टार्ज़न

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Tarzan
First edition cover
Dust-jacket illustration of Tarzan of the Apes
पहला अवतरण Tarzan of the Apes
आखरी अवतरण Tarzan: the Lost Adventure
द्वारा Edgar Rice Burroughs
निभाने वाले Johnny Weissmuller
Buster Crabbe
Frank Merrill
Information
Aliases John Clayton II [1]
John Clayton III [2]
लिंग Male
पेशा Adventurer, hunter, trapper, fisherman
वरियता Viscount Greystoke [3]
Duke Greystoke [2]
Earl Greystoke [4]
पत्नी(यां) Jane Porter (wife)
बच्चे Korak (son)
रिश्तेदार William Cecil Clayton (cousin)
Meriem (daughter in law)
Jackie Clayton (grandson)[5]
Dick & Doc (distant cousins)
Bunduki (adopted son)
Dawn (great-granddaughter)
राष्ट्रियता English

टार्जन एक काल्पनिक चरित्र है, वह एक आदिरूप जंगली बच्चा है जिसे अफ्रीका के जंगलों में मंगानी "महान वानरों" के द्वारा पाल पोस कर बड़ा किया जाता है; बाद में वह सामाजिक जीवन में लौट आता है, लेकिन इसे स्वीकार नहीं कर पाता है और एक साहसी वीर के रूप में फिर से जंगल में लौट आता है. टार्ज़न एक ऐसा पात्र है जिसे एडगर राईस बरोज के द्वारा बनाया गया, सबसे पहले इस पात्र को उपन्यास टार्ज़न ऑफ़ द एप्स (मैगजीन प्रकाशन 1912, पुस्तक प्रकाशन 1914) में देखा गया, और इसके बाद इसके 25 सिक्वल्स में, अन्य लेखकों की तीन अधिकृत पुस्तकों में, और मीडिया के असंख्य अधिकृत या अनाधिकृत कामों में भी देखा गया.

टार्जन का चरित्र[संपादित करें]

टार्जन एक ब्रिटिश सरदार और उनकी पत्नी का बेटा है जिन्हें विद्रोहियों के द्वारा अफ्रीका के पश्चिमी तट पर भेज दिया गया.

जब टार्ज़न एक साल का था, उसकी मां प्राकृतिक कारणों से मर गयी, और उसके पिता को वानर जनजाति के नेता कर्चाक (Kerchak) के द्वारा मार दिया गया, इसी जनजाति में टार्ज़न को अपना लिया गया.

टार्ज़न की वानर जनजाति को मंगानी के नाम से जाना जाता है, एक प्रजाति के महान वानर जो विज्ञान के लिए अज्ञात हैं. काला उसकी वानर मां है. टार्ज़न (सफेद त्वचा) उसका वानर नाम है; उसका अंग्रेजी नाम जॉन क्लेटन, लोर्ड ग्रेस्टोक है. (टार्ज़न, लोर्ड ऑफ़ द जंगल , बाद में अर्ल ऑफ़ ग्रेस्टोक , गैर विहित स्रोतों, विशेष रूप से 1984 की फिल्म ग्रेस्टोक में बरोज के अनुसार औपचारिक शीर्षक विस्काउंट ग्रेस्टोक है) वास्तव में, बरोज, टार्ज़न ऑफ़ द एप्स के लेखक के रूप में, क्लेटन और ग्रेस्टोक दोनों का वर्णन काल्पनिक नाम के द्वारा करते हैं-इसका अर्थ यह है कि जिस काल्पनिक दुनिया में टार्ज़न रहता है, उसका कोई अलग वास्तविक नाम हो सकता है.


एक युवा व्यस्क के रूप में, टार्ज़न एक युवा अमेरिकी महिला जेन पोर्टर से मिलता है, जिसे उसे उसके पिता और उसके दल के कई लोगों के साथ अफ्रीका के तट पर ठीक उसी जगह पर भेज दिया जाता है जहां 20 साल पहले टार्ज़न के माता पिता को भेज दिया गया था. जब वह अमेरिका लौटती है, वह उसकी खोज में जंगल छोड़ देता है, जिसे वह अपना सच्चा प्यार मान रहा है. बाद की किताबों में, टार्ज़न और जेन शादी कर लेते हैं और वह उसके साथ कुछ समय के लिए इंग्लैण्ड में रहता है. उनका एक बेटा, जैक है, जिसे वानर नाम कोरक ("खूनी") (Korak ("the Killer")) दिया जाता है.

टार्जन सभ्यता के पाखंडता से तिरस्कारपूर्ण महसूस करता है, और वह और जेन अफ्रीका लौट जाते हैं, एक व्यापक संपत्ति पर अपना घर बनाते हैं, जहां बाद में टार्ज़न के साहसिक कार्य सामने आते हैं.

टार्जन में, बरोज ने एक नायक के चरित्र का चरम उदाहरण प्रस्तुत किया है,

वह कोकेशियन, बहुत हष्ट पुष्ट, लम्बा, सुन्दर, और सांवला है, उसकी आखें ग्रे और बाल काले हैं.

भावनात्मक रूप से, वह साहसी, वफादार और स्थिर प्रवृति का है. वह बुद्धिमान है और आसानी से नयी भाषाओं को सीख जाता है. कम से कम बरोज की परिभाषाओं के द्वारा उसे इस तरह से प्रस्तुत किया गया है कि वह नैतिकतापूर्ण व्यवहार करता है, परन्तु कुछ विशेष स्थितियों में वह बहुत दुखी हो जाता है, जैसे जब टार्ज़न ऑफ़ द एप्स में उसकी वानर मां काला की हत्या कर दी जाती है, या जब टार्ज़न द अनटेमड (Tarzan the Untamed) में उसे पता चलता है कि जेन की हत्या कर दी गयी है.

वह अपनी पत्नी से बहुत प्यार करता है और उसके प्रति पूरी तरह से समर्पित है; कई स्थितियों में जहां अन्य महिलाएं उसके प्रति अपने आकर्षण को अभिव्यक्त करती हैं, टार्ज़न विनम्रता से परन्तु दृढ़ता के साथ उनकी ओर ध्यान नहीं देता है.

जब कभी किसी कमज़ोर व्यक्ति या दल पर किसी शक्तिशाली दुश्मन के द्वारा वार किया जाता है, तो टार्ज़न हमेशा कमज़ोर दल का पक्ष लेता है. अन्य पुरुषों के साथ निपटने में टार्ज़न बहुत दृढ और सशक्त है.

