जड़त्वीय निर्देश तंत्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
चिरसम्मत यांत्रिकी
\mathbf{F} = m \mathbf{a}
न्यूटन का गति का द्वितीय नियम
इतिहास · समयरेखा
इस संदूक को: देखें  संवाद  संपादन

भौतिकी में जड़त्वीय निर्देश तंत्र एक निर्देश तंत्र है जो समय और स्थान को सामांगिकता, समदैशिकता और समय से स्वतंत्र रूप से वर्णन करता है। सारे जड़त्वीय निर्देश तंत्र एक दूसरे से परस्पर सरल रेखीय और एकसामान दर की गति में होते हैं; वह त्वरित नहीं होते हैं मतलब की त्वरणमापी यन्त्र अगर इनमे स्थिर रखा जाये तो वह शून्य त्वरण मापेगा।

सन्दर्भ[संपादित करें]