ज़िथर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
एक ज़िथर
ज़िथर की ध्वनि सुनिए

ज़िथर (zither) एक तंतुवाद्य (तारों वाला संगीत वाद्य) होता है जो स्लोवीनिया, ऑस्ट्रिया, हंगरी, पश्चिमोत्तरी क्रोएशिया, दक्षिणी जर्मनी, मध्य यूरोप के ऐल्प पर्वत क्षेत्र, भारत, चीन व अन्य पूर्व एशियाई इलाक़ों में प्रचलित है। ज़िथर की तारें इसके गूंजने वाले ध्वनि डब्बे से आगे नहीं जाती जबकी सितार की तारें उसके ध्वनि-घड़े से आगे उसकी लम्बी तनी तक जाती हैं। ज़िथरों के कई विविध रूप होते हैं।[1] कुछ ज़िथरों में परदे (फ़्रेट) होते हैं और कुछ में नहीं।[2] भारत की विचित्र वीणा भी एक प्रकार का बिना-परदों वाला ज़िथर है।[2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. The Tribal Living Book, David Levinson, David Sherwood, Johnson Books, 1984, ISBN 9780933472846, ... A zither is a musical instrument with a string or strings running along the entire length of a sounding board which acts as a resonator. Zithers can be very simple or quite elaborate ...
  2. Sruti, Issues 136-147, P.N. Sundaresan, 1996, ... Zithers are instruments wherein there is a fingerboard with strings, fretted or fretless, and, most important, the resonator being fixed below it. The vichitra veena is a fretless zither played by Hindustani musicians ...

श्रेणी:संगीत