पुरुष मित्रों के साथ वह कम बातचीत करता है, उनसे संकोच करता है, परन्तु बहुत अधिक वफादार और उदार है.


एक मेजबान के रूप में वह उतना ही उदार और दयालु है. एक नेता के रूप में वह पूरी वफादारी और समर्पण की भावना के साथ आदेश देता है.

इन महान विशेषताओं के विपरीत, टार्जन का दर्शन "प्रकृति में लौटने" के चरम रूप को गले लगाता है. हालांकि वह एक सभ्य नागरिक के तरह समाज में रह सकता है, फिर भी वह "सामाजिक जीवन से दूर जाना" पसंद करता है, जैसा कि बरोज ने अक्सर दर्शाया है.[6]

चाकू और शेर की खाल उसकी पसंदीदा पोशाक है, उसका पसंदीदा आवास स्थान एक आरामदायक पेड़ की टहनी है, जब वह सोना चाहता है, तब वहां आराम करता है, कच्चा मांस उसका पसंदीदा भोजन है, जिसे वह खुद मार कर खाता है; यहां तक कि वह कभी कभी इस मांस को एक सप्ताह के लिए मिटटी में दबा देता है ताकि अपघटन की प्रक्रिया से यह कुछ नर्म हो जाये.


टार्ज़न के आदिवासी दर्शन को असंख्य प्रशंसकों के द्वारा पसंद किया गया है, जेन गुडाल इनमें से एक हैं, जो बताती हैं कि टार्ज़न सीरीज ने उनके बचपन को बहुत अधिक प्रभावित किया है.

उनका कहना है कि उन्हें लगता है कि वे टार्ज़न की काल्पनिक पत्नी, जेन की तुलना में उसकी बेहतर जीवन साथी होतीं और जब पहली बार उन्होंने चिम्पान्जियों के बीच रहना और उन पर अध्ययन करना शुरू किया, तब वे टार्ज़न की तरह महान वानरों के बीच रहने का अपना बचपन का सपना पूरा कर रहीं थीं.[7]


रुडयार्ड किपलिंग के मोगली ने टार्ज़न के निर्माण के लिए एडगर राईस बरोज को बहुत अधिक प्रभावित किया है. मोगली भी कई अन्य "जंगली लड़कों" (काल्पनिक जंगली बच्चों की सूची) के पात्र का ही एक प्रभाव है.


कुशलताएं और क्षमताएं[संपादित करें]

एक जंगली परिवेश में परवरिश के कारण टार्ज़न के पास ऐसी असाधारण क्षमताएं हैं जो सामान्य मनुष्य से परे हैं.

इसमें किसी भी महान वानर की तरह, या उससे भी ज्यादा अच्छी तरह से चढ़ाई करना, पकड़ बनाना, और उछलना शामिल है.

वह बहुत तेज गति से झूलने के लिए शाखाओं और लटकती हुई लताओं (बेलों) का प्रयोग करता है, यह एक ऐसी कुशलता है जो मानवाकार वानरों में पायी जाती है.


उसकी ताकत, गति, चपलता, संवेदनाएं, सजगता, लचीलापन और तैराकी सामान्य पुरुषों की तुलना में असाधारण हैं. उसने पूर्ण विकसित बैल वानर और गोरिल्ला, शेर, राइनो, मगरमच्छ, अजगर, चीता, मानव के आकार के समुद्री घोड़े (एक बार) और यहां तक कि डायनासोर (जब उसने पेल्युसीडर का दौरा किया) के साथ भी कुश्ती लड़ी है.

वह कुछ ही दिनों में नयी भाषा सीख जाता है, इसलिए कई भाषाएं बोलता है, इसमें महान वानरों की भाषाएं, फ्रांसीसी, अंग्रेजी, डच, जर्मन, स्वाहिली, कई बंटू बोलियां, प्राचीन यूनानी, प्राचीन लेटिन, मायन, और चींटी पुरुष की भाषा और पेल्युसीडर की भाषा शामिल है.

वह जंगली जानवरों की कई प्रजातियों के साथ भी बातचीत करता है.

साहित्य[संपादित करें]

टार्ज़न को दुनिया के सर्वोत्तम साहित्यिक पात्रों में से एक पात्र के रूप के रूप में जाना जाता है.[8] बरोज के द्वारा लिखी गयी दो दर्ज़न किताबों और कई अन्य लेखकों की किताबों के अलावा, यह पात्र फिल्मों, रेडियो, टेलिविज़न, कोमिक स्ट्रिप और हास्य पुस्तकों में दिखाई देता है.

कई पेरोडियों और पायरेटेड कार्यों में भी इसे देखा जा सकता है.

विज्ञान कथा लेखक फिलिप जोस फार्मर ने टार्ज़न की जीवनी, टार्ज़न अलाइव लिखी, जिसमें इस फ्रेम उपकरण का उपयोग किया गया है कि वह एक वास्तविक व्यक्ति था.

फार्मर के काल्पनिक ब्रह्माण्ड में, टार्ज़न, डोक सेवेज और शेर्लोक होल्म्स के साथ, दुनिया के न्यूटन परिवार के कोने के पत्थर हैं.

फार्मर ने दो उपन्यास लिखे, हेंडन ऑफ़ एनशियेंट ओपर , और फ्लाईट टू ओपर , जिसमें बहुत पुराने अतीत की बात की गयी है और ओपर के लुप्त हो चुके शहर को महत्त्व दिया गया है, जो टार्ज़न की किताबों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.

इसके अलावा, फार्मर का अ फीस्ट अननॉन , और इसके दो सिक्वल लोर्ड ऑफ़ द ट्रीस और द मेड गोबलिन , टार्ज़न के अतीत को बताते हैं और डोक सेवेज कहानियां हैं, ये उन "वास्तविक" पात्रों की कहानियों को बताती हैं जिन पर काल्पनिक पात्र आधारित हैं.

अ फीस्ट अननॉन को टार्ज़न और डोक सेवेज के प्रशंसकों के द्वारा ज्यादा पसंद नहीं किया जाता है, ऐसा इसकी ग्राफिक हिंसा और यौन अवयवों के कारण है.


हालांकि टार्ज़न ऑफ़ द एप्स का कॉपीराईट संयुक्त राज्य अमेरिका में एक्सपायर (इसका समय ख़त्म हो चुका है) हो चुका है, नाम टार्ज़न अब भी एडगर राईस बरोज, इंक. के ट्रेडमार्क के रूप में संरक्षित है.[9]

साथ ही, कुछ अन्य देशों में काम कॉपीराईट के तहत ही हो रहा है, जहां कॉपीराईट की अवधि लम्बी है.

