अग्नि साक्षी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अग्नि साक्षी
अग्नि साक्षी.jpg
अग्नि साक्षी का पोस्टर
निर्देशक पार्थो घोष
निर्माता बिन्दा ठाकरे
लेखक हृदय लानी
रणबीर पुष्प
अभिनेता नाना पाटेकर,
मनीषा कोइराला,
जैकी श्रॉफ,
दिव्या दत्ता,
आलोक नाथ,
रवि बहल
संगीतकार नदीम श्रवण
प्रदर्शन तिथि(याँ) 15 मार्च, 1996
देश भारत
भाषा हिन्दी

अग्नि साक्षी 1996 में बनी हिन्दी भाषा की नाटक फिल्म है। इसका निर्देशन पार्थो घोष ने किया और मुख्य भूमिका में जैकी श्रॉफ, नाना पाटेकर और मनीषा कोइराला हैं। इस फिल्म के आस पास ही याराना और दरार जारी हुई थी जो क्रमशः माधुरी दीक्षित और जूही चावला द्वारा अभिनीत थीं। ये तीनों जूलिया राबर्ट्स अभिनीत स्लीपिंग विद द एनीमी पर आधारित थीं और अग्नि साक्षी सफलतम साबित हुई थी। नाना पाटेकर ने इस फिल्म के लिये 1997 में सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिये राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार प्राप्त किया था।[1]

संक्षेप[संपादित करें]

सूरज कपूर (जैकी श्रॉफ) एक अकेला और अमीर युवा व्यक्ति है। एक दिन वह शिवांगी (मनीषा कोइराला) के मिलता है और दोनों एक दूसरे के साथ प्यार में पड़ते हैं। इसके तुरंत बाद दोनों शादीशुदा विवाहित जीवन का आनंद लेने के लिए विवाह कर लेते हैं और बस जाते हैं। एक रात में भोजन करते समय, जोड़े को एक पुरुष विश्वनाथ (नाना पाटेकर) संपर्क करता है, जो दावा करता है कि शिवांगी उसकी पत्नी मधु है। सूरज और शिवांगी चौंक गए और उन्हें छोड़ने के लिए कहा, जो वह करता है। लेकिन अगले दिन यह पुरुष, पुलिस और अदालतों की सहायता से साबित करता है कि शिवांगी वास्तव में उसकी पत्नी मधु, है। सूरज ने विश्वास करने से इंकार कर दिया और शहर को अपनी पत्नी के साथ छोड़ने का फैसला किया। लेकिन यह जोड़ा कई अन्य अवसरों पर विश्वनाथ से मिलता है जहां उसका रवैया आक्रामक बन गया। वह मानती है कि वह वास्तव में मधु है। मधु विश्वनाथ के निरंतर दुर्व्यवहार और मनमानी से तंग आ गई थी। मधु के पिता ने उसे बताया कि वह अभी भी जवान है और उसके आगे पूरा जीवन है। उसे एक नई जगह में एक नई पहचान के साथ अपने जीवन को फिर से शुरू करना चाहिए। ऐसा वह करती है। उसकी कहानी सुनने के बाद सूरज ने उसे बताया कि वह अभी भी उससे प्यार करता है। वह उसके जीवन के बाकी हिस्सों के लिए विश्वनाथ को जेल भेजने की योजना बनाता है।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

सभी गीत समीर द्वारा लिखित; सारा संगीत नदीम-श्रवण द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."ओ पिया ओ पिया"बाबुल सुप्रियो, कविता कृष्णमूर्ति6:01
2."तू मेरी गुलफाम है"कुमार सानु, कविता कृष्णमूर्ति5:35
3."ओ यारा दिल लगाना"कविता कृष्णमूर्ति4:34
4."वादा करो दिल से"जॉली मुखर्जी, कविता कृष्णमूर्ति6:06
5."मेरे कलेजे से"सोनू निगम, अलका याज्ञनिक6:00
6."मुझको दिलबर यार"विनोद राठोड़, अलीशा चिनॉय6:21

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

वर्ष नामित कार्य पुरस्कार परिणाम
1997 बिन्दा ठाकरे फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म पुरस्कार नामित
पार्थो घोष फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ निर्देशक पुरस्कार नामित
नाना पाटेकर फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार नामित
जैकी श्रॉफ फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता पुरस्कार नामित
कविता कृष्णमूर्ति ("ओ यारा दिल लगाना ") फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ पार्श्व गायिका पुरस्कार नामित

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "बीमारी के बावजूद इस रीमेक फिल्म का ऑफर ठुकरा ना पाए इरफान खान, निभाएंगे सनकी पति का रोल". अमर उजाला. 14 मार्च 2018. अभिगमन तिथि 7 अगस्त 2018.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]