2019 बालाकोट हवाई हमला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
2019 बालाकोट हवाई हमला
2019 भारत-पाकिस्तान गतिरोध का भाग
तिथि 26 फ़रवरी 2019 (2019-02-26)
स्थान बालाकोट, पाकिस्तान[1][2]
34°27′48″N 73°19′08″E / 34.46333°N 73.31889°E / 34.46333; 73.31889निर्देशांक: 34°27′48″N 73°19′08″E / 34.46333°N 73.31889°E / 34.46333; 73.31889
परिणाम बालाकोट में जेईएम आतंकी प्रशिक्षण शिविर का विनाश।[3][4] (भारतीय दावा)
कोई हताहत या नुकसान नहीं। (पाकिस्तानी दावा)
योद्धा
Flag of India.svg भारत Jaishi-e-Mohammed.svg जैश-ए-मोहम्मद Flag of Pakistan.svg पाकिस्तान
सेनानायक
एयर चीफ़ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ
(सीएएस)
एयर मार्शल चंद्रशेखरन हरि कुमार
(एओसी-इन-सी, पश्चिमी वायु कमान)
मौलाना यूसुफ़ अज़हर
(भारतीय दावा)[5]
एयर चीफ़ मार्शल मुजाहिद अनवर ख़ान
शक्ति/क्षमता
12 मिराज 2000 लड़ाकू विमान अज्ञात अज्ञात
मृत्यु एवं हानि
अज्ञात अज्ञात अज्ञात

26 फरवरी 2019 को, भारतीय वायु सेना के 12 मिराज 2000 जेट्स ने नियंत्रण रेखा पार की और बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद संचालित आतंकवादी शिविर पर हमला किया।[6] भारतीय मीडिया ने बताया कि इस ऑपरेशन के दौरान लगभग 200 - 300 आतंकवादी मारे गए।[7]

पाकिस्तान ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि भारतीय सैन्य विमानों ने मुजफ्फराबाद के पास उनके हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया और "एक पेलोड जारी किया" जो बालाकोट के पास उतरा। इसके बाद, पाकिस्तान ने अपने स्वयं के जेट विमानों को तैयार करके भेजा लेकिन स्थिति में कोई हताहत या नुकसान नहीं हुआ।[8]

पृष्ठभूमि[संपादित करें]

14 फरवरी 2019 को, जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुरक्षा कर्मियों को ले जाने वाले वाहनों के एक काफिले पर भारत के पुलवामा जिले के लेथपोरा (अवंतीपोरा के पास) में एक वाहन-जनित आत्मघाती हमलावर ने हमला किया। इस हमले में 46 केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों और हमलावर की मौत हो गई। इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान स्थित इस्लामिक आतंकवादी समूह जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी।[9][10][11]

हमला[संपादित करें]

भारतीय संस्करण[संपादित करें]

26 फरवरी 2019 को, भारतीय वायु सेना के बारह मिराज 2000 जेट्स ने नियंत्रण रेखा पार की और बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद संचालित आतंकवादी शिविर पर हमला किया। भारतीय विदेश सचिव ने हवाई हमला को "गैर-सैन्य, पूर्वव्यापी हवाई हमला" कहा।[6]

भारतीय मीडिया ने बताया कि इस ऑपरेशन के दौरान लगभग 200 - 300 आतंकवादी मारे गए।[12]

पाकिस्तानी संस्करण[संपादित करें]

पाकिस्तान की रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय सैन्य विमानों ने मुजफ्फराबाद के पास उनके हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया और "एक पेलोड जारी किया" जो बालाकोट के पास उतरा। इसके बाद, पाकिस्तान ने अपने स्वयं के जेट विमानों को तैयार करके भेजा लेकिन स्थिति में कोई हताहत या नुकसान नहीं हुआ।[13][8]

वक्तव्य[संपादित करें]

भारत[संपादित करें]

विजय गोखले (भारतीय विदेश सचिव): विश्वसनीय खुफिया जानकारी मिली थी कि जैश-ए-मोहम्मद देश के विभिन्न हिस्सों में एक और आत्मघाती आतंकी हमले की कोशिश कर रहा था और फिदायीन जिहादियों को इसके लिए प्रशिक्षित किया जा रहा था। आज सुबह के शुरुआती घंटों में एक खुफिया ऑपरेशन चलाया गया जिसमें भारत ने बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर हमला किया। इस ऑपरेशन में, बालाकोट में सबसे बड़े जैश-ए-मोहम्मद शिविर में बहुत बड़ी संख्या में जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादियों, प्रशिक्षकों, वरिष्ठ कमांडर और जिहादियों का सफाया कर दिया गया। शिविर का नेतृत्व मौलाना यूसुफ अजहर उर्फ उस्ताद गौरी कर रहा था जो जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर का रिश्तेदार था।[14]

पाकिस्तान[संपादित करें]

मेजर जनरल आसिफ गफूर (पाकिस्तान सशस्त्र बलों के प्रवक्ता): आजाद जम्मू-कश्मीर के भीतर मुजफ्फराबाद सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पार भारतीय विमान की घुसपैठ 3-4 मील अंदर तक हुई थी। मजबूरन जल्दबाजी में भारतीय विमान ने पेलोड को जल्द ही जारी कर दिया जिससे वह खुले क्षेत्र में मुक्त रूप से गिर गया था। इस पेलोड से कोई बुनियादी ढांचे को चोट नहीं लगी और ना ही कोई हताहत हुआ।[15][16]