आलोचनात्मक प्रतिक्रिया[संपादित करें]

जहां एक और टार्ज़न ऑफ़ द एप्स ने आलोचनात्मक सफलता का सामना किया है, सीरीज़ में इसके बाद की किताबों का बेहतर स्वागत किया गया और व्युत्पन्न और फार्मूलाबद्ध होने के कारण इनकी आलोचना भी गयी है.

पात्रों को अक्सर द्वि-आयामी बताया गया है, इनके संवाद और कहानी बताने वाले उपकरणों (जैसे संयोग पर जरुरत से ज्यादा भरोसा किया गया है) पर कहीं न कहीं तनाव बना हुआ है.

लेखक रुडयार्ड किपलिंग (जिन्होंने खुद एक जंगली बच्चे की कहानियां, द जंगल बुक्स मोगली लिखीं हैं), के अनुसार बरोज ने टार्ज़न ऑफ़ द एप्स को सिर्फ इसलिए लिखा है ताकि वे "पता लगा सकें कि वे कितनी बुरी किताब लिख सकते हैं और इसके साथ कहां तक जा सकते हैं ."

[10]   

हालंकि बरोज एक मंजे हुए उपन्यासकार नहीं हैं, वे एक ज्वलंत कहानीकार हैं, और उनके कई उपन्यास अभी भी छप रहें हैं.[11]

1963 में, लेखक गोरे विडाल ने टार्ज़न सीरीज पर लिखा कि, टार्ज़न किताबों में पायी जाने वाली कई कमियों जैसे साहित्य के काम की ओर इशारा करते हुए भी वे एडगर राईस बरोज की प्रशंसा करते हैं, क्योंकि उन्होंने "दिन के सपने जैसी इस आकृति" का सजीव चित्रण किया है.[12]


काफी आलोचना के बाद भी टार्ज़न की कहानियां लोकप्रिय बनी हुई हैं.

अपनी काल्पनिक दुनिया में बरोज की नाटकीयता की स्थिति और उनके काम का विस्तृत विवरण, जैसे उनके महान वानरों के लिए आंशिक भाषा का बनाया जाना, प्रशंसकों को अपनी ओर खींचता है.[13]


एक अंकारा मनोरंजन पार्क से इस प्रदर्शन में टार्जन घूमते हुए.

जिस समय में टार्ज़न की पुस्तकों और फिल्मों को लिखा गया, वे एक सामान्य अंश तक व्यापक रूढ़िवादिता (stereotyping) को दर्शाती हैं. इसने बाद के वर्षों में आलोचना को जन्म दिया, जिसके साथ सामाजिक विचारों और प्रथाओं में परिवर्तन आया, इसमें 1970 के दशक के बाद से नस्लवाद भी शामिल है.[14]

प्रारंभिक पुस्तकें अरबी और काले दोनों प्रकार के देशी अफ्रीकियों का व्यापक नकारात्मक और रुढ़िवादी चित्रण उपलब्ध कराती हैं.

रिटर्न ऑफ़ टार्ज़न में, अरबी "बदमिजाज़" दिखाई देते हैं, और ईसाईयों को "कुत्ता" पुकारते हैं, जबकि काले लोग "लचीले बदन के, योद्धा, इशारे से समझाने वाले और बकवास करने वाले हैं."

कोई इसी तरह का तर्क दे सकता है कि काले लोगों के लिए बरोज साधारण रूप से बेकार पत्रों का चित्रण कर रह था, और "टार्ज़न एंड द ज्वेल्स ऑफ़ ओपर" के अध्याय 6 में अच्छे पात्रों का विवरण दिया गया, जहां बरोज मुंबई में लिखते हैं, ".......किसी भी भूमि या जलवायु में इससे ज्यादा वफादार और इससे ज्यादा बहादुर सरंक्षक नहीं हो सकता." [15] अन्य समूह रुढ़िवादी हैं. एक स्वीडिश "की लम्बी पीली मूंछ है, एक ख़राब सा रंग है, और गंदे नाख़ून हैं", और रुसी कार्ड में धोखा करते हैं.

कुलीनता (ग्रेस्टोक हाउस को छोड़कर) और भव्यता हमेशा अशक्त हैं.[16]

बाद की किताबों में, अफ्रीकियों को कुछ अधिक वास्तविक लोगों के रूप में चित्रित किया गया है. उदाहरण के लिए, टार्ज़न'स क्वेस्ट में, जहां एक ओर काले अफ्रीकियों का वर्णन अपेक्षाकृत आदिम प्रकार का है, उनका चित्रण अधिक व्यक्तिगत रूप से किया गया है, उनमें अच्छे और बुरे विविध प्रकार के लाक्षणिक गुण दर्शाए गए हैं, जबकि मुख्य खलनायक गोरे होते हैं.

हालांकि, बरोज कभी भी यूरोपीय भव्यता में अरुचि को नहीं खोते हैं.[17]


बरोज की राय, कहानियों की कथात्मक आवाज में अभिव्यक्त होती है, जो उनके समय के सामान्य व्यवहार को प्रतिबिंबित करती है, जो 21 वीं सदी सन्दर्भ में जातिवाद और सबसे ज्यादा सेक्सीट माना जाएगा.

हालांकि थॉमस एफ बार्टोन्यू बरोज के बारे में लिखते हैं "नारीवादी अवधारणा जो महिलाओं को पुरुषों के स्तर तक उठाती हैं और-ऐसे पात्र जो बार्सोम उपन्यासों की देझा कहानियों में या उपन्यासों में दिखाई देते हैं-ऐसे नारी प्रकार को अभिव्यक्त करते हैं जो एक गृहणी के रूप में हताश है, ना तो मध्यम स्तर की कैरियरवादी कार्यालय प्रबंधक है, ना ही आदर्श प्रोफेसर है, लेकिन जो अपनी वास्विक मानवता में इन सभी सीमाओं को पार करती है और ऐसा करने में अपने फीकेपन की सलाह देती है."[18]


लेखक विशेष रूप से अपने दृष्टिकोण में उत्साहपूर्ण नहीं है. उसके नायक महिलाओं के विरुद्ध हिंसा में या जातिवाद से प्रेरित हिंसा में शामिल नहीं हैं.

टार्ज़न ऑफ़ द एप्स में, म्बोन्गा के "कभी महान" रहे लोगों के द्वारा गोरों के कष्ट के विवरण को बार बार सहानुभूति के साथ बताया गया है, और गोरों के प्रति उनकी वर्तमान दुश्मनी का स्पष्टीकरण भी दिया गया है.



