मध्य प्रदेश की नदियों की सूची

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मध्य प्रदेश में उप-उष्णकटिबंधीय जलवायु होने के कारण यहाँ की नदियों और नालों की एक बड़ी संख्या को जल मानसून की बारिश (1,400 मि॰मी॰ (55.1 इंच)) से को प्राप्त होता है। मात्रा के अनुसार इनमें से सबसे बड़ी नर्मदा, और उसके बाद ताप्ती आती है। मध्य प्रदेश पांच प्रमुख नदी घाटियों में आता है। राज्य का उत्तरी भाग गंगा बेसिन के भीतर पड़ता है जहाँ बेतवा, चंबल और सोन बहते हैं। गंगा बेसिन के दक्षिण में नर्मदा बेसिन है, जो सतह क्षेत्र द्वारा दूसरा सबसे बड़ा क्षेत्र है। अन्य तीन बेसिन मध्य प्रदेश के छोटे हिस्से को कवर करते हैं, जिसमें पश्चिम में माही बेसिन,[1] तापी बेसिन[2] और दक्षिण में गोदावरी बेसिन आते है।[3][4]

मध्यप्रदेश की नदियाँ[संपादित करें]

क्र. नदी लम्बाई उद्गम स्थल अवसान सहायक नदियाँ जलप्रपात
1 नर्मदा १३१२ किमी
(म.प्र. में १०७७ किमी.)
अमरकंटक, जिला अनूपपुर खंभात की खाड़ी, गुजरात
(अरब सागर में)
हिरन, तिन्दोली, बनास, चन्द्रकेशर, कानर, बरना, तवा, शेर, शक्कर, मान धुँआधार जलप्रपात, दुग्धधारा जलप्रपात, मंधार जलप्रपात, कपिल धारा जलप्रपात, सहस्रधारा जलप्रपात, दर्दी जलप्रपात
2 चम्बल ९६५ किमी जानापाव पहाडी, महू (इंदौर) यमुना नदी में संगम, इटावा (उ.प्र.) काली सिंध, पार्वती, क्षिप्रा झाड़ी दाहा जलप्रपात, पातालपानी जलप्रपात
3 ताप्ती 724 बैतूल के मुल्ताई से खंबात की खाड़ी में पूर्णा शिवा बोरी
4 सोन 780 km अनूपपुर जिले से उत्तर प्रदेश के सोनभद्र तथा बिहार जोहिला गोपद रिहंड
5 बेतवा 480 km रायसेन के कुमारागौं से यूपी हमीरपुर यमुना नदी बिना धसाना सिंध
6 तवा 172km
7 क्षिप्रा 195km धार
8 बेनगंगा seoni
9 केन 292km पन्ना
10 सिंध विदिशा
11 कालीसिंध
12 गार
13 छोटी तवा
14 शक्कर
15 वर्धा बैतूल
16 कुंवारी शिवपुरी
17 पार्वती/पारा sehor
18 कुनू
19 धसान रायसेन
20 टोंस/तमसा सतना
21 माही

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Mahi Basin". India-WRIS. मूल से 17 January 2017 को पुरालेखित.
  2. "Tapi Basin". India-WRIS. मूल से 17 January 2017 को पुरालेखित.
  3. "Godavari Basin". India-WRIS. मूल से 17 January 2017 को पुरालेखित.
  4. Amarasinghe, Upali; एवं अन्य (2005). Spatial variation in water supply and demand across river basins of India. Colombo, Sri Lanka: International Water Management Institute. पृ॰ 3. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-92-9090-572-1.