संघनित्र (उष्मा स्थानान्तरण)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
फ्रिज की संघनन कुण्डली

संघनित्र (condenser) एक यांत्रिक युक्ति है जो गैस या वाष्प को ठण्डा करके द्रव में बदल देती है। संघनित्र कई जगह प्रयोग किये जाते हैं। उर्जा संयत्रों में इनका प्रयोग टर्बाइन से निकलने वाले भाप को संघनित करने के लिये किया जाता है। शीतलन संयंत्रों (refrigeration plants) में अमोनिया एवं फ्लोरीनेटड हाइड्रोकार्बनों जैसे शीतलक वाष्पों को संघनित करने के काम आता है। पेट्रोलियम एवं अन्य रासायनिक उद्योगों में हाइड्रोकार्बनों एवं अन्य रसायनों के वाष्पों को संघनित करने के लिये काम में लिया जाता है।

प्रकार[संपादित करें]

संघनित्र कई प्रकार के होते हैं-

  • तल संघनित्र (सरफेस कन्डेंसर)
  • सीधे सम्पर्क वाले संघनित्र (Direct contact condenser)

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • संघनन
  • संधारित्र (capacitor) - जिसे अब भी कभी-कभी संघनित्र कह दिया जाता है, क्योंकि अंग्रेजी में कैपेसिटर को 'कन्डेन्सर' भी कहते हैं।