बहरहाल, तदनुसार उच्च वर्ग और निम्न वर्ग के बीच सम्बन्ध का निर्धारण किया गया है, जो टार्ज़न की काहनियों में गोरों और कालों के बीच स्पष्ट दिखाई देता है और इसी प्रकार के संबंधों को भीं लोगों के बीच होने वाली बातचीत में देखा जा सकता है, हालांकि मूल्यांकन के बिना कोई कहानी नहीं हो सकती है.

जेम्स लोवेन की सनडाउन टाउंस के अनुसार, यह ओक पार्क, इलिनिओस से बरोज का निशान हो सकता है, जो एक सनडाउन टाउन है (एक कस्बा जो काले लोगों को इसमें रहने से रोकता है).

गेल बेडरमेन अपनी मेन्लिनेस एंड सिविलाइज़ेशन में एक भिन्न दृष्टिकोण प्रस्तुत करती हैं: अ कल्चरल हिस्ट्री ऑफ़ जेंडर एंड रेस इन द यूनाईटेड स्टेट्स, 1880-1917 .

इसमें वे वर्णन करती हैं कि कैसे उस समय के भिन्न लोग इस विचार को चुनौती स्वरुप लेते थे कि "सभ्यता" का पूर्वानुमान श्वेत मर्दानगी पर लगाया जाता है.

वे 1912 की टार्ज़न ऑफ़ द एप्स के एक अध्याय पर ख़त्म करती हैं क्योंकि उनके अनुसार कहानी का नायक 1912 के श्वेत अमेरिकियों में से एक मानक पुरुष है.

बेडरमेन के अनुसार टार्ज़न, "एक विभेदित रूप से राजपूत अंग्रेजी" है, जो लैंगिक हिंसा में लिप्त नहीं है, "बलात्कार करने के मरदाना आवेग" का त्याग करता है.

हालांकि, वह यह भी नोट करती हैं कि टार्ज़न न केवल अपनी वानर मां (उसकी जैविक गोरी मां) की हत्या का बदला लेने के लिए अश्वेत पुरुष कुलोंगा की हत्या कर देता है बल्कि उसे लटका देता है, "लिंचार टार्ज़न को वास्तव में काले लोगों को मारने में मजा आता है, उदाहरण के लिए नरभक्षी म्बोंगान.


वास्तव में, बेडरमेन पाठकों को याद दिलाते हैं कि जब टार्ज़न पहली बार अपने आप को "टार्ज़न" कहकर जेन को परिचित कराता है, और अपने आप को जंगली जानवरों और कई काले पुरुषों का हत्यारा बताता है."

उपन्यास के क्लाइमेक्स में टार्ज़न जेन को बचाता है-जो मूल उपन्यास में ब्रिटिश नहीं है लेकिन बाल्टीमोर, मेरिलैंड की एक श्वेत महिला है- एक काले वानर बलात्कारी से है.


जब वह जंगल को छोड़ता है और "सभ्य" अफ्रीकियों को खेती करते हुए देखता है, उनके काले होने के कारण पहली नज़र में उन्हें मारने की इच्छा उसमें पैदा हो जाती है. "जैसा कि लिंच पीड़ित ने उत्तरी प्रेस में रिपोर्ट किया है, टार्ज़न के पीड़ित-डरपोक, कायर, नरभक्षक और गोरी महिलाओं से दूर भागते हैं-उनमें मर्दानगी का अभाव है. इस प्रकार से टार्ज़न की लिंचिंग उसे एक बेहतर पुरुष साबित करती है."


जिन गोरे लोगों (थियोडोर रूजवेल्ट, जी. स्टेनले हाल, चर्लोटे पार्किंस गिल्मेन, इडा बी. वेल्स), की उन्होंने समीक्षा की है उनके द्वारा अस्वीकृत श्वेत लोगों के आलावा, बेडरमेन कहते हैं कि सभी संभावनाओं में, बरोज उनमें से किसी के लिए भी किसी प्रकार की बयानबाजी की कोशिश नहीं कर रहे थे. "उन्होंने संभवतया उनमें में से किसी के बारे में कभी नहीं सुना है."


इसके बजाय, बेडरमेन लिखते हैं कि बरोज अपने बिंदु को साबित करती हैं क्योंकि उन जातिवादी और सेक्सी कहानियों को बताने में जिनमें काले लोगों को मारने पर जोर दिया गया है, वह बिल्कुल भी असामान्य नहीं था, लेकिन इसके बजाय सिर्फ 1912 का एक प्रारूपिक श्वेत अमेरिकी था.[19]


अनधिकृत काम[संपादित करें]

बरोज की मृत्यु के बाद कई लेखकों ने उनके एस्टेट की अनुमति के बिना नयी टार्ज़न कहानियां बनायीं.

कुछ उदाहरणों में, ऐसे अनाधिकृत काम के प्रकाशन पर एस्टेट के द्वारा रोक लगा दी गयी.

इसका सबसे उल्लेखनीय अपवाद था संयुक्त राज्य अमेरिका में छद्म नाम "ब्रेटन वरपर" के द्वारा पांच उपन्यासों की इसके परिणामस्वरूप एडगर राईस बरोज, इंक. के द्वारा क़ानूनी कार्रवाई की गयी, जिसके बाद इन्हें बाजार से हटा लिया गया और शेष प्रतिलिपियों को नष्ट कर दिया गया.

इसी तरह की सीरीज़ अन्य देशों में भी सामने आई, इनमें मुख्य थे अर्जेंटीना, इज़राइल, और कुछ अरब देश.


इज़राइल में 1950 के दशक में और 1960 के प्रारंभ में एक स्थानीय उद्योग बन गया जिसमें कई प्रतिस्पर्धी प्रकाशन गृहों के द्वारा टार्ज़न के साहसिक रोमांच का प्रकाशन साप्ताहिक रूप से 24 पृष्ठ की एक पुस्तिका (ब्रोशर) में किया जाता था, इनमें से किसी ने भी बरोज एस्टेट से अधिकारिक अनुमति लेना उपयुक्त नहीं समझा. समकालीन अफ्रीका में टार्ज़न पर आधारित कहानियों में, 1950 के दशक के केन्या में माउ माउ के साथ उनकी लड़ाई एक लोकप्रिय विषय रहा है और इनमें कई बार वे अपने विद्रोही को एक हाथ से ही कुचल देते हैं.

