विकिपीडिया:तटस्थ दृष्टिकोण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Nutshell.png इस नीति का सार: लेखों को पक्ष नहीं लेना चाहिए, लेकिन न्यायपूर्वक और पूर्वाग्रह के बिना पक्षों को समझाना चाहिए। यह आप क्या कहते हैं और कैसे कहते हैं दोनों पर लागू होता है।

तटस्थ दृष्टिकोण या निष्पक्ष दृष्टिकोण से संपादन करने का मतलब है किसी विषय पर विश्वसनीय स्रोतों द्वारा प्रकाशित किये गए सभी महत्वपूर्ण विचारों का न्यायपूर्वक, आनुपातिक रूप से और जहां तक ​​संभव हो, पूर्वाग्रह के बिना प्रतिनिधित्व करना। सारे विकिपीडिया लेख और अन्य ज्ञानकोश सामग्री तटस्थ दृष्टिकोण से लिखी होनी चाहिए। निष्पक्ष दृष्टिकोण विकिपीडिया का और अन्य विकिमीडिया परियोजनाओं का एक मौलिक सिद्धांत है। यह नीति अपरक्राम्य है और सभी संपादकों और लेखों को इसका पालन करना होगा। तटस्थ दृष्टिकोण, मूल शोध नहीं और सत्यापनीयता विकिपीडिया की मुख्य सामग्री नीतियाँ हैं। वे सामग्री का निर्धारण करने के लिए एक साथ काम करते हैं, तो संपादकों को सभी तीनों के मुख्य बिंदुओं को समझना चाहिए।

तटस्थ दृष्टिकोण का स्पष्टीकरण[संपादित करें]

उसको हासिल करना जो विकिपीडिया समुदाय तटस्थता समझता है, मतलब ध्यान से और गुण-दोष की दृष्टि से विश्वसनीय स्रोतों की विविधता का विश्लेषण करना और तब पाठकों को उन में निहित जानकारी न्यायपूर्वक, आनुपातिक रूप से और जहां तक ​​संभव हो, पूर्वाग्रह के बिना व्यक्त करने का प्रयास करना। विकिपीडिया का उद्देश्य विवादों का वर्णन करना है, उनमें शामिल होना नहीं है। संपादकों का स्वाभाविक रूप से अपना दृष्टिकोण होगा, लेकिन उनको पूरी जानकारी उपलब्ध कराने का अच्छी नीयत में प्रयास करना चाहिए और किसी एक दृष्टिकोण को दूसरे के उपर बढ़ावा नहीं देना चाहिये। इस तरह, तटस्थ दृष्टिकोण का मतलब कुछ दृष्टिकोण का बहिष्कार करना नहीं है, बल्कि सभी सत्यापनीय दृष्टिकोण को पर्याप्त भार देना है।

