वीरभद्र मंदिर(लेपाक्षी)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
लेपाक्षी
Lepakshi
లేపాక్షి
वीरभद्र मन्दिर, लेपाक्षी
वीरभद्र मन्दिर, लेपाक्षी
लेपाक्षी is located in आन्ध्र प्रदेश
लेपाक्षी
लेपाक्षी
आन्ध्र प्रदेश में स्थिति
निर्देशांक: 13°48′11″N 77°36′36″E / 13.803°N 77.610°E / 13.803; 77.610निर्देशांक: 13°48′11″N 77°36′36″E / 13.803°N 77.610°E / 13.803; 77.610
देश भारत
प्रान्तआन्ध्र प्रदेश
ज़िलाश्री सत्य साई ज़िला
जनसंख्या (2011)[1]
 • कुल10,042
भाषाएँ
 • प्रचलिततेलुगू
समय मण्डलभामस (यूटीसी+5:30)
पिनकोड515331
वाहन पंजीकरणAP-02
मण्डप के स्तम्भों पर ब्रह्मा और विष्णु की मूर्ति उकेरी गयी है।
मुक मण्डप की छत पर चित्रकला
छत में निर्मित एक चित्रकला
लिंग की रक्षा करते हुए ७ सिर वाला सर्प

वीरभद्र मंदिर आंध्र-प्रदेश(भारत) राज्य के लेपाक्षी ग्राम में स्थित एक हिंदू मंदिर है। यह मंदिर भगवान शिव के रुद्र अवतार वीरभद्र को समर्पित है। 16 वीं शताब्दी में निर्मित इस मंदिर का स्थापत्य वैशिष्ट्य विजयनगर शैली में बनाया गया है। इस मंदिर की लगभग हर खुली सतह पर नक्काशी और चित्रों की प्रचुरता है। यह राष्ट्रीय महत्व के केंद्रीय रूप से संरक्षित स्मारकों में से एक है। इसे सबसे शानदार विजयनगर मंदिरों में से एक माना जाता है।[2][3] भित्ति-चित्र में राम और कृष्ण के चित्रों को चमकीले कपड़ों तथा रँगों में दर्शाया गया है। मंदिर में एक बहुत बड़ा नंदी (बैल), शिव-पर्वत है, जो मंदिर से लगभग 200 मीटर दूर है। यह मंदिर कई कन्नड़ शिलालेखों का गृह है क्योंकि यह कर्नाटक सीमा के समीप स्थित है।

स्थान[संपादित करें]

मंदिर को लेपाक्षी शहर के दक्षिणी किनारे पर, ग्रेनाइट चट्टान की कम ऊँचाई वाली पहाड़ी पर बनाया गया है। वह एक कछुए के आकार का है इसलिए इसे 'कूर्मा सैला' के नाम से जाना जाता है। यह बंगलुरु से 140 कि.मी. दूर है।

इतिहास[संपादित करें]

मंदिर का निर्माण 1530 ईस्वी में वीरुपन्ना नायक और वीरन्ना द्वारा किया गया था। वे दोनों भाई पेनुकोंडा में राजा अच्युतराय के शासनकाल के दौरान विजयनगर साम्राज्य के अधीन राज्यपाल थे। इस मंदिर में केवल कन्नड़ शिलालेख हैं। स्कंद पुराण के अनुसार यह मंदिर दिव्यक्षेत्रों में से एक है। यह भगवान शिव का एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल है।

चित्रावली[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. भारत जनगणना 2011 रजिस्ट्रार जनरल तथा जनगणना आयुक्त, भारत. अभिगम 26 जुलाई 2014
  2. "सेंट्रली प्रोटैक्टेड मॉन्यूमैंट्स". आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ़ इंडिया (अंग्रेज़ी में). मूल से 26 जून 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 मई 2017.
  3. दल्लप्पिक्कोला, अन्ना लिबेरा; मजलिस, ब्रिगिट्टी ख़ान; मिशेल, ज़ॉर्ज (2019). लेपाक्षी: आर्किटैक्चर, स्कल्पचर, पेंटिंग (अंग्रेज़ी में). नियोगी बुक्स. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-93-86906-90-8.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]