मानसेहरा ज़िला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
ज़िला मानसेहरा
د مانسهرې ولسوالۍ
ضلع مانسہرہ
मानचित्र जिसमें ज़िला मानसेहराد مانسهرې ولسوالۍ‎ضلع مانسہرہ‎ हाइलाइटेड है
सूचना
राजधानी : मानसेहरा
क्षेत्रफल : ४,५७९ किमी²
जनसंख्या(१९९८):
 • घनत्व :
११,५२,८३९
 २७२/किमी²
उपविभागों के नाम: तहसील और क़बाईली क्षेत्र
उपविभागों की संख्या: ३ तहसीलें और १ क़बाईली क्षेत्र
मुख्य भाषा(एँ): पश्तो, हिन्दको


मानसेहरा (उर्दू: مانسہرہ‎, पश्तो: مانسهرې‎, अंग्रेज़ी: Mansehra) पाकिस्तान के ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा प्रांत का एक ज़िला है। इसके उत्तर में शांगला, बट्टग्राम, कोहिस्तान ज़िले, दक्षिण में ऐब्टाबाद​ और हरिपुर ज़िले, पश्चिम में बुनेर ज़िला और पूर्व में जम्मू और कश्मीर पड़ते हैं। यह एक रमणीय पहाड़ी इलाक़ा है और इस ज़िले की काग़ान वादी पर्यटन के लिए लोकप्रीय है। चीन और पाकिस्तान के दरम्यान चलने वाला काराकोरम राजमार्ग भी इस ज़िले से गुज़रता है।

नाम की जड़े[संपादित करें]

'मानसेहरा' का नाम मुग़ल सम्राट अकबर के मशहूर सिपहसलार राजा मान सिंह पर रखा गया था।[1]

विवरण[संपादित करें]

मानसेहरा से पश्चिम में अफ़ग़ानिस्तान आना-जाना आसान है इसलिए उस देश में गृहयुद्ध होने पर बहुत से अफ़ग़ान शरणार्थी यहाँ आ बसे। यह ज़िला एक नदी-झरनों, झीलों और पर्वतों से भरपूर क्षेत्र है और सैलानियों में बहुत लोकप्रीय है। इसकी सबसे बड़ी नदी कुनहार नदी है (ध्यान दें कि यह कुनर नदी से बिलकुल अलग है)। इस ज़िले की काग़ान वादी में तीन मशहूर झीलें हैं - लूलूसर झील, दुदिपतसर झील और सैफ़-उल-मुलुक झील। तीनों झीलें बर्फ़-छिड़के पहाड़ों और हरी घास से घिरी हुई हैं। सैफ़-उल-मुलुक के बारे में एक प्रेमकथा मशहूर है कि यह एक राजकुमार और उसकी परी प्रेमिका के मिलने का स्थान हुआ करती थी।

मानसेहरा ज़िले में तीन तहसीलें हैं - मानसेहरा तहसील, बालाकोट तहसील और ओगी तहसील। इसके अलावा यहाँ दो प्रांत-प्रशासित क़बाईली क्षेत्र भी हुआ करते थे - तोर ग़र (जिसे 'काला ढाका' भी कहते हैं) और ऊपरी तनावल। सन् २०११ में तोर ग़र को एक अलग ज़िले का दर्जा मिल गया और तनावल में भी एक अलग ज़िला बनाए जाने के लिए संघर्ष चल रहा है। तनावल इलाक़े में तनोली (تنولی‎, Tanoli) नामक एक क़बीलाई लोग रहते हैं जिनका रहन-सहन पश्तूनों से मिलता है लेकिन जिनकी एक अलग जातीय पहचान भी है।[2]

मानसेहरा ज़िले के कुछ नज़ारे[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. The Empire of the Great Mughals: History, Art and Culture, Annemarie Schimmel, Burzine K. Waghmar, pp. 112, Reaktion Books, 2004, ISBN 978-1-86189-185-3, ... To this day the town of Mansehra, in the foothills of Kashmir, and the garden of Wah, near Hasan Abdal on the old Mughal route from Lahore to Kashmir, both display evidence of the influence of Man Singh in the northwest corner of the subcontinent ...
  2. Redrawing boundaries: Tanolis demand separate district, Muhammad Sadaqat, The Express tribune, 15 अप्रैल 2012, ... Villagers from over twenty union councils from Mansehra, Abbottabad and Haripur districts gathered in Darband in support of Tanawal district ... Nawabzada Salahuddin Saeed said that the area, once part of the former princely state of Amb, was inhabited by the Tanoli tribe ... After the annexation of Amb state with Pakistan, he said Tanawal was neglected ...