  • राय को तथ्य बताने से बचें। आमतौर पर, लेख में अपने विषयों के बारे में व्यक्त की गई महत्वपूर्ण राय के बारे में जानकारी होगी। मगर, यह राय विकिपीडिया की आवाज़ में नहीं कही जानी चाहिए। बल्कि, वे पाठ में विशेष स्रोतों के उपर आरोपित होनी चाहिये या जहां उचित है, व्यापक विचार के रूप में वर्णित कर देना चाहिये, आदि। उदाहरण के लिए, एक लेख में ये नहीं कहना चाहिये कि "नरसंहार एक बहुत बुरा कार्य है", लेकिन वो ऐसा कह सकता है कि "नरसंहार मानव बुराई के प्रतीक के रूप में संजय क द्वारा वर्णित किया गया है।"
  • गंभीर विवादास्पद दावे को तथ्य बताने से बचें। अगर विभिन्न विश्वसनीय स्रोत किसी मामले के बारे में परस्पर विरोधी दावे करते हैं, तो इन दावों को तथ्य के बजाय राय माने और प्रत्यक्ष बयान के रूप में पेश न करें।
  • तथ्यों को राय बताने से बचें। विश्वसनीय स्रोतों द्वारा किए गए निर्विरोध और अविवादास्पद तथ्यात्मक दावे सामान्य रूप से सीधे विकिपीडिया की आवाज़ में कहे जाने चाहिए। जब तक कोई विषय विशेष रूप से किसी असहमति के साथ संबंधित न हो जो अन्यथा निर्विरोध जानकारी है, दावे के लिए विशिष्ट आरोपण की कोई ज़रूरत नहीं है, हालांकि सत्यापनीयता के समर्थन में स्रोत के लिए एक संदर्भ लिंक जोड़ना उपयोगी है। इसके अलावा, अंश ऐसे नहीं लिखा जाना चाहिये कि वो विवादास्पद प्रतीत हो।
  • गैर निर्णायक भाषा को प्राथमिकता दें। तटस्थ दृष्टिकोण अपने विषय (या विश्वसनीय स्रोत विषय के बारे में क्या कहते हैं) के साथ न ही सहानुभूति रखता है और न ही उपेक्षा, हालांकि यह कभी-कभी स्पष्टता के खिलाफ संतुलित किया जाना चाहिए। एक उदासीन स्वर में मौजूद राय और परस्पर विरोधी निष्कर्ष पेश करें।
  • विरोधी विचार की आपेक्षिक प्रमुखता इंगित करें। सुनिश्चित करें कि एक विषय पर अलग-अलग विचार का लेखन पर्याप्त रूप से उन विचारों के लिए समर्थन के सापेक्ष स्तरों को दर्शाता है और यह समता की एक गलत धारणा नहीं देता या किसी विशेष दृष्टिकोण को अनुचित भार नहीं देता। उदाहरण के लिए, कहना कि "साइमन विज़ंथल के अनुसार, होलोकॉस्ट जर्मनी में यहूदी लोगों की तबाही का एक कार्यक्रम था लेकिन डेविड इरविंग इस विश्लेषण से इत्तेफ़ाक नहीं रखते" प्रत्येक क्षेत्र में एक ही कार्यकर्ता को निर्दिष्ट करके बड़ी बहुमत और छोटे से अल्पसंख्यक को आभासी समता देना होगा।

तटस्थता हासिल करना[संपादित करें]

एक सामान्य नियम के रूप में, स्रोतित जानकारी विश्वकोश से केवल इसलिये न निकाले कि वो पक्षपातपूर्ण लगती है। इसके बजाय, तटस्थ लहज़े को प्राप्त करने के लिए अंश या अनुभाग को फिर से लिखने की कोशिश करें। पक्षपातपूर्ण जानकारी आमतौर पर अन्य स्रोतों से उद्धृत सामग्री के साथ तटस्थ दृष्टिकोण का उत्पादन करने के लिए संतुलित की जा सकती है, इसलिए इस तरह की समस्या जब भी संभव हो सामान्य संपादन प्रक्रिया के माध्यम से सही की जानी चाहिए। सामग्री तभी निकाले जब आपको पास विश्वास करने के लिये अच्छा कारण है कि यह पाठकों को गुमराह करती या गलत जानकारी देती है। नीचे दिए गए अनुभाग आम समस्याओं पर विशेष मार्गदर्शन प्रदान करते हैं।

नामकरण[संपादित करें]

लेख के लिए उपयुक्त शीर्षक चुनने पर अधिक जानकारी के लिए लेख शीर्षक नीति देखें।

लेख संरचना[संपादित करें]

तटस्थता की रक्षा के लिए, दृष्टिकोण forking और अनुचित भार जैसी समस्याओं से बचने के लिए किसी लेख की आंतरिक संरचना पर अतिरिक्त ध्यान देने की जरूरत हो सकती है। हालांकि कोई विशेष लेख संरचना एक नियम के रूप में, निषिद्ध नहीं है, पर ध्यान रखा जाना चाहिए कि समग्र प्रस्तुति मोटे तौर पर तटस्थ है।

केवल सामग्री के ही स्पष्ट दृष्टिकोण पर आधारित विभिन्न क्षेत्रों या उपखंड में पाठ या अन्य सामग्री का अलगाव का नतीजा अज्ञानकोशीय संरचना हो सकता है। जैसे समर्थकों और विरोधियों के बीच एक के पीछे एक और आगे बातचीत के रूप में।[1] यह तथ्य का एक आभासी पदानुक्रम भी बना सकते हैं जहां मुख्य अनुभाग में विवरण "सच" और "निर्विवाद" दिखाई देते हैं, जबकि अन्य पृथक सामग्री "विवादास्पद" समझी जाती है और इसलिए उसे गलत होने की संभावना अधिक है। बहस का विवरण वर्णन में जोड़कर तटस्थ पाठ को प्राप्त करने का प्रयास करें, न कि अनुभागों में उन्हें अलग-थलग करें जिससे वह एक दूसरे की उपेक्षा करें या एक दूसरे के खिलाफ लड़ाई करें।

