2009. https://web.archive.org/web/20090905085745/http://www.defpro.com/daily/details/364. अभिगमन तिथि: 10 September 2009. 
  27. "India's first home-built nuclear submarine INS Arihant set for trials". 7 August 2012. http://articles.economictimes.indiatimes.com/2012-08-07/news/33083483_1_ins-arihant-nuclear-submarine-sea-trials. [मृत कड़ियाँ]
  28. Mallikarjun, Y.; Subramanian, T. S. (27 January 2013). "India successfully test-fires underwater missile". The Hindu (Chennai, India). http://www.thehindu.com/news/national/india-successfully-testfires-underwater-missile/article4350553.ece. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  29. "Arihant achieves criticality when the boat was "already in the sea"". Jagran Josh. 11 August 2013. http://www.jagranjosh.com/current-affairs/nuclear-reactor-of-ins-arihant-achieved-criticality-when-the-boat-was-in-the-sea-1376214166-1. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  30. "India's nuclear submarine Arihant flagged off for sea trials". Economic Times. 13 December 2014. http://economictimes.indiatimes.com/news/politics-and-nation/indias-nuclear-submarine-arihant-flagged-off-for-sea-trials/articleshow/45526418.cms. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  31. Subrahmanyam, G.S. (13 December 2014). "INS Arihant sails out of harbour". The Hindu. http://www.thehindu.com/news/cities/Visakhapatnam/ins-arihant-sails-out-of-harbour/article6693951.ece?homepage=true. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  32. "India's first nuclear-powered Submarine INS Arihant will head out for sea trials by Year-end". IANS. 2 November 2014. http://defenceradar.com/2014/11/02/indias-first-nuclear-powered-submarine-ins-arihant-will-head-out-for-sea-trials-by-year-end/. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  33. "Agni-5, INS Arihant to be ready for induction next year". livemint.com. 7 February 2014. http://www.livemint.com/Politics/7k215HpGXMgLSWbBNviaDI/Agni5-INS-Arihant-to-be-ready-for-induction-next-year.html. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  34. Ojha, Anjali (2 November 2014). "Indigenous nuclear-armed submarine INS Arihant's sea trials by year-end". The Economic Times. http://economictimes.indiatimes.com/news/politics-and-nation/indigenous-nuclear-armed-submarine-ins-arihants-sea-trials-by-year-end/articleshow/45012740.cms. अभिगमन तिथि: 2 June 2015. 
  35. Ojha, Anjali (18 October 2015). "Indian Navy keen on fielding indigenous nuclear-powered submarine at international fleet review". The Economic Times. http://economictimes.indiatimes.com/news/defence/indian-navy-keen-on-fielding-indigenous-nuclear-powered-submarine-at-international-fleet-review/articleshow/49440094.cms. अभिगमन तिथि: 18 October 2015. 
  36. Luthra, Gulshan (26 November 2015). "Nuclear capable Arihant submarine successfully test-fires unarmed missile". The Economic Times. http://economictimes.indiatimes.com/articleshow/49935508.cms?utm_source=contentofinterest&utm_medium=text&utm_campaign=cppst. अभिगमन तिथि: 26 November 2015. 
  37. "India's first nuclear submarine INS Arihant ready or operations, passes deep sea tests - The Economic Times". http://economictimes.indiatimes.com/news/defence/indias-first-nuclear-submarine-ins-arihant-ready-for-operations-passes-deep-sea-tests/articleshow/51098650.cms. 
  38. "Now, India has a nuclear triad". http://www.thehindu.com/news/national/now-india-has-a-nuclear-triad/article9231307.ece. 
  39. Singh, Ashish (17 October 2016). "NewsX Exclusive: India completes 'nuclear triad' with INS Arihant". NewsX. http://www.newsx.com/national/43962-newsx-exclusive-india-completes-nuclear-triad-with-ins-arihant. अभिगमन तिथि: 17 October 2016. 

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]