यूनाइटेड किंगडम में कराधान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
Royal Coat of Arms of the United Kingdom (HM Government).svg
यूनाइटेड किंगडम
की राजनीति और सरकार

पर एक श्रेणी का भाग
Portal-puzzle.svg यूनाइटेड किंगडम प्रवेशद्वार

यूनाइटेड किंगडम में कराधान दो स्तरों पर बनाया गया है:स्थानीय सरकार और केंद्र सरकार(टैक्स कार्यालय के माध्यम से)। स्थानीय सरकारें, अपनी वित्तीय स्थिति सरकारी अनुदान, वाणिज्यिक संपत्ति पर करों, स्थानीय करों और विशेष कर हल के दिनों में सड़कों पर पार्किंग शुल्क और मुनाफा शुल्क द्वारा बनाए रखती है, जबकि केंद्र सरकार की कर सामग्री मुख्य रूप से ईंधन, तंबाकू और शराब पर कर, अनिवार्य राष्ट्रीय बीमा, आयकर भुगतान, वैट, कॉरपोरेट टैक्स तथा उत्पाद शुल्क है।

निवास और अधिवास[संपादित करें]

यूनाइटेड किंगडम में अर्जित कोई लाभ पर कर, निवास की जगह, व्यक्ति या देश के औपचारिक समावेश के निवास की परवाह किए बिना लगाया जाएगा।

किसी व्यक्तियों के लिए इसका मतलब यह है कि जो व्यक्ति ब्रिटेन में निवासी नहीं हैं, उनपर केवल ब्रिटेन में अर्जित आय पर कर लगाया जाता है। ब्रिटेन के बाहर से आई राजस्व, पर कर नहीं लगाया जाता है।

लोगों को, जो सह-ब्रिटिश अधिवास, कर निवासी हैं, उनके लिए, ब्रिटेन एवं विदेश में अर्जित लाभ पर भी कर लगाया जाता है।

जो व्यक्ति यूनाइटेड किंगडम छोड़कर किसी भी अन्य देश में एक अधिवास के टैक्स निवासी हैं, वे ब्रिटेन में अर्जित आय पर कर का भुगतान करते हैं। यूनाइटेड किंगडम के बाहर अर्जित लाभ, केवल उस मामले में कर योग्य होगी, अगर यह ब्रिटेन में आयात किया जाता है तो। ऐसे व्यक्तियों के लिए यूनाइटेड किंगडम में एक तरजीही कर-शासन युक्त देश है। अधिवास, उत्तराधिकार कर और पूंजीगत लाभ कर को प्रभावित करता है।

आयकर[संपादित करें]

आयकर राज्य द्वारा एकत्रित प्रमुख कर है। टैक्स श्रेणीबद्ध रूप से प्रगतिशील है, अर्थात आय की राशि पर निर्भर है। आयकर की प्रारंभिक राशि सभी व्यक्तियों पर लागू नहीं होती। 2009-10 में यह राशि £ 6475 थी। वर्ष 2008-09 में 10% की दर बचत जमा से होने वाली आय को छोड़कर समाप्त कर दिया गया है, अगर आय के बाकी कम से कम प्रति वर्ष 2320 £ है। 2009-10 में यह राशि £ 2,440 की वृद्धि हुई।

पूंजी लाभ कर[संपादित करें]

पूंजी लाभ कर या कैपिटल गेन टैक्स, पूंजीगत परिसंपत्तियों की बिक्री पर लगाया जाता है। पूंजीगत संपत्ति, रियल एस्टेट और वित्तीय आस्तियों (शेयर, बॉण्ड, आदि) के रूप में हो सकती है।

पूंजीगत लाभ कर, बिक्री की मार्जिन के दर से, शुद्ध पूंजी लाभ (खर्च और नुकसान की कटौती के बाद) के साथ, कम से लगाया जाता है।

कर की दर, उस कालावधि, जिसके के दौरान परिसंपत्तियाँ, संपत्ति में स्थित हैं, और कर योग्य आय के समग्र स्तर पर निर्भर करता है।