उचित और अनुचित भार[संपादित करें]

तटस्थता के लिये जरूरी है कि लेख या अन्य मुख्यस्थान के पन्ने प्रकाशित, विश्वसनीय स्रोतों में प्रत्येक दृष्टिकोण की प्रमुखता के अनुपात में, सभी महत्वपूर्ण दृष्टिकोण का प्रतिनिधित्व करे।[2] उचित भार देना और अनुचित भार देने से परहेज करना से मतलब है कि अल्पमत विचार या पहलुओं को अधिक व्यापक रूप से समर्थित विचारों या पहलुओं से ज़्यादा, या विस्तृत विवरण नहीं देना चाहिए। आम तौर पर, छोटे अल्पसंख्यकों के विचारों को शामिल ही नहीं किया जाना चाहिए, सिवाय शायद उन के विशिष्ट विचारों के बारे में एक लेख के लिए "यह भी देखें" में।

ध्यान में रखें कि उचित भार का निर्धारण करने में, हम विश्वसनीय स्रोतों में किसी दृष्टिकोण की व्यापकता पर विचार करते है, न कि विकिपीडिया के संपादकों या आम जनता के बीच व्यापकता पर।

अगर आप किसी सिद्धांत को साबित कर सकते हैं जो वर्तमान में कुछ या कोई भी नहीं मानता है, विकिपीडिया ऐसे सबूत पेश करने के लिए जगह नहीं है। जब इसे विश्वसनीय स्रोतों में प्रस्तुत किया जाएगा और विचार-विमर्श किया जाएगा, यह उचित रूप से शामिल किया जा सकता है। देखें "मूल शोध नहीं" और "सत्यापनीयता"।

निष्पक्ष लहजा[संपादित करें]

विकिपीडिया विवादों का वर्णन करती है। विकिपीडिया विवादों में संलग्न नहीं करती है। विवादों का तटस्थ वर्णन के लिये निष्पक्ष लहज़े के साथ दृष्टिकोण पेश करने की आवश्यकता है; अन्यथा लेख का रूप पक्षपातपूर्ण टिप्पणियों तक सीमित रह जाएगा, यहां तक कि सभी प्रासंगिक बिंदुओं पेश करते हुए भी। तटस्थ लेख ऐसे लहज़े में लिखा जाता है जिसमें शामिल सभी स्थितियों के लिए निष्पक्ष, सटीक, और आनुपातिक प्रतिनिधित्व हो। विकिपीडिया लेख का लहजा निष्पक्ष होना चाहिए, लेख न तो किसी खास बिंदु का समर्थन करता हो और न ही खारिज।

कलापक्ष राय का वर्णन[संपादित करें]

कला और अन्य रचनात्मक विषयों (जैसे, संगीतकार, अभिनेता, लेखक, किताबें, आदि) के बारे में विकिपीडिया लेख असंयत बनने की प्रवृत्ति होती है। विश्वकोश में इसके लिये जगह नहीं है। कलापक्ष राय विविध और व्यक्तिपरक है—हम सब दुनिया के सबसे बड़े लेखक के बारे में सहमत नहीं हो सकते। हालांकि, कोई कलाकार या कृति को प्रमुख विशेषज्ञों और आम जनता द्वारा कैसे स्वीकार किया गया है पर टिप्पणी करना उपयुक्त है।

टिप्पणियाँ[संपादित करें]

  1. केवल आलोचना के लिए समर्पित लेख का अनुभाग और लेख के भीतर समर्थन और विरोध अनुभाग, दो अधिक उद्धृत उदाहरण हैं।
  2. विकिपीडिया के संपादकों या आम जनता के बीच प्रत्येक दृष्टिकोण की सापेक्ष प्रमुखता प्रासंगिक नहीं है और उसपर विचार नहीं किया जाना चाहिये।