मोढेरा सूर्य मंदिर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(मुधेरा सूर्य मंदिर से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search
सूर्य मंदिर, मोढेरा
Modhera SunTemple.JPG
धर्म संबंधी जानकारी
सम्बद्धताहिंदू धर्म
देवतासूर्य देव
अवस्थिति जानकारी
अवस्थितिमोढेरा, महेसाणा, गुजरात, भारत
वास्तु विवरण
शैलीहिन्दू
निर्माताभीमदेव प्रथम, सोलंकी वंश
स्थापित१०२६ ई०
Plan Modhera Sun Temple Gujarat India.jpg
मंदिर परिसर की योजना: (ऊपर से नीचे की ओर) गुधामण्डपा, तीर्थ परिसर; सभामण्ड़पा, सभा परिसर और कुण्ड़, जलाशय
धर्म संबंधी जानकारी
सम्बद्धताहिंदू धर्म
देवतासुर्य
त्यौहारमोढेरा नृत्य समारोह
विविध
  • स्तम्भ: खंडित
  • मंदिर तालाब: सुर्यकुण्ड़
वास्तु विवरण
प्रकारमारू-गुर्जर (चालुक्य)
निर्माताभीमदेव प्रथम
निर्माण पूर्ण1026-27 ई के बाद (तीर्थ के रूप में)
आयाम विवरण
अभिमुखपूर्वमुखी
स्मारक संख्या3
अभिलेखहाँ


मोढेरा सूर्य मंदिर गुजरात के पाटन नामक स्थान से ३० किलोमीटर दक्षिण की ओर “मोढेरा” नामक गाँव में प्रतीष्ठित है। यह सूर्य मन्दिर भारतवर्ष में विलक्षण स्थापत्य एवम् शिल्प कला का बेजोड़ उदाहरण है। सन् १०२६ ई. में सोलंकी वंश के राजा भीमदेव प्रथम द्वारा इस मन्दिर का निर्माण किया गया था। वर्तमान समय में इस मन्दिर में पूजा करना निषेध है। कहा जाता है कि अलाउद्दीन खिलजी ने मंदिर को तोड़ कर खंडित कर दिया था।

इतिहास[संपादित करें]

सूर्य मंदिर का समुचित मंदिर, चालुक्य वंश के भीमदेव प्रथम के शासनकाल के दौरान बनाया गया था।[1][2][3][4] इससे पहले, 1024-25 के दौरान, गजनी के महमूद ने भीम के राज्य पर आक्रमण किया था, और लगभग 20,000 सैनिकों की एक टुकड़ी ने उसे मोढेरा में रोकेने का असफल प्रयास किया था। इतिहासकार ए.के. मजूमदार के अनुसार इस सूर्य मंदिर का निर्माण इस रक्षा के स्मरण के लिए किया गया हो सकता है।[5] परिसर की पश्चिमी दीवार पर, उल्टा लिखा हुआ देवनागरी लिपि में "विक्रम संवत 1083" का एक शिलालेख है, जो 1026-1027 सीई के अनुरूप है। कोई अन्य तिथि नहीं मिली है। जैसा कि शिलालेख उल्टा है, यह मन्दिर के विनाश और पुनर्निर्माण का सबूत देता है। शिलालेख की स्थिति के कारण, यह दृढ़ता से निर्माण की तारीख के रूप में नहीं माना जाता है। शैलीगत आधार पर, यह ज्ञात है कि इसके कोने के मंदिरों के साथ कुंड 11वीं शताब्दी की शुरुआत में बनाया गया था। शिलालेख को निर्माण के बजाय गजनी द्वारा विनाश की तारीख माना जाता है। इसके तुरंत बाद भीम सत्ता में लौट आए थे। इसलिए मंदिर में उचित, लघु और कुंड़ में मुख्य मंदिर 1026 सीई के तुरंत बाद बनाए गए थे। 12वीं शताब्दी की तीसरी तिमाही में द्वार, मंदिर के बरामदे और मंदिर के द्वार और कर्ण के शासनकाल के दौरान कक्ष के द्वार के साथ नृत्य कक्ष को बहुत बाद में जोड़ा गया था।[6]

इस स्थान को बाद में स्थानीय रूप से सीता नी चौरी और रामकुंड के नाम से जाना जाने लगा।[7]}}[7] अब यहां कोई पूजा नहीं की जाती है। मंदिर राष्ट्रीय महत्व का स्मारक है और भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के देखरेख में है।

मोढेरा नृत्य समारोह[संपादित करें]

गुजरात के पर्यटन निगम के द्वारा जनवरी के तीसरे सप्ताह में उत्तरायण त्योहार के बाद मंदिर में 'उत्तरार्ध महोत्सव' मनाया जाता है, जिसमें प्रत्येक वर्ष तीन दिवसीय नृत्य महोत्सव का आयोजन किया जाता है। इसका उद्देश्य शास्त्रीय नृत्य रूपों को उसी तरह के माहौल में प्रस्तुत करना है, जिसमें वे मूल रूप से प्रस्तुत किए जाते थे।[8][9]

अवस्थिति[संपादित करें]

यह गुजरात, भारत में मोढेरा गांव में स्थित है, जो महेसाणा से 25 किमी और अहमदाबाद से 106 किमी दूर पर स्थित है।

चित्र दीर्घा[संपादित करें]

मोढेरा सूर्य मंदिर पृष्ठ भाग


सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. हसमुख धीरजलाल जंजीर (1941). गुजरात का पुरातत्व: काठियावाड़ सहित. नटवरलाल & कंपनी. पपृ॰ 70, 84–91. मूल से 2015 को पुरालेखित.
  2. "मोढ़ेरा (गुजरात) में सूर्य-मंदिर". मूल से 29 April 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 9 April 2016.
  3. सुबोध कपूर (2002). द इंडियन इनसाइक्लोपीडिया: मेया-नेशनल कांग्रेस. Cosmo Publications. पपृ॰ 4871–4872. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-7755-273-7.
  4. शास्त्री, हीरानन्द (नवम्बर 1936). पुरातत्व निदेशक के वार्षिक रिपोर्ट, बड़ौदा राज्य, 1934-35. बड़ौदा: ओरिएंटल रिसर्च इंस्टीट्यूट. पपृ॰ 8–9.
  5. अशोक कुमार मजूमदार (1956). गुजरात के चालुक्य. भारतीय विद्या भवन. पृ॰ 45. OCLC 4413150.
  6. लोबो, वाइक (1982). मोढेरा स्थित सूर्य मंदिर: वास्तुकला और आइकनोग्राफी पर एक मोनोग्राफ (अंग्रेजी में). Verlag C.H. Beck. पृ॰ 32,. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-3-406-08732-5.
  7. Wibke Lobo (1982). The Sun Temple at Modhera: A Monograph on Architecture and Iconography. C.H. Beck. पृ॰ 2. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-3-406-08732-5.
  8. "मोढेरा सूर्यमंदिर में स्थापत्य व नृत्य का संगम". पत्रिका. 2019. अभिगमन तिथि 16 जुलाई 2019.
  9. "गुजरात के त्यौहार". hindi.gktoday. अभिगमन तिथि 16 जुलाई 2019.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]