व्यक्तियों के लिए, कर की गणना, कंपनियों की तुलना में अलग रूप से होती है, और यह, निर्भर करता है, अन्य बातों के अलावा, संपत्ति के उद्देश्य पर, अर्थात इस बात पर की वह संपत्ति व्यावसायिक है या निजी है। करदाताओं को कर राहत भी दी जाती है: पूंजी लाभ का एक निश्चित प्रारंभिक राशि पर कर नहीं लगाया जाता है। यह राशि प्रति वर्ष £ 10,100 हो जाएगी।

प्रारंभिक राशि पर कंपनियों के लिए, टैक्स क्रेडिट का प्रावधान मौजूद नहीं है। इसके बजाय, संपत्ति के स्वामित्व की अवधि की लंबाई पर टैक्स के स्तर पर निर्भर करता है, कुछ छूट के खुदरा मूल्य सूचकांक के अनुसार दी जा सकती।

वित्तवर्ष[संपादित करें]

कर वर्ष (कर वर्ष या वित्तीय वर्ष) ब्रिटेन में 6 अप्रैल को शुरू होता है और अगले वर्ष के 5 अप्रैल को समाप्त होता है। हालाँकि सामान्य तर्क के अनुसार ऐसी तारीख अटपटी सी लगती है, क्योंकि आम तौर पर ऐसा होना चाहिए था की वित्तवर्ष, वर्ष की पहली तिथि से ही शुरू हो, परंतु, वत्तवर्ष के शुरुआत की इस अटपटी सी तारीख की जड़ें इतिहास में हैं।

पूर्वतः ब्रिटेन और यूरोप के अधिकतर भागों में पहले, समय मापन के लिए, जूलियन कैलेंडर को इस्तेमाल किया जाता था, जिसे ४२ ई॰पू॰ से प्रचलित थी, इसे जूलियस सीज़र द्वारा शुरू किया गया था। हालाँकि यह सांवत काफी हद तक सटीक थी, परंतु यह सौरचक्र से ११•५ मिनट आगे थी, जो शुरुआत में तो बहुत सार्थक परेशानी नहीं थी, परंतु ५०० वर्षों के काल पर साढ़े ग्यारह मिनट की यह छोटी सी चूक जुड़ कर पूरे १० दिन जितनी बड़ी हो गयी थी। इस चूक को सुधारने के लक्ष्य से १५८२ में पोप ग्रेगरी नें ग्रेगोरियन कैलेंडर को शुरू किया, जिसमे वर्षांतर को ३६५•२५ दिनों से घटा कर ३६५•२४२५ दिनों का कर दिया, कारणवश, अब, प्रत्येक वर्ष, १० मिनट और ४८ सेक् के मान से छोटा होगया। अतः ग्रेगोरियन केलिन्डर जूलियन कैलंडर से एक सटीकतार सांवत साबित हुआ। इस सांवत को इटली, स्पेन, पुर्तगाल, तथा अन्य यूरोपीय देशों द्वारा मानक सांवत के रूप में अपना लिया गया, और धीरे धीरे इसे यूरोप के अन्य राष्ट्रों में भी अपनाया जाने लगा।[1]

परंतु ब्रिटेन अभीभी जूलियन कैलंडर को ही मन रहा था, और १७५२ तक वह इसी सांवत को मानता चला गया। इस समय तक, ब्रिटेन, बाकि के यूरोप से पूरे ११ दिन आगे हो चूका था। पुराने सांवत के अनुसार, वित्तवर्ष, २५ मार्च(ग्रेगोरियन) को शुरू होता था(जोकि पुराने सांवत में वर्ष का पहला दिन था), परंतु क्योंकि पुराने कैलेंडर की भूल के कारण, ब्रिटेन ११ दिन आगे बढ़ गया था, इसीलिए यदि २५ मार्च को ही वर्ष १७५२ के वित्त वर्ष को समाप्त कर दिया जाता तो ब्रिटिश राजकोश को उन ११ दिनों के राजस्व की हानि हो जाती, अतः यह तय किया गया की वित्तवर्ष की लंबाई को सामान्य ही(२६५ दिन) रखा जायेगा, और वित्तवर्ष कि समाप्ति की तिथि को ११ दिन आगे बढ़ा कर ४ अप्रैल और नए वर्ष के आग़ाज़ की तिथि को ५ अप्रैल कर दिया गया। ऐसा वर्ष १८०० तक चलता गया, जोकि जूलियन कैलंडर में तो लीप वर्ष था, परंतु ग्रेगोरियन कैलंडर में लीप वर्ष नहीं था।[1]

