अफ़्रीका में धर्म

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
माली का एक मस्जिद

अफ़्रीका में धर्म बहुआयामी हैं। अधिकांश लोग या तो इस्लाम को मानते हैं या ईसाई धर्म को। इस्लाम और ईसाई धर्म मेंअफ़्रीकी लोग विभिन्न प्रकार की धार्मिक मान्यताओं को स्वीकार करते हैं [1] और इनके धार्मिक आस्था के अंकड़े एकत्र कर पाना बहुत ही मुश्किल है, क्योंकि ये कई आस्थाओं वाली मिश्रित जनसंख्या की सरकारों के लिए बहुत ही संवेदनशील विषय होता है।[2] वर्ल्ड बुक विश्वकोष के अनुसार अफ़्रीका का सबसे बड़ा मान्य धर्म इस्लाम है। इसके बाद यहां ईसाई आते हैं। ब्रिटैनिका विश्वकोष के अनुसार यहां की कुल जनसंख्या का ४५% भाग मुस्लिम और ४०% ईसाई लोग हैं। १५% से कम लोग या तो नास्तिक हैं, या अफ़्रीकी धर्मों को मानने वाले हैं। एक बहुत ही छोटा प्रतिशत हिन्दुओं, बहाई लोगों और यहूदियों को जाता है। यहूदियों के क्षेत्र यहां बीटा इज़्राइल, लेम्बा लोग और पूर्वी युगांडा के अबयुदय हैं।

अफ़्रीका में धार्मिक अवलंबन (२००६ के अनुमान)[3]
क्षेत्र कुल जनसंख्या (२००६)  % ईसाई  % मुस्लिम  % पारंपरिक  % हिन्दू  % बहा’ई  % यहूदी  % कोई धर्म नहीं  % नास्तिक
मध्य अफ्रीका 81.3% ९.६% ८.०% ०.१% ०.४% ०.०% ०.६% ०.०%
पूर्वी अफ्रीका ३०२,६३६,५३३ ६२.०% २१.१% १५.६% ०.५% ०.४% ०.०% ०.३% ०.०%
उत्तरी अफ्रीका २०९,९४८,३९६ ९.०% ८७.६% २.२% ०.०% ०.०% ०.०% १.१% ०.१%
दक्षिणी अफ्रीका ५०,६१९,९९८ ८२.०% २.२% ९.७% २.१% ०.७% ०.१% २.७% ०.३%
पश्चिमी अफ्रीका २७४,२७१,१४५ ५९.१% २१.९% ०.०% ०.०% ०.०% ०.०% ०.३% ०.०%
धर्म कुल जनसंख्या  % ईसाई  % मुस्लिम  % पारंपरिक  % हिन्दू  % बहा’ई  % यहूदी  % कोई धर्म नहीं  % नास्तिक

यहां एक प्रकार की स्पर्धा चलती रहती है, कि कौन बड़ा है। किंतु यहां के बहुत से लोग दोनों ही धर्मों का एकसाथ पालन करते हुए चलते हैं, और साथ ही यहां के पारंपरिक अफ़्रीकी धर्मों को भी मानते हैं। यहां के पारम्परिक धर्म लोक-संस्कृति पर आधारित हैं।

अब्राहमिक धर्म[संपादित करें]

अफ़्रीकी बहुमत अब्राहमिक धर्म मानता है: इस्लाम एवं ईसाई। दोनों ही अफ़्रीका पर्यन्त फैले हुए हैं। २००० के आंकड़ों के अनुसार यहां ४५% जनसंख्या ईसाई एवं ४०.६% जनसंख्या मुस्लिम है।

ईसाइ धर्म[संपादित करें]

ईसाई धर्म यहां राजा एज़ाना के एक्ज़म राज्य का शाही धर्म ३३० ई में घोषित हुआ था। इथियोपिया में प्रथम शताब्दी में आया। यूरोपियाई सेलर, फ़्रुमेन्टियस ४३० ई में इथियोपिया आया, तब उसका स्वागत वहां के शासकों ने किया, जो इसाई नहीं थे। उसके अनुसार दस वर्ष बाद राजा सहित पूरी प्रजा ने ईसाई धर्म ग्रहण किया व राजधर्म घोषित हुआ।

इस्लाम[संपादित करें]

