सिरोही

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
सिरोही
—  नगर  —
सिरोही is located in राजस्थान
सिरोही
राजस्थान में सिरोही की स्थिति
निर्देशांक : 24°53′06″N 72°51′45″E / 24.885°N 72.8625°E / 24.885; 72.8625निर्देशांक: 24°53′06″N 72°51′45″E / 24.885°N 72.8625°E / 24.885; 72.8625
Country Flag of India.svg India
State Rajasthan
District Sirohi
Founded aft. 1450
क्षेत्र
 • कुल 5,179
ऊँचाई 321
जनसंख्या (2012)
 • कुल 8,51,107
 • घनत्व 164
Languages
 • Official Hindi
 • Local Rajasthani
समय मण्डल IST (यूटीसी +5:30)
PIN 307001
Telephone code 02972
वाहन पंजीकरण RJ 24
जालस्थल http://sirohi.rajasthan.gov.in/

सिरोही राजस्थान प्रान्त का एक शहर है। सिरोही जिले में हाथल गाँव में श्री ब्रह्माजी का १३५० वर्ष पुराना मंदिर है। इस मन्दिर का जीर्णोद्धार हो रहा हे।

सिरोही- सिर और ओही का मतलब है सिर काटने कि हिम्मत रखने वाले। गुजराती के महान लेखक झवेरचन्द मेघाणी ने अपनी किताब सोराष्ट्र नी रसधार में लिखा है सिरोही की तलवार और लाहौर कि कटार। कहते हैं कि सिरोही में ऐसी तलवार बनती थी जिसको पानी के प्रपात से तलवार को धार दी जाती थी। आज भी सिरोही कि तलवार प्रसिद्ध है। सिरोही से 15 किमी की दूरी पर एक गाव है तेलपुर। कहते है पाडीव से कुछ देवडा राजपुतों ने आ कर तेलपुर बसाया था। वो लोग लड़ने में तेज थे अतः सिरोही के महाराजा उनको तेज कह कर बुलाते थे। इसी लिये उस समय तेलपुर का नाम तेजपुर रखा था। लेकिन धीरे-धीरे कालंतर में उस का नाम तेलपुर हो गया।

कृषि और खनिज[संपादित करें]

सिरोही में मक्का, दलहन, गेहूँ और तिलहन इस क्षेत्र की प्रमुख फ़सलें हैं। सिरोही में चूना-पत्थर, ग्रेनाइट और संगमरमर का खनन किया जाता है। सिरोही नगर एक कृषि बाज़ार और हस्तशिल्प-धातुकर्म का केंद्र है, जो चाक़ू, कटार व तलवार के निर्माण के लिए विख्यात है।

सिरोही जिले में दो हवाई पट्टी है- 1. सिरोही 2.मानपुर (आबूरोड)

शिक्षण संस्थान[संपादित करें]

सिरोही का एक अस्पताल और राजस्थान विश्वविद्यालय से संबद्ध एक सरकारी महाविद्यालय है।

जनसंख्या[संपादित करें]

सिरोही नगर की जनसंख्या 2001 की जनगणना के अनुसार 35,531 है और सिरोही ज़िले की कुल जनसंख्या 8,50,756 है।

प्रमुख ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक स्थल[संपादित करें]

  • जल देवी माताजी मंदिर (उड)
  • खैतलाजी महाराज मदिंर (उड)
  • खिमज माता जी मदिंर (उड)
  • सच्चियाव माताजी मंदिर (जावाल)
  • कर्णेश्वर महादेवजी मंदिर (मंडवाड़ा)
  • मल्लेशवर महादेव मन्दिर
  • श्री वाराही माताजी मंदिर पालड़ी(R)
  • गाजण माता मदिंर सिरोही
  • सारणेश्वर महादेव
  • मातर माताजी मंदिर
  • वोवेश्वर महादेव(झाड़ौली-वीर)
  • सूर्य मंदिर
  • बसंतगढ़
  • वासा
  • मल्लेश्वर महादेव मंदिर मंण्डवारिया
  • खैतलाजी महाराज मदिंर,गोयली
  • खिमज माता जी मदिंर, गोयली
  • हनुमानजी मदिंर, वराडा
  • खेतलाजी मंदिर और सिन्द्रथ गोगा धाम
  • लीलाधारी महादेव , मंडार
  • जागॆश़वर महादॆव मदिंर, हरणी- दाॅतराई
  • वैजनाथ महादेव मंदिर, वाण
  • सैनजी दाता मंदिर, वाण
  • गंगा धाम वासाडा-HANSMUKH B.PUROHIT
  • देवक्षैत्र महादेव तीथ॔ धाम मंदिर, असावा
  • श्री सदका माताजी मंदिर आबु ( असावा )
  • हडमतिया हनुमान जी कालन्द्री
  • साई धाम (साई बाबा) कालन्द्री
  • शनि धाम (शनि महाराज) कालन्द्री