एकीकृत सामाजिक टैक्स[संपादित करें]

यह राज्य के लिए धन की दूसरी प्रमुख स्रोत - यह राष्ट्रीय बीमा के लिए अनिवार्य भुगतान है। इस कर के दोनों करदाताओं और नियोक्ताओं द्वारा भुगतान किया जाता है। ब्रिटेन में करदाताओं की विभिन्न श्रेणियों के लिए राष्ट्रीय बीमा के लिए भुगतान के कई स्तर हैं। स्वरोजगार करदाताओं के लिए, यह स्तर वेतन का 11% है, प्लस नियोक्ता प्रत्येक कर्मचारी की 12.8% का भुगतान करने के लिए बाध्य है। अपने स्वयं के व्यवसाय में लगे व्यक्ति, बेरोजगार विवाहित महिलाएँ और दान-कार्य में शामिल व्यक्ति भी नेशनल इंश्योरेंस का भुगतान करने के लिए बाध्य हैं।

वैट[संपादित करें]

मूल्य संवर्धित कर या वैट, जिसे उत्पादन के हर चरण पर संवर्धित मूल्य पर लगाया जाता है, मूलतः उत्पाद, कार्य और सेवाओं के उत्पादन की प्रक्रिया के सभी चराणों पर जोड़े गए मूल्य पर एक अप्रत्यक्ष कर-छूट है, जिसे यथाकार्यान्वित रूप से बजट में जोड़ा जाता है। वैट राज्य के राजस्व और 17.5% की भागीदारी के साथ यह राज्य के राजस्व का तीसरा प्रमुख स्रोत है। नवंबर 2008 के बाद इसके दर को घटा कर १५% कर दिया था। जनवरी 2011 के बाद से, यूनाइटेड किंगडम में इसके दर को बढ़ा कर 20% कर दिया गया है।

कॉर्पोरेट टैक्स[संपादित करें]

राज्य के लिए धन की चौथी स्रोत -कॉर्पोरेट टैक्स (निगम टैक्स) है, जो आय और कॉर्पोरेट आय के अधीन हैं।

2006 के बाद से, ब्रिटेन में कॉरपोरेट टैक्स के दो स्तर हैं। 30% का टैक्स उन कंपनियों पर लगाया जाता है, जिनकी आय 15 लाख पाउंड से अधिक है, तथा उससे कम आय वाली कंपनियों के लिए दरें 19% है।

तेल के विकास में शामिल कंपनियाँ, अतिरिक्त 20% के कॉर्पोरेट टैक्स का भुगतान करती हैं।

स्टैम्प ड्यूटी[संपादित करें]

0.5% की स्टैम्प ड्यूटी शेयर और कुछ प्रतिभूतियों की खरीद/बिक्री पर लिया जाता है। संपत्ति खरीदते समय यह शुल्क संपत्ति के मूल्य पर निर्भर करता है और 7% तक पहुँच सकते हैं।

एक्साइज टैक्स[संपादित करें]

आबकारी, अप्रत्यक्ष करों पेट्रोल, शराब, तंबाकू, जुआ और वाहनों जैसी चीज़ों पर लगाये जाने वाला एक प्रकार का शुल्क है।

उत्तराधिकार कर[संपादित करें]

उत्तराधिकार कर - एक प्रत्यक्ष कर है, जिसे संपत्ति तथा/अथवा मृतक के धन पर लगाया जाता है। इस कर का दाता मृतक का वारिस होता है।

इसे इन चीज़ों पर लगाया जाता है:

  1. अचल संपत्ति, नकदी बचत, स्टॉक इत्यादि
  2. मृतक द्वारा मृत्यु से सात वर्ष के बीच बनवाए गए उपहार।
  3. कुछ संपत्ति मृतक के प्रत्यक्ष कब्जे में नहीं हैं, लेकिन जिनकी स्थिति उनकी मृत्यु के बाद से बदल गया है (सबसे आम उदाहरण - पूंजी आय के जीवन के लिए ठीक है, तकनीकी रूप से मृतक के स्वामित्व में नहीं है)।

उत्ताधिकार की पहली £ 325,000 की विरासत, कर मुक्त होती है(2015-2016 वर्ष)। इस राशि से अधिक कुछ भी पर 40% कर लगाया जाता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]