करक ज़िला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा प्रांत में करक ज़िला (लाल रंग में)

करक (उर्दू: کرک‎, पश्तो: کرك‎, अंग्रेज़ी: Karak) पाकिस्तान के ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा प्रांत का एक ज़िला है। यह कोहाट ज़िले के दक्षिण में, बन्नू और लक्की मरवत ज़िलों के उत्तर में स्थित है। पेशावर से कराची जाने वाले सिन्धु राजमार्ग के रस्ते में आने वाला यह ज़िला ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा की राजधानी पेशावर से १२३ किलोमीटर की दूरी पर है। कहा जाता है कि करक पाकिस्तान का इकलौता ज़िला है जिसमें केवल एक ही पश्तून क़बीले के लोग रहते हैं और यह ख़टक कबीला है।[1]

विवरण[संपादित करें]

करक ज़िले में सन् १९९८ में ४,३०,७९६ लोगों कि आबादी थी। इसका क्षेत्रफल क़रीब ३,३७२ वर्ग किमी है। १९४० से लेकर १९८२ तक यह कोहाट ज़िले का हिस्सा था, लेकिन १ जुलाई १९८२ को इसे एक अलग ज़िले का दर्जा दे दिया गया। इसकी राजधानी टेरी नामक शहर है और किसी ज़माने में टेरी नवाब का इस पूरे ज़िले पर राज हुआ करता था। यहाँ के लोग ख़टक क़बीले के बरक उपक़बीले के पठान हैं और इस पूरे क्षेत्र में पश्तो बोली जाती है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Murtaza Malik. "The curtain rises: uncovered conspiracies in Pakistan, Afghanistan". Royal Book Co., 2002. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9789694072715.