शाह महमूद कुरैशी (विदेश मंत्रालय, पाकिस्तान): हम दुनिया को बता रहे थे कि भारत के ऐसा करने की संभावना (पाकिस्तान में हवाई हमला) हैं। आज उन्होंने यह कर दिखाया है। हम एक उचित प्रतिक्रिया देने के लिए अपना अधिकार रखते हैं। हमें आत्मरक्षा का अधिकार है।[17]

परिणाम[संपादित करें]

भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान वायु सेना द्वारा किसी भी संभावित कार्रवाई का जवाब देने के लिए अंतर्राष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा के साथ सभी हवाई रक्षा प्रणालियों को हाई अलर्ट पर रखा।[18]

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सुरक्षा स्थिति पर चर्चा करने के लिए इस्लामाबाद, पाकिस्तान में एक आपातकालीन बैठक बुलाई।[19]

उसी दिन, भारत-पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास एक पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया गया था और इसका मलबा गुजरात के कच्छ जिले के अब्दसा तालुका के एक गांव नंगाटाड में मिला था।[20]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "India destroys JeM terror camps: Where exactly is Balakot?". Business Today. अभिगमन तिथि 26 February 2019.
  2. "India-Pakistan tension: Where is the real Balakot, the Indian Air Force target?". Gulf News (अंग्रेज़ी में). मूल से 26 February 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 February 2019.
  3. "5-star Balakot Camp Was Sitting Duck Target for IAF, 350 Terrorists Killed While Sleeping: Sources". मूल से 26 February 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 26 February 2019.
  4. "Balakot strike after intel on Pulwama 'celebration' meet". अभिगमन तिथि 26 February 2019.
  5. "Jaish chief Masood Azhar's brother-in-law was target of IAF strike in Balakot". Hindustan Times. मूल से 26 February 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 February 2019.
  6. "India Hits Main Jaish Camp In Balakot, "Non-Military" Strike: Government". NDTV.com. अभिगमन तिथि 2019-02-26.
  7. "Indian jets bomb targets within Pakistan". www.news.com.au. अभिगमन तिथि 2019-02-26.
  8. "India says carried out air strike on 'terror camps' inside Pakistan". Reuters (अंग्रेज़ी में). 26 February 2019. अभिगमन तिथि 26 February 2019.
  9. "Pulwama attack: India will 'completely isolate' Pakistan". BBC (अंग्रेज़ी में). 16 February 2019. अभिगमन तिथि 16 February 2019.
  10. "Jaish terrorists attack CRPF convoy in Kashmir, kill at least 38 personnel". The Times of India. 15 February 2019. अभिगमन तिथि 15 February 2019.
  11. Pulwama Attack 2019, everything about J&K terror attack on CRPF by terrorist Adil Ahmed Dar, Jaish-eMohammad, India Today, 16 February 2019.
  12. "IAF jets strike and destroy Jaish camp across LoC, 200 killed: Sources" (अंग्रेज़ी में). 26 February 2019. अभिगमन तिथि 26 February 2019.
  13. Dawn.com (2019-02-26). "Indian aircraft violate LoC, scramble back after PAF's timely response: ISPR". DAWN.COM (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2019-02-26.
  14. "एयर स्ट्राइक में मारा गया जैश सरगना मसूद अजहर का साला यूसुफ अजहर!". आज तक. 26 फरवरी 2019. अभिगमन तिथि 26 फरवरी 2019.
  15. Ghafoor, Maj Gen Asif (2019-02-25). "Indian aircrafts' intrusion across LOC in Muzafarabad Sector within AJ&K was 3-4 miles.Under forced hasty withdrawal aircrafts released payload which had free fall in open area. No infrastructure got hit, no casualties. Technical details and other important information to follow". @OfficialDGISPR (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2019-02-26.
  16. Ghafoor, Maj Gen Asif (2019-02-25). "Indian aircrafts intruded from Muzafarabad sector. Facing timely and effective response from Pakistan Air Force released payload in haste while escaping which fell near Balakot. No casualties or damage". @OfficialDGISPR (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2019-02-26.
  17. PTI (2019-02-25). "Minister of Foreign Affairs Shah Mahmood Qureshi Policy Statement after the violation of LOC by Indian Air Force (26.02.19) @SMQureshiPTIpic.twitter.com/tduq8rpXd8". @PTIofficial (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2019-02-26. |title= में 124 स्थान पर line feed character (मदद)
  18. ANI (2019-02-25). "Indian Air Force has put on high alert all air defence systems along the international border and LoC to respond to any possible action by Pakistan Air Force.pic.twitter.com/9GER7eqGPf". @ANI (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2019-02-26.
  19. ANI (2019-02-25). "Radio Pakistan: Pakistan Foreign Minister Shah Mahmood Qureshi has summoned an emergency meeting in Islamabad, Pakistan. The meeting will discuss the security situation. (File pic)pic.twitter.com/G2pPKna28u". @ANI (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2019-02-26.
  20. "Pak drone shot down near Gujarat border". The Hindu (अंग्रेज़ी में). 26 February 2019. अभिगमन तिथि 26 February 2019.