इस्लाम के अनुयायी पूरे महाद्वीप में फैले हुए हैं। इस धर्म की जड़ें पैगम्बर मुहम्मद के समय तक जाती हैं, जब उनके संबंधी एवं अनुयायी एबेसिनिया में पैगन अरब लोगों से अपनी जान बचाने आये थे। इस्लाम अफ़्रीका में सिनाई प्रायद्वीप एवं मिस्र के रास्ते आया। इसका पूर्ण सहयोग इस्लामिक अरब एवं फारसी व्यापारियों एवं नाविकों ने किया। इस्लाम उत्तरी अफ़्रीका एवं अफ़्रीका के सींग में प्रधान धर्म है। पश्चिमी अफ़्रीका के आंतरिक भागों एवं तटीय क्षेत्रों में और पूर्वी अफ़्रीका के तटीय क्षेत्रों में भी यह ऐतिहासिक एवं प्रधान धर्म है। यहां बहुत से मुस्लिम साम्राज्य रहे हैं। इस्लाम की द्रुत-प्रगति बीसवीं एवं इक्कीसवीं शताब्दियों तक होती आयी है। न्यू यॉर्क टाइम्स के अनुसार ईसाई धर्म यहां एक अन्यदेशी धर्म ही रहा है।

यहूदी[संपादित करें]

यहूदी धर्म के लोग भी अफ़्रीका पर्यन्त फैले हुए मिलेंगे। बाहरी लोगों को अफ़्रीका में ईसाई एवं इस्लाम धर्मों के इतिहास जैसा नहीं प्रतीत होने पर भी यहूदी धर्म की यहां प्राचीन एवं समृद्ध इतिहास है। आज यहां कई देशों में यहूदी समुदाय हैं, जिनमें इथियोपिया के बीटा इज़्रायल, युगांडा के अब्युदय, घाना के हाउस ऑफ़ इज़्राइल, नाइजीरिया के इगबो यहूदी एवं दक्षिणी अफ़्रीका के लेम्बा लोग मुख्य हैं।

हिन्दू धर्म[संपादित करें]

इस्लाम, ईसाई एवं यहूदियों की अपेक्षा हिन्दू धर्म का इतिहास यहां अत्यन्त लघु है। हालांकि इसके अनुयाइयों की उपस्थिति यहां साम्राज्यवाद-काल से बहुत पहले, बल्कि मध्यकाल से ही रही है। दक्षिण अफ़्रीका एवं पूर्व अफ़्रीकी तटीय देशों में हिन्दू जनसंख्या उल्लेखनीय रही है।

पारम्परिक धर्म[संपादित करें]

पारम्परिक अफ़्रीकी धर्मों में ढेरों मान्यताएं और विश्वास प्रचलित हैं। ये कई अफ़्रीकी समाजों द्वारा माने जाते रहे हैं, किंतु खास जाति विशेष के लिए ये खास होते हैं। कई परिवर्तन किये हुए मुस्लिम एवं ईसाई लोग इन मान्यताओं को अभी भी मानते हैं। पश्चिम अफ़्रीका के बहुत से पारंपरिक मतों में से कुछ यहां दिए हुए हैं। ये बेनिन, नाइजीरिया, घाना आदि में प्रचलित हैं।

लेगबा, सांगो, एबोह, आदि

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "इंटरनेट पर अफ़्रीकी धर्म ", स्टैनफ़ोर्ड विश्वविद्यालय
  2. ओनिशी, नोरमित्सु (१ नवंबर, २००१). "राइज़िंग मुस्लिम पावर इन अफ़्रीका कॉज़ेज़ अनरेस्ट इन नाइजीरिया एण्ड एल्स्व्हेयर". द न्यू यॉर्क टाइम्स कंपनी. http://query.nytimes.com/gst/fullpage.html?res=9C00EEDC1030F932A35752C1A9679C8B63&sec=&spon=&pagewanted=1. अभिगमन तिथि: १ मार्च, २००९. 
  3. द असोसियेशन ऑफ रिलीजियस डाटा आर्कीव्स, सोशियोलॉजी विभाग, पेन्निसिल्वेनिया विश्वविद्यालय. २००६ क्षेत्रीय आंकड़े ये धर्म सं.राष्ट्र के मानक नहीं हैं। उदा० पूर्वी अफ़्रिका में पूर्वी अफ्रीका के अधिकांश राष्ट्र हैं, साथ ही ज़िम्बाब्वे, [[मैडागास्कर, मोजाम्बीक और जाम्बिया भी हैं। अंगोला को मध्य अफ़्रीका में डाला हुआ है और यहां दक्षिणी अफ़्रीका, संरा. के दक्षिणी अफ़्रीका से बहुत छोटा है। जनसंख्या के आंकडए धार्मिक आस्था का प्रतिशत हैं, एवं विभिन्न स्रोतों से लेकर ए.आर.डी.ए. द्वारा एकसाथ मिलाए गए हैं।