वैटिकन सिटी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(वैटिकन नगर से अनुप्रेषित)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
वेटिकन सिटी राज्य
Status Civitatis Vaticanae (लैटिन)
Stato della Città del Vaticano (इटालियन)
ध्वज कुल चिह्न
राष्ट्रवाक्य: none
राष्ट्रगान: Inno e Marcia Pontificale
राजधानी
और सबसे बडा़ नगर
वेटिकन सिटी1
41°54′N 12°27′E / 41.9°N 12.45°E / 41.9; 12.45
राजभाषा(एँ) लैटिन2, इटालियन
सरकार गिरजाघर संबंधी
स्वतंत्रता
क्षेत्रफल
 -  कुल 0.44 वर्ग किलोमीटर (234 वां)
0.17 वर्ग मील
 -  जल (%) 0 bvnbvnbvnbvnbvn
जनसंख्या
 -  जुलाई 2005 जनगणना 783 (228 वां)
मुद्रा यूरो 4 (EUR)
समय मण्डल सीईटी (यू॰टी॰सी॰+1)
 -  ग्रीष्मकालीन (दि॰ब॰स॰) सीईएसटी (यू॰टी॰सी॰+2)
दूरभाष कूट 39
इंटरनेट टीएलडी .va
1 वेटिकन सिटी एक शहर राज्य है।
2 आधिकारिक उद्देश्य के लिए इस्तेमाल। वास्तविक तौर पर इस्तेमाल की जाने वाली भाषाओं में इटालियन, जर्मन, अंग्रेजी, स्पेनिश, फ्रांसीसी और पुर्तगाली, जिनमें से इटालियन का इस्तेमाल आम है। पोप के सुरक्षा गार्ड (पॉपाले स्विस गार्ड) की भाषा जर्मन है।

वैटिकन शहर (/ˈvætɨkən ˈsɪti/; इतालवी : Città del Vaticano [tʃitˈta del vatiˈkaːno]; लातिन : Civitas Vaticana) यूरोप महाद्वीप में स्थित एक देश है। पृथ्वी पर सबसे छोटा, स्वतंत्र राज्य है, जिसका क्षेत्रफल केवल ४४ हेक्टेयर (१०८.७ एकड़) है। यह इटली के शहर रोम के अन्दर स्थित है। इसकी राजभाषा है लातिनीईसाई धर्म के प्रमुख साम्प्रदाय रोमन कैथोलिक चर्च का यही केन्द्र है और इस सम्प्रदाय के सर्वोच्च धर्मगुरु पोप का यही निवास है। यह नगर, एक प्रकार से, रोम नगर का एक छोटा सा भाग है। इसमें सेंट पीटर गिरजाघर, वैटिकन प्रासादसमूह, वैटिकन बाग तथा कई अन्य गिरजाघर सम्मिलित हैं। सन् १९२९ में एक संधि के अनुसार इसे स्वतंत्र राज्य स्वीकार किया गया। इस राज्य के अधिकारी, ४५ करोड़ ६० लाख रोमन कैथोलिक धर्मावलंबियों से पूजित, पोप हैं। राज्य के राजनयिक संबंध संसार के लगभग सब देशों से हैं। सन् १९३० में पोप की मुद्रा पुन: जारी की गई और सन् १९३२ में इसके रेलवे स्टेशन का निर्माण हुआ। यहाँ की मुद्रा इटली में भी चलती है।

आकर्षक गिरजाघरों, मकबरों तथा कलात्मक प्रासादों के अतिरिक्त वैटिकन के संग्रहालय तथा पुस्तकालय अमूल्य हैं।

पोप के सरकारी निवास का नाम भी वैटिकन है। यह रोम नगर में, टाइबर नदी के किनारे, वैटिकन पहाड़ी पर स्थित है तथा ऐतिहासिक, सांस्कृतिक एवं धार्मिक कारणों से प्रसिद्ध है। यहाँ के प्रासादों का निर्माण तथा इनकी सजावट विश्वश्रुत कलाकारों द्वारा की गई है।

इतिहास[संपादित करें]

सन्त पीतर चौक

आठवीं शताब्दी ई. में रोम के निकटवर्ती प्रदेशों पर चर्च का शासन स्वीकार किया जाने लगा। इस प्रकार 'पेपल स्टेट्स' का प्रारंभ हुआ। सन् १८७० ई. में इटली ने पेपल स्टेट्स को अपने अधिकार मे ले लिया, इससे इटली और चर्च में तनाव पैदा हुआ, क्योंकि रोमन कैथालिक चर्च अपने परमाध्यक्ष को ईसा का प्रतिनिधि जानकर यह आवश्यक समझता है कि वह किसी राज्य के अधीन न रहे। सन् १९२९ ई. में इटली ने रोमन कैथोलिक चर्च के साथ समझौता करके उसे संत पीटर के महामंदिर के आसपास लगभग १०९ एकड़ की जमीन दे दी और उस क्षेत्र को पूर्ण रूप से स्वतंत्र मान लिया। इस प्रकार 'चिट्टाडेल वाटिकानो' (Citta Del Vaticano) अर्थात् वैटिकन नगर नामक एक नया स्वायत्त राज्य उत्पन्न हुआ। उसे अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त है और उसके अपने सिक्के, अपना डाक विभाग, रेडियो आदि हैं। उसके नागरिकों की संख्या लगभग ७०० है। उस केंद्र से पोप पूर्ण स्वतंत्रता से दुनिया भर में फैले हुए रोमन कैथोलिक चर्च का आध्यात्मिक सचालन करते हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]