उन्होंने बाहरी अन्तरिक्ष से अफ़्रीकी जंगलों में आकर हमला करने वाले आक्रमणकारियों, राक्षसों, और पिशाचों की कई किस्मों के साथ भी लड़ाई की है, और बरोज कैनन में दिए गए विवरण के अलावा कई और शहरों और संस्कृतियों की खोज भी की है.

कुछ पुस्तिकाओं (ब्रोशर) में वे इजराइलियों से मिल जाते हैं और अरबी दुश्मन के खिलाफ इज़राइल का पक्ष लेते हैं, विशेष रूप से नासीर के ईजिप्ट का.


इनमें से किसी भी ब्रोशर में लेखक का नाम कभी नहीं दिया जाता और प्रकाशकों के नाम दिए गए होते हैं-"एलिफेंट पब्लिशिंग" (हिब्रू: הוצאת הפיל‎), "राइनो पब्लिशिंग" (हिब्रू: הוצאת הקרנף‎) और ऐसे ही मिलते जुलते नाम- इनमें टेल अवीव और येरुशलम में पीओबी नम्बरों और पते से ज्यादा कोई जानकारी नहीं दी गयी होती.

टार्ज़न पर बने ये ब्रोशर अपने समय में इजराइली युवाओं में बहुत लोकप्रिय रहे, इन्होने मूल टार्ज़न उपन्यासों के असंख्य हेब्रू अनुवादों के साथ टार्जन पर बने ब्रोशर का प्रभाव 1960 के दशक के मध्य में कम होने लगा, अब जो प्रतिलिपियां बाज़ार में बची हैं, उन्हें इज़राइल की काम में ली गयी पुस्तकों के बाज़ार में उंचे दामों पर बेचा जाता है.

शोधकर्ता एली एशेद ने टार्ज़न के ब्रोशर, इजराइली पल्प मेग्ज़ीन्स और पेपरबैक्स पर काफी समय दिया है और पर्याप्त प्रयास किया है.[20][21][22] (हेब्रू वेबसाईट जिसका कवर है "टार्ज़न'स वार अगेन्स्ट द जर्मन्स").

इज़राइल में टार्जन की लोकप्रियता ने हेब्रू भाषा पर अपना प्रभाव डाला है. इसके अनुसार "टार्ज़न" (हिब्रू: טרזן‎) लम्बे समय से पाया जाने वाल एक हेब्रू शब्द है, जिसका अनुवाद है dendil , फोप, कोक्स्कोम्ब (dandy, fop, coxcomb)" (आर. अल्केले की 1990 की कम्प्लीट हेब्रू-इंग्लिश डिक्शनरी के अनुसार). हालांकि, ऐसे अर्थ से युक्त शब्द नहीं हो सकता जो किसी ऐसे लोकप्रिय काल्पनिक पात्र का नाम हो, जो

1950 के दशक के बाद से, इस शब्द ने बोली जाने वाली भाषा से अपने मूल अर्थ को खो दिया, और वर्तमान में हेब्रू बोलने वाले इस शब्द का अर्थ नहीं जानते हैं फिर भी यह शब्द शब्दकोष में विधिवत दिखाई देता है.[कृपया उद्धरण जोड़ें]


1950 के दशक में सीरिया और लेबनोन में टार्ज़न की अनधिकृत कहानियां बहुत विकसित हुईं.

इन संस्करणों में टार्जन अरब का कट्टर समर्थक था और उसने भिन्न पैशाचिक इजराइली प्लोट्स के लिए अपने अरबी मित्रों की मदद की.[23]


फिल्म में टार्ज़न और अन्य गैर प्रिंट मीडिया[संपादित करें]

फिल्म[संपादित करें]

इंटरनेट मूवी डेटाबेस की सूची में टार्ज़न नाम की 89 फ़िल्में हैं जो 1918 और 2008 के समय के बीच की हैं.

सबसे पहली टार्ज़न फ़िल्में मूक फिल्में थीं जिन्हें मूल टार्ज़न उपन्यासों से लिया गया था, जो इस पात्र के निर्माण के कुछ ही सालों के भीतर बनायीं गयीं.

बातचीत से युक्त फिल्मों के आगमन के साथ, एक लोकप्रिय टार्ज़न मूवी फ्रेंचाइजी का विकास किया गया, जो 1930 से लेकर 1960 के दशक तक चली.

1932 में टार्ज़न द एप मेन से शुरू होकर 1948 तक बारह फ़िल्में बनायीं गयीं, इसकी फ्रेंचाइजी को शीर्षक भूमिका में पूर्व ओलम्पिक तैराक जॉनी वीसमुलर के द्वारा चलाया गया.

वीसमुलर और उनके ठीक बाद आने वाले अनुवर्तियों ने वानर-मानव को पिडगिन बोलने वाले एक असभ्य क्रूर प्राणी के रूप में चित्रित किया, जो बरोज के उपन्यासों के सुसंस्कृत पात्र के विपरीत था.

1959 में, टार्ज़न'स ग्रेटेस्ट एडवेंचर (इसके अभिनेता गोर्डोन स्कोट और प्रोड्यूसर सी वीनट्रुब के द्वारा किया गया) के साथ, यह पात्र शिक्षित अंग्रेजी भाषी बन पाया. पचास के दशक के मध्य से पहले बनी टार्ज़न फ्रेंचाइजी फिल्में अधिकतर श्वेत-श्याम (black and white) होती थीं, जिनकी शूटिंग स्टूडियो के सेट पर ही की जाती थी, और इसमें जंगल के फुटेज के दृश्य डाल दिए जाते थे. 1959 से वीनट्रुब प्रोडक्शन ने फिल्मों की शूटिंग विदेशी स्थानों में शुरू कर दी और अब फिल्में रंगीन बनने लगीं.

ऐसे कई धारावाहिक भी बने जिन्होंने मुख्य फ्रेंचाइजी के साथ प्रतिस्पर्धा की, इनमें टार्ज़न द फीयरलेस (1933), जिसमें बस्टर क्रेबे ने अभिनय किया, और द न्यू एडवेंचर्स ऑफ़ टार्ज़न (1935), जिसमें हर्मन ब्रिक्स ने अभिनय किया, शामिल हैं.

बाद का धारावाहिक अपने समय में अद्वितीय था, क्योंकि इसे आंशिक रूप से लोकेशन (ग्वाटेमाला) पर फिल्माया गया और टार्ज़न को शिक्षित दिखाया गया. यह एकमात्र टार्ज़न फिल्म परियोजना थी जिसके प्रोडक्शन में एडगर राईस बरोज ने व्यक्तिगत रूप से काम किया.

