हैलो ब्रदर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
हैलो ब्रदर
हैलो ब्रदर.jpg
हैलो ब्रदर का पोस्टर
निर्देशक सुहेल ख़ान
निर्माता सुहेल ख़ान
बंटी वालिया
लेखक सुहेल ख़ान
अभिनेता सलमान ख़ान,
अरबाज़ ख़ान,
रानी मुखर्जी,
जॉनी लीवर,
शक्ति कपूर
संगीतकार हिमेश रेशमिया
साजिद-वाजिद
प्रदर्शन तिथि(याँ) 10 सितम्बर, 1999
देश भारत
भाषा हिन्दी

हैलो ब्रदर 1999 में बनी हिन्दी भाषा की हास्य फ़िल्म है। प्रमुख भूमिकाओं में सलमान ख़ान और रानी मुखर्जी हैं। इसका निर्देशन सलमान के भाई सुहेल ख़ान ने किया।

संक्षेप[संपादित करें]

हीरो (सलमान ख़ान) खन्ना (शक्ति कपूर) के स्वामित्व वाली एक कूरियर कंपनी के लिए काम करता है। वह उत्साहित और विनोदपूर्ण है और रानी (रानी मुखर्जी) से प्यार करता है, लेकिन वह हीरो को बस बहुत अच्छे दोस्त के रूप में सोचती है। इंस्पेक्टर विशाल (अरबाज़ ख़ान) आता है, जो नशीले पदार्थ विभाग में काम करता है। विशाल खन्ना को नशीली दवा के कारोबार में शामिल होना संदिग्ध मानता है और उससे सवाल करता है। हीरो विशाल का मुकाबला करता है और अपने मालिक का बचाव करता है, लेकिन जल्द ही खन्ना के पीछे सच्चाई जान जाता है। टकराव में, खन्ना ने हीरो को मार दिया और विशाल के दिल में गोली मार दी। पुलिस विभाग ने विशाल के शरीर में हीरो के दिल को प्रत्यारोपित करने का फैसला किया। हीरो अब भूत के रूप में प्रकट होता है और उसे केवल विशाल द्वारा देखा जा सकता है, क्योंकि उसका दिल विशाल के शरीर में है। हीरो का कहना है कि खन्ना की हत्या के बाद ही उसे शांति मिलेगी, इस प्रकार उसे बदला लेना है। विशाल ऐसा करने का फैसला करता है, ऐसे रानी और विशाल एक दूसरे के साथ प्यार में पड़ने लगते हैं। हीरो इसे नापसंद करता है और रानी के पास आने की विशाल की योजनाओं को असफल करने की कोशिश करता है। लेकिन विशाल के खन्ना की दवा कंपनी से मुकाबला करने के बाद हीरो और विशाल ने एक साथ मिलकर काम करना शुरू कर दिया।

खन्ना ने देश छोड़ने की व्यवस्था की, लेकिन रानी का अपहरण कर लिया। विशाल और हीरो रानी को बचाने और खन्ना के गुंडो से लड़ने के लिए जाते हैं, लेकिन विशाल घायल हो जाता है। फिर हीरो उसके अंदर जाता है और उसकी लड़ाई की चालों को नियंत्रित करता है, जिससे उसे ठगों को मारने में मदद मिलती है। रानी इस पर ध्यान देती है और महसूस करती है कि केवल हीरो ही इस तरह की चाल करेगा। उसने हीरो का नाम बुलाया, हालांकि विशाल को पता नहीं था कि हीरो उसके अंदर है। तब रानी ने विशाल को चेतावनी दी कि एक विमान उसके पीछे बढ़ रहा है। विशाल और हीरो विमान को रोकते हैं, जिसमें खन्ना है, और उसके बाद उसका सामना करते हैं। विशाल का हीरो से बात करते हुए ध्यान भटक जाता है और खन्ना को विशाल को गोली मारने का मौका मिलता है। हीरो विशाल का पकड़ लेता है और बंदूक के साथ खन्ना को गोली मारता है।

अंत में खन्ना मर जाता है और जैसे ही रानी विशाल को सांत्वना दे रही होती है, वह उसे बताता है कि हीरो उनके साथ है और वह रानी से प्यार करता है। तब रानी ने विशाल को हीरो को यह बताने के लिए कहा कि वह उससे प्यार करती है। खन्ना का भूत अपने मृत शरीर से निकलता है और हीरो उसे मारता है। खन्ना को नरक में ले जाया जाता है और हीरो को स्वर्ग में ले जाया जाता है।

इसके बाद, रानी और विशाल ने शादी कर ली और पानी पर एक घर में अपनी शादी की रात और हनीमून मना रहे हैं। यह दिखाया गया है कि हीरो, अब देवदूत के रूप में स्वर्ग से खुशी से देख रहा है।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

Untitled

फ़िल्म में संगीत हिमेश रेशमिया तथा साजिद-वाजिद ने दिया है, जबकि गीत जलीस शेरवानी, सुधाकर शर्मा तथा फैज़ अनवर ने लिखे हैं। कुल 10 गीतों वाली फिल्म की संगीत एल्बम को टिप्स द्वारा 10 सितंबर 1999 को जारी किया गया था।[1]

गीत सूची
क्र॰शीर्षकगीतकारसंगीतकारगायकअवधि
1."चुपके से कोई"फैज़ अनवरसाजिद-वाजिदअलका याज्ञनिक, उदित नारायण5:45
2."तेरी चुनरिया"सुधाकर शर्माहिमेश रेशमियाकुमार सानु, अलका याज्ञनिक5:56
3."हटा सावन की घटा"फैज़ अनवरसाजिद-वाजिदबाबुल सुप्रियो, जसपिंदर नरूला4:28
4."हेलो ब्रदर"फैज़ अनवरसाजिद-वाजिदसोनू निगम, कमाल खान, जसपिंदर नरूला5:26
5."चांदी की डाल पर"सुधाकर शर्माहिमेश रेशमियासलमान खान, अलका याज्ञनिक6:07
6."एरिया का हीरो"जलीस शेरवानीसाजिद-वाजिदसोनू निगम, हेमा सरदेसाई4:22
7."चुपके से कोई (रीमिक्स)"फैज़ अनवरसाजिद-वाजिदअलका याज्ञनिक, उदित नारायण5:30
8."तेरी चुनरिया (रीमिक्स)"सुधाकर शर्माहिमेश रेशमियाअलका याज्ञनिक, कुमार सानु4:52
9."हटा सावन की घटा (रीमिक्स)"फैज़ अनवरसाजिद-वाजिदबाबुल सुप्रियो, जसपिंदर नरूला3:59
10."हेलो ब्रदर (रीमिक्स)"फैज़ अनवरसाजिद-वाजिदजसपिंदर नरूला, सोनू निगम, कमाल खान4:58

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]