मोरारी बापू

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

मोरारी बापू (जन्म मोरारिदास प्रभुदास हरियाणी) एक हिन्दू आध्यात्मिक कथा वाचक हैं।

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

मोरारी बापू का जन्म २५ सितंबर १९४७ ( हिंदू कैलेंडर के अनुसार शिवरात्रि ) को महुवा, गुजरात के पास तलगाजरडा गाँव में प्रभुदास बापू हरियाणी और सावित्री बेन हरियाणी के वहां छह भाइयों और दो बहनों के परिवार में हुआ था। [1] [2] रामप्रसाद महाराज की उपस्थिति में गुजरात के गांडीला में नौ दिवसीय प्रवचन का आयोजन किया गया, जिसमें उन्होंने सर्वप्रथम रामचरितमानस पर प्रवचन दिया। मोरारी बापू का भारत के बाहर पहली बार प्रवचन १९७६ में नैरोबी में हुआ था, जब वह केवल 30 साल के थे।

प्रवृत्ति[संपादित करें]

वह दुनिया भर में गुजराती और हिंदी दोनों में वार्ता / कार्यक्रम ( कथाव्यास ) दे रहे है — भारत, संयुक्त राज्य अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, दक्षिण अफ्रीका, केन्या, युगांडा, भूमध्य सागर में एक क्रूज जहाज पर से वेटिकन सिटी और तिब्बत / चीन में कैलाश मानसोवर की तलहटी में, दुनिया की यात्रा करने वाले हवाई जहाज पर वो कथा का आयोजन करते हैं। [3]

विचार और परोपकार[संपादित करें]

सामाजिक विचार और राम कथा[संपादित करें]

टाइम्स नाउ के साथ साक्षात्कार में, मोरारी बापू ने कहा था कि " राम कथा ( राम की कहानी) को समाज के उपेक्षित, शोषित और हाशिए पर खड़े लोगों के लिए सुलभ बनाना उनका मकसद है, जैसा कि राम खुद शबरी, निशाद और उस समय की सुगरावास में गए थे।” [4] २०१८ के दिसंबर महीने में, मोरारी बापू ने अयोध्या में यौनकर्मियों के बीच राम कथा का आयोजन किया था और उन्होंने यौनकर्मियों के कल्याण के लिए ३ करोड़ के दान का वादा किया था। [5] आखिरी में, उन्होंने यौनकर्मियों के कल्याण के लिए ६.९२ करोड़ (69.2 मिलियन) वितरित किए, जिसमें उन्होंने अपने स्वयं के 11 लाख (1.1 मिलियन) जोड़े। [6] [7] मोरारी बापू मुंबई में यौनकर्मियों से मिलने वाले पहले आध्यात्मिक नेता थे। [8]

इससे पहले २०१६ के दिसंबर में, मोरारी बापू ने मुंबई में ट्रांसजेंडर्स के लिए राम कथा का आयोजन किया था। [9] [10] इस काम के लिए, भारतीय एलजीबीटी कार्यकर्ता, लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने कहा था, "दुनिया में किसी भी आध्यात्मिक या धार्मिक नेता ने कभी भी हमारे लिए इस तरह की सामुदायिक घटना नहीं की है और मैं उनके लिए आभारी हूं।" [11]

राजनीतिक दृष्टिकोण[संपादित करें]

मोरारी बापू ने अयोध्या उत्तर प्रदेश में भगवान श्री राम के जन्म स्थान राम जन्मभूमि पर राम के मंदिर के निर्माण का समर्थन किया था। १९९२ में मोरारी बापू राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए और उन्होंने श्री राम मंदिर के लिए युवाओं से 'लड़ाई' और 'शहीद' होने की अपील की। [12] लोकप्रिय शो आप की अदालत में उन्होंने भारत के सर्वोच्च न्यायालय से अपील की कि वह राम मंदिर के संबंध में निर्णय देने में देरी न करे। [13] इसी कड़ी में उन्होंने कहा कि कोई भी नरेंद्र मोदी की देशभक्ति पर सवाल नहीं उठा सकता। [14]

सैनिकों के लिए परोपकार[संपादित करें]