1930 के दशक से टार्ज़न फिल्में अक्सर टार्ज़न के चिम्पेंजी साथी चीता, उनकी पत्नी जेन (जिसे आमतौर पर उपनाम नहीं दिया जाता है), और गोद लिए गए बेटे, जिसे सामान्यतया केवल "ब्वॉय" के रूप में जाना जाता है, के साथ फिल्माई गयीं,

1959 से सी वीनट्रुब प्रोडक्शन ने जेन के पात्र को हटा दिया और टार्ज़न को एक अकेले साहसी के रूप में दर्शाया.


डिज्नी की एनिमेटेड टार्ज़न (1999) ने वानर पुरुष की एक नयी शुरुआत की, यह बरोज और 1984 की फिल्म दोनों से समान रूप से प्रेरित थीGreystoke: The Legend of Tarzan, Lord of the Apes .


रेडियो[संपादित करें]

टार्ज़न दो लोकप्रिय रेडियो कार्यक्रमों के नायक थे. पहला कार्यक्रम 1932-1936 तक चला, जिसमें जेम्स पियर्स ने टार्ज़न की भूमिका निभाई.

दूसरा कार्यक्रम 1951-1953 तक चला जिसमें शीर्षक भूमिका लेमोन्ट जॉनसन ने निभाई.[24]


टेलीविज़न[संपादित करें]

बाद में टेलिविज़न, इस पात्र को सार्वजनिक बनाने वाला एक प्राथमिक माध्यम बन गया.


1958 में, फिल्म टार्जन गॉर्डन स्कॉट को एक टेलिविज़न श्रृंखला के तीन एपिसोड्स के रूप में प्रसारित किया गया.

कार्यक्रम की बिक्री नहीं हुई, लेकिन एक अलग तरह का लाइव एक्शन टार्ज़न सीरीज एनबीसी (NBC) पर 1966 से 1968 तक चला, जिसमें रोन एली ने अभिनय किया. फिल्मांकन से एक एनिमेटेड श्रृंखला, टार्ज़न, लोर्ड ऑफ़ द जंगल , 1976 से 1977 तक चली, जिससे पहले कई कार्यक्रम प्रसारित किये जा चुके थे, ये कार्यक्रम हैं बेटमेन/टार्ज़न एडवेंचर आर (Batman/Tarzan Adventure Hour) (1977–1978), टार्ज़न एंड द सुपर 7 (Tarzan and the Super 7) (1978–1980), द टार्ज़न/लोने रेंजर एडवेंचर आर (The Tarzan/Lone Ranger Adventure Hour) (1980–1981), और द टार्ज़न/लोने रेंजर/ जोरो एडवेंचर आर (The Tarzan/Lone Ranger/Zorro Adventure Hour) (1981–1982)


जो लारा ने एक अलग तरह की टीवी फिल्म टार्ज़न इन मैनहट्टन (1989) में शीर्षक भूमिका निभाई, और बाद में पूरी तरह से अलग एक नयी लाइव-एक्शन सीरीज़ Tarzan: The Epic Adventures (1996) में लौट गए.

इसी बीच लारा के साथ दो प्रोडक्शन किये गए, टार्ज़न (Tarzán) , एक आधे घंटे की सिंडिकेटेड सीरीज़ जो 1991 से 1994 तक चली.

शो के इस संस्करण में, टार्ज़न को एक पर्यावरणविद् के रूप में चित्रित किया गया था, औ जेन को एक फ्रांसीसी परिस्थितिकी विज्ञानी में बदल दिया गया.


डिज्नी की एनिमेटेड श्रृंखला द लिगेंड ऑफ़ टार्ज़न (2001-2003) इसकी एनिमेटेड फिल्म से ली गयी थी.

नवीनतम टेलीविजन श्रृंखला लाइव एक्शन टार्ज़न (2003) थी, जिसमें पुरुष मॉडल ट्रेविस फिम्मल ने अभिनय किया और इसकी सेटिंग को समकालीन न्यूयोर्क शहर के अनुसार अद्यतन (अपडेट) किया गया, इसमें जेन पुलिस की एक जासूस थी, जिसकी भूमिका इस सीरीज़ को केवल आठ एपिसोड्स के बाद ही रद्द कर दिया गया.

1981 का एक टेलीविजन स्पेशल, द मपेट्स गो टू द मूवीस , "टार्ज़न एंड जेन" शीर्षक से युक्त एक छोटे स्केच को चित्रित करता है.

इसमें लिलि टोमलिन ने जेन की और द ग्रेट गोंज़ो ने टार्ज़न की भूमिका निभाई.


इसके अलावा, 1960 के दशक के बाद से मपेट्स ने छह बार टार्ज़न के लिए सन्दर्भ दिया.

सेटरडे नाईट लाइव में "फ्रेंकस्टीन, टोंटो, और टार्ज़न" के त्रिक भाषण को चित्रित किया गया.


रंगमंच[संपादित करें]

1921 में टार्ज़न ऑफ़ द एप्स का एक ब्रोडवे प्रोडक्शन किया गया, जिसमें रोनाल्ड अदाइर ने टार्ज़न की और एथल दायेर ने जेन पोर्टर की भूमिका निभाई.

1976 में, रिचर्ड ओ ब्रेन एक संगीत लिखा जिसका शीर्षक था टी. ज़ी , जो शिथिल रूप से टार्ज़न पर आधारित था लेकिन इसे फिर से रॉक इडियम की शैली में बनाया गया.

10 मई 2006 को ब्रोडवे पर रिचर्ड रोजर्स थियेटर में, 1999 के एनिमेटेड फीचर का एक संगीत रंगमंच अनुकूलन, टार्ज़न खोला गया.

यह शो, डिज्नी थियेटर का एक प्रोडक्शन था, जिसे बोब क्राउले ने बनाया और इसका निर्देशन भी किया.

टार्ज़न के जिस संस्करण को रिचर्ड रोजर्स थियेटर में प्रदर्शित किया जा रहा था, उसी तरह का संस्करण पूरे यूरोप में दर्शाया जाता है, और होलैंड में इसे बहुत अधिक सफलता प्राप्त हुई है.

ब्रॉडवे शो 8 जुलाई 2007 को बंद हो गया. टार्जन टार्ज़न रॉक्स! में भी दिखाई दिया. इस शो को वाल्ट डिज्नी वर्ल्ड रिसोर्ट के डिज्नी एनीमल किंगडम में थियेटर में दर्शाया गया.

यह शो 2006 में बंद हो गया.

वीडियो और कंप्यूटर गेम[संपादित करें]

1980 के दशक में मध्य में जंगल किंग नामक एक आर्केड वीडियो गेम था, जिसमें टार्ज़न जैसे एक पात्र को शेर की खल में दर्शाया गया.

