संजय टंडन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
संजय टंडन
जन्म 10 सितम्बर 1963 (1963-09-10) (आयु 55)
अमृतसर, भारत
आवास चंडीगढ़, भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
शिक्षा बीकॉम (ऑनर्स), चार्टर्ड अकाउंटेंट, सीडब्ल्यूए, इंस्टिट्यूट ऑफ कॉस्ट अकाउंटेट ऑफ़ इंडिया
शिक्षा प्राप्त की दयानंद एंग्लो वैदिक विद्यालय
व्यवसाय कॉम्पिटेंट ग्रुप के चेयरमैन
राजनैतिक पार्टी भारतीय जनता पार्टी
बोर्ड सदस्यता वर्तमान में गेल बोर्ड के निदेशक, एनएचपीसी लिमिटेड (पूर्व में), स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद (पूर्व में)
जीवनसाथी प्रिया एस टंडन
वेबसाइट
आधिकारिक वेबसाइट

संजय टंडन (जन्म १० सितंबर १९६३ [1]) भारतीय जनता पार्टी में एक भारतीय राजनेता है। वह वर्तमान में चंडीगढ़ में भारतीय जनता पार्टी के राज्य अध्यक्ष हैं। उनके पिता बलराम दास टंडन हैं, जो पंजाब के एक वरिष्ठ सम्मानित भाजपा नेता थे।[2] उन्होंने १४ वर्षों तक पंजाब में नगर सलाहकार के रूप में कार्य किया और पंजाब में ६ विधानसभा चुनाव जीते। ४ अलग-अलग मौकों पर उन्होंने पंजाब के वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री के पद का पदभार संभाला। संजय ने अपने पिता की जीवनी "बलरामजी दास टंडन: एक प्रेरक चरित्र" लिखी है, जिसे सरदार प्रकाश सिंह बादल के साथ चंडीगढ़ के टैगोर थियेटर में लालकृष्ण आडवाणी द्वारा रिलीज की गयी थी।[3][4] उनके दामाद न्यायमूर्ति मदन मोहन पुंछी हैं जो १९९८ में भारत के मुख्य न्यायधीश के रूप से सेवानिवृत्त हुए थे।[5]

शिक्षा[संपादित करें]

संजय टंडन ने चंडीगढ़ में दयानंद एंग्लो वैदिक कॉलेज, से अपनी उच्च विद्यालयी शिक्षा पूरी की। जिसके बाद, संजय ने पंजाब विश्वविद्यालय, चंडीगढ़ से अपने बीकॉम (एकाउंटेंसी में ऑनर्स) किया। यह भारतीय सनदी लेखाकार संस्थान के एक साथी सदस्य हैं[6][7]और भारत के आईसीडब्लूएआई के एक सहयोगी सदस्य भी हैं।

व्यावसायिक करियर[संपादित करें]

संजीव टंडन एक चार्टर्ड एकाउंटिंग फर्म (एस टंडन एंड एसोसिएट्स) के प्रबंध भागीदार, लेखा परीक्षा और परामर्श सेवाओं के लिए जाने जाते हैं। उनकी कंपनी कॉम्पिटेंट सिनर्जीज कॉल सेंटर और बीपीओ चलाती है जो ५००० से अधिक लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार प्रदान करती है।

यह वर्तमान में
  • एडमिनिस्ट्रेटिव एडवाइजरी काउंसिल, चंडीगढ़ प्रशासन के सदस्य।[8][9][10]
  • स्थायी समिति, कानून और व्यवस्था, गृह विभाग, चंडीगढ़ प्रशासन के सदस्य।[11]
  • दयानंद एंग्लो वैदिक कॉलेज में प्रबंधन समिति में एक सदस्य।
  • भारत विकास परिषद, चंडीगढ़।
  • मॉडल जेल बुरेल के एक गैर-आधिकारिक आगंतुक।
इन्होंने निदेशक के रूप में कार्य किया
इन्होंने एक सदस्य के रूप में कार्य किया
  • आईटी/आईटीईएस में सूचना और संचार प्रौद्योगिकी निगम, पंजाब में मानव संसाधन[12]
  • पीएचडी चेम्बर ऑफ कॉमर्स के वित्त, बैंकिंग, बीमा और पूंजी बाजार की समिति के सदस्य।[13]
  • भारत के चार्टर्ड एकाउंटेंट्स संस्थान।
  • मानवाधिकार और कर्तव्य, पंजाब विश्वविद्यालय, चंडीगढ़ में अध्ययन बोर्ड के कार्यों को निर्वहन करने वाली समिति के सदस्य।
यह एक नियमित वक्ता रहे

