बहुजन समाज पार्टी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बहुजन समाज पार्टी
Elephant Bahujan Samaj Party.svg
दल अध्यक्ष मायावती
महासचिव सतीश चन्द्र मिश्र
संसदीय दल अध्यक्ष मायावती
नेता राज्यसभा सतीश चन्द्र मिश्र
गठन 1984
मुख्यालय 11, गुरुद्वारा रकाबगंज रोड,
नई दिल्ली - 110001
लोकसभा मे सीटों की संख्या
0 / 543
राज्यसभा मे सीटों की संख्या
5 / 245
राज्य विधानसभा में सीटों की संख्या उत्तर प्रदेश विधानसभा
19 / 403
राजस्थान विधानसभा
6 / 199
मध्य प्रदेश विधानसभा
2 / 230
छत्तीसगढ़ विधान सभा
2 / 90
हरियाणा विधानसभा
1 / 90
झारखंड विधानसभा
1 / 82
कर्नाटक विधानसभा
1 / 225
विचारधारा आंबेडकरवाद, दलितों को सशक्त तथा स्वाभिमानी बनाने पर केन्द्रीत, बौद्ध दर्शन
प्रकाशन सरोज प्रकाश गौतम नगर पंचायत औरास उन्नाव
जालस्थल http://bspindia.org/
भारत की राजनीति
राजनैतिक दल
चुनाव


बहुजन समाज पार्टी (अंग्रेजी: Bahujan Samaj Party; लघुरूप: बसपा) सार्वभौमिक न्याय, स्वतंत्रता, समानता और भाईचारे के सर्वोच्च सिद्धांतों की सोच वाला, भारत का एक राष्ट्रीय राजनीतिक दल है। इसका गठन मुख्यत: एक क्रांतिकारी सामाजिक और आर्थिक आंदोलन के रूप में काम करने के लिए किया गया है जो भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न, समाजवादी, पंथनिरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा उसके समस्त नागरिकों को सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक न्याय, विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतन्त्रता, प्रतिष्ठा और अवसर की समानता दिलाने, उनमें व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखण्डता सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढाने के लिए कार्य करती है जैसा भारतीय संविधान की प्रस्तावना में वर्णित है। इसका गठन मुख्यत: भारतीय जाति व्यवस्था के अन्तर्गत सबसे नीचे माने जाने वाले बहुजन, जिसमें अन्य पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अल्पसंख्यक शामिल हैं, ऐसे समाज का प्रतिनिधित्व करने के लिए किया गया था, जिनकी जनसंख्या भारत देश में 85% है।[1][2][3][4] इस दल का दर्शन बाबासाहेब आम्बेडकर के मानवतावादी दर्शन व बौद्ध दर्शन से प्रेरित है।

संक्षिप्त इतिहास[संपादित करें]

बसपा का गठन उच्च प्रोफ़ाइल वाले करिश्माई लोकप्रिय नेता कांशीराम द्वारा 14 अप्रैल 1984 में किया गया था। इस पार्टी का राजनीतिक प्रतीक (चुनाव चिन्ह) एक हाथी है। 13 वीं लोकसभा (1999-2004) में पार्टी के 14 सदस्य थे। 14 वीं लोक सभा में यह संख्या 17 और 15 वीं लोक सभा में यह संख्या 21 थी। वर्तमान अर्थात 16वीं लोकसभा में बसपा का कोई प्रतिनिधि नहीं है। बसपा का मुख्य आधार उत्तर प्रदेश है और पार्टी ने इस प्रदेश में कई बार अन्य पार्टियों के समर्थन से सरकार भी बनाई है। मायावती कई वर्षों से पार्टी की अध्यक्ष हैं।

बहुजन शब्द का इतिहास[संपादित करें]

बहुजन शब्द तथागत बुद्ध के धर्मोपदेशों (त्रिपिटक) से लिया गया है, तथागत बुद्ध ने कहा था बहुजन हिताय बहुजन सुखाय उनका धर्म बहुत बड़े जन-समुदाय के हित और सुख के लिए हैं।

उत्तर प्रदेश में पूर्ण बहुमत[संपादित करें]

11 मई 2007 को घोषित विधान सभा चुनाव परिणामों के पश्चात् उत्तर प्रदेश राज्य में 1991 से 15 वर्षों तक त्रिशंकु विधान सभा का परिणाम भुगतने के बाद भारत के सर्वाधिक आबादी वाले राज्य में स्पष्ट बहुमत प्राप्त कर सत्ता में आयी। बसपा अध्यक्ष मायावती ने मुख्यमंत्री के रूप में उत्तर प्रदेश में अपने चौथा कार्यकाल शुरू करते हुए 13 मई 2007 को प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 50 अन्य मन्त्रियों के साथ मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण की। बहुजन शब्द का सबसे पहले इस्तेमाल गौतम बुद्ध ने किया था।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Jaffrelot, Christophe (2003). India's Silent Revolution: The Rise of the Lower Castes in North India (अंग्रेज़ी में). Hurst. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781850653981.
  2. "The Caravan of the Bahujan Movement – Why it Lost its Momentum and Direction". velivada.com. अभिगमन तिथि 2018-03-09.
  3. "The Contradictory Bahujan of the BSP – Countercurrents". Countercurrents (अंग्रेज़ी में). 2017-04-28. अभिगमन तिथि 2018-03-09.
  4. "Bahujan Samaj Party: National Political Party of India - Majority People's Party". www.bspindia.org. अभिगमन तिथि 2018-03-09.