२०१९ के पुलवामा हमले के बाद, मोरारी बापू ने घोषणा की कि वह प्रत्येक शहीद के परिवार को 1 लाख की वित्तीय सहायता देकर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के शहीदों की मदद करेंगे। [15] [16] २०१७ में, मोरारी बापू ने सूरत में शहीदों के परिवारों की मदद के लिए राम कथा का आयोजन किया। उन्होंने आयोजन में २०० करोड़ (२० मिलियन) इकट्ठा करने का लक्ष्य रखा था। [17] [18]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Kapoor, Subodh (2002). The Indian Encyclopaedia: Meya-National Congress (अंग्रेज़ी में). Cosmo Publications. पृ॰ 4923. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788177552737.
  2. Media, Maneesh (2019-06-20). Jewels of Gujarat: Morari ‘Bapu’ Prabhudas Hariyani: Leading Global Gujarati Personality (अंग्रेज़ी में). Maneesh Media.
  3. King, Anna S.; Brockington, J. L. (2005). The Intimate Other: Love Divine in Indic Religions (अंग्रेज़ी में). Orient Blackswan. पृ॰ 125. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788125028017.
  4. "Exclusive Interview: Morari Bapu on Ram Katha in Ayodhya for Sex Workers". www.timesnownews.com (अंग्रेज़ी में). मूल से 24 मई 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-10-09.
  5. Ghosh, Labonita GhoshLabonita; Dec 27, Mumbai Mirror | Updated:; 2018; Ist, 06:00. "Morari Bapu pledges Rs 3 cr for sex workers". Mumbai Mirror (अंग्रेज़ी में). मूल से 9 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-10-09.सीएस1 रखरखाव: फालतू चिह्न (link)
  6. "Morari Bapu distributes nearly Rs 7 crores collected in Ayodhya Ram Katha towards welfare of sex workers". www.timesnownews.com (अंग्रेज़ी में). मूल से 9 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-10-09.
  7. Jan 17, Bharat Yagnik | TNN | Updated:; 2019; Ist, 7:19. "Morari Bapu donates funds for welfare of sex workers | Ahmedabad News - Times of India". The Times of India (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2019-10-09.सीएस1 रखरखाव: फालतू चिह्न (link)
  8. "Morari Bapu becomes first spiritual leader to meet sex workers, invites them to katha event in Ayodhya". www.timesnownews.com (अंग्रेज़ी में). मूल से 9 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-10-09.
  9. "When Ram Katha unites: Morari Bapu deepens community and citizenship by inviting sex workers to Ayodhya". Times of India Blog (अंग्रेज़ी में). 2018-12-29. मूल से 14 जून 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-10-09.
  10. Patel, Pooja (2016-12-23). "Morari Bapu's Ram katha makes space for transgenders". DNA India (अंग्रेज़ी में). मूल से 9 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-10-09.
  11. Patel, Pooja (2016-12-23). "Morari Bapu's Ram katha makes space for transgenders". DNA India (अंग्रेज़ी में). मूल से 9 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-10-09.
  12. चुडासमा, दीपक (2019-09-30). "मोरारी बापू: क्या है सनातन धर्म बनाम स्वामीनारायण संप्रदाय का विवाद" (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2019-10-09.
  13. Taneja, Nidhi (2019-01-19). "Morari Bapu in Aap Ki Adalat: 'Appeal Supreme Court not to delay hearing on Ram temple'". www.indiatvnews.com (अंग्रेज़ी में). मूल से 9 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-10-09.
  14. Shantanu, Shashank (2019-01-19). "'Nobody can question PM Modi's patriotism': Morari Bapu in Aap Ki Adalat". www.indiatvnews.com (अंग्रेज़ी में). मूल से 3 फ़रवरी 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-10-09.
  15. "पुलवामा हमले में शहीद परिवारों की मदद को मोरारी बापू ने बढ़ाया हाथ, देंगे 1-1 लाख रुपये की मदद". NDTVIndia. मूल से 9 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-10-09.
  16. "पुलवामा में शहीद हुए जवानों के परिजनों की सहायता के लिए आगे आए मोरारी बापू, देंगे लाखों की आर्थिक मदद". hindi.timesnownews.com. मूल से 9 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-10-09.
  17. Kumar, Manan (2017-11-14). "'Ramkatha' in Surat protest hub to raise funds for martyrs". DNA India (अंग्रेज़ी में). मूल से 9 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-10-09.
  18. "सूरत में रामकथा, दुल्हन ने शादी के संगीत समारोह के 50 हजार रुपए दिए आर्मी के लिए". Dainik Bhaskar. 2017-11-29. मूल से 9 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-10-09.