 टार्ज़न गोज़ एप  नामक एक गेम को 1980 में कमोडोर 64 के लिए रिलीज़ किया गया.  
 माइकल आर्चर के द्वारा एक टार्ज़न  कम्पयूटर गेम को मार्टेक के द्वारा बनाया गया. 
 डिज्नी टार्ज़न के कुछ वीडियो गेम प्लेस्टेशन के लिए रिलीज़ किया गये, ये हैं नाइनटेंडो 64 ( Nintendo 64) और गेम ब्वॉय कलर (Game Boy Color). 
 डिज़्नी के टार्ज़न अनटेमड  के बाद पीएस 2 और गेमक्यूब आये. 
 टार्जन पीएस 2 गेम किंगडम हार्ट्स  में भी दिखाई दिया, हालांकि इस टार्ज़न को डिज़्नी के सन्दर्भ में दर्शाया गया था, बरोज के मूल टार्ज़न के रूप में नहीं.   पहले रेमेन (Rayman)  में, रेमेन का एक टार्ज़न जैसा संस्करण ड्रीम फोरेस्ट में दिखाई देता है, जिसका नाम टाराईज़न है.  

क्षणभंगुरता[संपादित करें]

टार्ज़न की थीम पर कई उत्पाद बनाये गये हैं, जिनमें व्यू-मास्टर रील्स और पैकेट्स, टार्ज़न पर असंख्य चित्रकला की किताबें, बच्चों की किताबें, बिंदु मिलाने वाली किताबें, एयरफिक्स प्लास्टिक फिगर्स[25] और गतिविधियों पर आधारित अन्य किताबें शामिल हैं.


कॉमिक्स में टार्ज़न[संपादित करें]

1929 के प्रारंभ में, टार्ज़न ऑफ़ द एप्स के कुछ हिस्से अखबार में छापे जाने लगे, जिसमें हाल फोस्टर के उदाहरण भी थे.

 15 मार्च 1931 को रेक्स मेकसन के द्वारा रविवार का एक पूरा पृष्ठ शुरू किया गया.   कई सालों में, कई कलाकारों ने टार्ज़न  को कॉमिक्स में चित्रित किया है, जिनमें बरने होगार्थ, रस मेनिंग और माइक ग्रेल प्रमुख हैं.   अंतिम रस मेनिंग डेली (#10,308, जो 29 जुलाई 1972 को चली) के बाद डेली स्ट्रिप ने पुरानी डेलीज़ (दैनिक) को फिर से प्रकाशित करना शुरू किया. 
 सन 2000 के आस पास रविवार के अखबार में फिर से प्रकाशन शुरू हुआ.  दोनों स्ट्रिप्स को वर्तमान में कुछ अख़बारों में और कॉमिक्स रेव्यू  मेग्ज़ीन्स में प्रकाशित किया जाना जारी है.   एनबीएम प्रकाशन (NBM Publishing) ने 1990 के दशक में पेपरबैक पुनः प्रकाशन और हार्डबैक की एक श्रृंखला में टार्ज़न पर होगार्थ और फोस्टर की उच्च गुणवत्ता की पुनः प्रकाशन श्रृंखला को शुरू किया. 

कई सालों के दौरान टार्ज़न असंख्य प्रकाशकों की कई कॉमिक पुस्तकों में दिखाई दिया है.

 सबसे पहले यह पात्र कॉमिक पुस्तकों में स्पार्कल , टिप टॉप कॉमिक्स , और सिंगल सीरीज़  जैसे शीर्षकों के साथ दिखाई दिया. 
 वेस्टर्न प्रकाशन ने टार्ज़न  को डेल कॉमिक्स के फोर कलर कॉमिक्स  #134 & 161 में 1947 में प्रकाशित किया, इसके बाद उसकी अपनी सीरीज, टार्ज़न  को डेल कॉमिक्स के माध्यम से प्रकाशित किया गया और बाद में इसे जनवरी-फरवरी 1948 से फरवरी 1972 तक गोल्ड की कॉमिक्स के माध्यम से प्रकाशित किया गया. 
 डीसी ने 1972 में सीरीज़ को टेक ओवर कर लिया, इस दौरान अप्रैल 1972 से फरवरी 1977 के बीच जोई कुबर्ट के काम सहित, टार्ज़न #207-258 का प्रकाशन किया गया. 
 1977 में यह सीरीज़ मार्वल कॉमिक्स के पास चली गयी, जिसने पिछले प्रकाशकों के द्वारा प्रयुक्त प्रक्रिया के बजाय फिर से क्रमांकन को शुरू किया. 
 मार्वल ने मुख्य रूप से जॉन बुस्केमा के द्वारा, जून 1977 से अक्टूबर 1979 तक, टार्ज़न  #1-28 (और तीन वार्षिक पत्रिकाओं) को शुरू किया. 
 मार्वल सीरीज़ के ख़त्म होने के बाद, कई सालों तक इस पात्र को कोई नियमित प्रकाशक नहीं मिला. 
 इस अवधि के दौरान ब्लैकथोर्न कॉमिक्स ने 1986 में टार्ज़न  का प्रकाशन किया, और 1992 में मालिबू कॉमिक्स ने टार्ज़न  कॉमिक्स का प्रकाशन किया.   डार्क होर्स कॉमिक्स ने 1996 से लेकर वर्तमान तक कई टार्ज़न  सीरीज़ का प्रकाशन किया है, जिनमें पिछले प्रकाशकों जैसे गोल्ड की और डीसी के काम का पुनः प्रकाशन भी शामिल है, साथ ही अन्य प्रकाशकों के साथ संयुक्त परियोजनाएं भी शामिल हैं जिनमें अन्य पात्रों को भी लिया गया. 


कॉमिक पुस्तकों में टार्ज़न की कई छोटी प्रस्तुतियों के अलावा, कई अन्य कॉमिक पुस्तक परियोजनाएं भी रहीं हैं जिन्हें कई सालों के दौरान अन्य प्रकाशकों के द्वारा प्रस्तुत किया गया,

 तोकुहिरो मसाया के द्वारा जापानी मंगा सीरीज़ जंगल नो ओउजा ता- चान (Jungle no Ouja Ta-chan)  (जंगल किंग तार-चान (Jungle King Tar-chan)) शिथिल रूप से टार्ज़न पर आधारित थी.    इसके अलावा, मंगा "गोड" ओसामू तेज़ुका ने 1948 में एक टार्ज़न मंगा का निर्माण किया जिसका शीर्षक था टार्ज़न नो हिमित्सू किची (Tarzan no Himitsu Kichi)  (टार्ज़न'स सीक्रेट बेस )

टार्ज़न से प्रेरित काम[संपादित करें]

1940 के दशक में, फिनिश लेखक लहज़ा वलाकिवी ने टारसा कार्हुमीस , अर्थात टारसा द बियर मेन के बारे में चार साहसिक उपन्यासों का प्रकाशन किया.