राजनीतिक करियर[संपादित करें]

  • १९९३ में, उन्होंने भाजपा के लिए जालंधर निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा चुनाव के प्रभारी की भूमिका निभाई।
  • १९९५ में संजय चंडीगढ़ में भाजपा के एक्सिक्यूटिव बने।
  • १९९७ में, उन्हें राजपुरा चुनाव क्षेत्र (पंजाब) से भाजपा के लिए विधानसभा चुनाव का प्रभारी बनाया गया था।[14]
  • संजय टंडन चंडीगढ़ से भाजपा के चार्टर्ड अकाउंटेंट सेल के संयोजक बने।[14]
  • २००२ में, उन्हें राजपुरा निर्वाचन क्षेत्र (पंजाब) में भाजपा के लिए विधानसभा चुनावों का प्रभारी बनाया गया था।
  • २००७ में, टंडन ने चंडीगढ़ भाजपा के महासचिव के रूप में पदभार संभाला।
  • संजय टंडन ने २००९ में "चंडीगढ़ कमल समाचार" मासिक पत्रिका लॉन्च की।[15]
  • वर्ष २००९ में, उन्हें लोकसभा चुनाव का प्रभारी बनाया गया जब सत्य पाल जैन ने चंडीगढ़ सीट से भाजपा के लिए चुनाव लड़ा था।
  • जनवरी २०१०, संजय टंडन को चंडीगढ़ राज्य का भाजपा के अध्यक्ष के रूप में निर्वाचित किया गया था।[16][17]
  • जनवरी २०१३ में टंडन को चंडीगढ़ राज्य का भाजपा के अध्यक्ष के रूप में फिर से निर्वाचित किया गया था।[18]

लेखन[संपादित करें]

संजय टंडन ने अपनी पत्नी के साथ पांच पुस्तके लिखी है जिसमें प्रेरणादायक छोटी कहानियां हैं जो निन्म नामों से है-

पुस्तक का नाम प्रस्तावना
सनराइज फॉर संडे* राजनाथ सिंह
सनराइज फॉर मंडे* नितिन गडकरी
सनराइज फॉर थर्स डे अरुण जेटली
सनराइज फॉर वेनस डे नरेंद्र मोदी
सनराइज फॉर थर्स डे सुषमा स्वराज
(*ये सभी हिंदी और तेलुगु भाषा में भी लिखी गयी है।)

इन्होंने "बलरामजी दास टंडन - एक प्रेरक चरित्र" नामक अपने पिता की जीवनी भी लिखी।

सामाजिक कार्य[संपादित करें]

संजय टंडन ने एक गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) को "सक्षम फाउंडेशन" के नाम से पदोन्नत किया है।[19]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Tandon, Sanjay (20 November 2013). "Biography – Sanjay Tandon". अभिगमन तिथि 22 November 2013.
  2. Shri Sanjay Tandon Archived 21 सितंबर 2013 at the वेबैक मशीन.
  3. Biography of B.D.Tandon
  4. The Tribune
  5. "Supreme Court of India – Former Chief Justice' of India". supremecourtofindia.nic.in. अभिगमन तिथि 19 April 2014.
  6. STAIndia.org
  7. Competent Synergies
  8. Chandigarh Administration
  9. Chandigarh Official Website
  10. Indian Express
  11. The Tribune
  12. Punjab Infotech Archived 15 मार्च 2014 at the वेबैक मशीन.
  13. PHD & CII
  14. "Archived copy". मूल से 15 March 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 March 2014.
  15. The India Post
  16. The India Post
  17. The Hindu
  18. Sanjay Tandon Re-elected as President – Day & Night News Archived 26 जनवरी 2013 at the वेबैक मशीन.
  19. Activities of Competent Foundation

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]