उत्तरायण सूर्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
सूर्य के उच्चतम बिंदु का उत्तर व दक्षिण में जाना


उत्तरायण सूर्य, सूर्य की एक दशा है।'उत्तरायण' (= उत्तर + अयन) का शाब्दिक अर्थ है - 'उत्तर में गमन' | दिन के समय सूर्य के उच्चतम बिंदु को यदि दैनिक तौर पर देखा जाये तो वह बिंदु हर दिन उत्तर की और बढ़ता हुआ दिखेगा |

उत्तरायण की दशा में पृथ्वी के उत्तरी गोलार्ध में दिन लम्बे होते जाते है और राते छोटी | उत्तरायण का आरंभ २१ या २२ दिसम्बर होता है | यह दशा २१ जून तक रहती है | उसके बाद पुनः दिन छोटे और रात लम्बी होती जाती है |

मकर संक्रांति उत्तरायण से भिन्न है | मकर संक्रांति वर्तमान शताब्दी में १४ जनवरी को होती है | मकर संक्रांति का लेख पढ़े |





Illustration of the observed effect of Earth's axial tilt.




उत्तरायण २१ या २२ दिसम्बर को होता है .


सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]