 ये पुस्तकें ज़ाहिर तौर पर टार्ज़न से प्रेरित थीं, लेकिन उन्हें एक फिन्निश सेटिंग में अपनाया गया: चूंकि फिनलैंड में बन्दर नहीं हैं, इसलिए हीरो टारसा का काम भालुओं के द्वारा किया गया.[26] 
 

टार्जन की लोकप्रियता ने असंख्य नक्कालों को प्रेरित किया, जो पल्प मेग्जीन्स में दिखाई दी. ऐसे कई काम जैसे क्वा (Kwa) और का-ज़ार (Ka-Zar) प्रत्यक्ष या गुप्त प्रतिलिपियां थीं, अन्य जैसे पोलेरिस ऑफ़ द स्नोज़ भिन्न सेटिंग में, या भिन्न आकर्षणों के साथ इसी तरह के पात्र थे.

 इन पात्रों में से सबसे लोकप्रिय था की-गोर (Ki-Gor), उन्होंने 59 उपन्यासों में अभिनय किया जो 1939 के सर्दियों से लेकर 1954 की बसंत तक मेग्जीन्स की जंगल कथाओं में दिखाई दिया.[27] 

1967 में, जे वार्ड प्रोडक्शंस ने एनिमेटेड सीरीज़ जोर्ज ऑफ़ द जंगल , एक टार्ज़न जैसा वानर- पुरुष रीलीज़ किया.

  बाद में एक फिल्म बनायी गयी जिसमें ब्रेंडन फ्रासर ने अभिनय किया, बाद में डायरेक्ट-टू-वीडियो सिक्वल बनाया गया. 


2007 में जॉर्ज ऑफ़ द जंगल कार्टून का एक कनाडाई रीमेक बनाया गया, इसे अमेरिका में कार्टून नेटवर्क और कनाडा में टेलीटून पर दर्शाया गया.

 इस शो पर आधारित एक वीडियो गेम वी (Wii), पीएस2 ( PS2), और नाइनटेनडो डीएस (Nintendo DS) के लिए रिलीज़ किया गया. 


एशिया में, सेटीराइज़िन्ग वेस्टर्न एन्टरटेनमेंट में फिलिप सिनेमा ने स्टार्ज़न बनाया, यह एक कॉमेडी फिल्म थी जो शिथिल रूप से मूल टार्ज़न फ्रेंचाइजी पर आधारित थी. इसमें फिलिप्नो कोमेडिक अभिनेता जोई डे लिओन ने स्टार्ज़न की भूमिका निभाई, रेने रेक्वीएस्टास ने "चीते" की और ज़्सा ज़्सा पेडिला ने जेन की भूमिका निभाई.


टार्ज़न जिओफ़ राइमन के द्वारा दी गयी, पुस्तक लस्ट में संक्षिप्त रूप से टार्ज़न दिखाई देता है.[28]

नील गेमेन की द ग्रेवयार्ड बुक में टार्ज़न की कुछ इसी तरह की अवधारणायें हैं.


वॉरेन एलिस और जॉन केसेडे की भूमण्डलीय विशेषता के द्वारा जारी संस्करणों 1 और 17 में एक ब्रिटिश टार्ज़न पात्र केविन सेक, और लोर्ड ब्लैकस्टोक हैं, जो "अपनी शिशु अवस्था में खो जाता है, इसे जंगली जानवरों के द्वारा उठा लिया जाता है" और अब (1930 के संस्करण 17 में) "कुछ सालों के बाद अफ्रीका लौट आता है".

विविध तथ्य[संपादित करें]

  • लोस एंजिल्स का टार्ज़ना जिला, जहां बरोज ने अपना घर बनाया, उसे 1927 में टार्ज़न के सम्मान में पुनः नाम दिय गया.
  • एक पूर्व ब्रिटिश एमपी और सीनियर सरकारी मंत्री, माइकल हेसेलटीन, को उपनाम टार्ज़न दिया गया, क्योंकि एक बार हाउस ऑफ़ कॉमन्स में औपचारिक गदा को जब्त करके वाद विवाद के बीच उनके सर पर टांग दिया गया.
 इस क्रिया के साथ, हेसेल्टाइन के सुनहरे बालों के साथ, इस क्रिया को साफ़ तौर पर टार्ज़न की शैली कहा जाता है.[कृपया उद्धरण जोड़ें]
  • मैन'स एडवेंचर के मार्च 1959 के संस्करण के द्वारा एक कहानी प्रकाशित की गयी, जिसका शीर्षक था, "द मेन हू रियली वास_टार्ज़न", यह कहानी थोमस ललेवान जोन्स के द्वारा लिखी गयी थी. इस लेख का दावा है कि टार्ज़न, स्ट्रीथम के चौदहवें अर्ल विलियम चार्ल्स मिल्दिन पर आधारित था, माना जाता है, वह इंग्लैण्ड लौटने से पहले 1868 (उम्र 11) से 1883 के बीच वानरों के बीच रहता था.
 लेख में दावा की गयी कोई भी कहानी लन्दन के दस्तावेजों के अभिलेखागार में मौजूद नहीं है, और ब्रिटिश उमरा में ऐसे किसी अर्ल का कोई रिकॉर्ड नहीं है. बहरहाल, कहानी के रूप में कभी कभी "तथ्य" को प्रकट करती है.


  • 2006 में, ऑल-स्टोरी मैगज़ीन का अक्टूबर 1912 का एक उदाहरण, किसी माध्यम में टार्ज़न की पहली प्रस्तुति को बताता है, जिसे डलास द्वारा आयोजित विरासत की नीलामी में $59,750 की बोली पर बेचा गया.[29]

ग्रंथ-सूची[संपादित करें]

एडगर राइस बरोज की बुकप्लेट, टार्ज़न को मंगल ग्रह पकडे हुए दर्शाते हुए, बरोज की कहानियों से अन्य पात्रों से घिरा हुआ. 1918 के आस पास.

एडगर राइस बरोज के द्वारा[संपादित करें]

मुख्य श्रृंखला
  1. टार्ज़न ऑफ़ द एप्स (1912) (प्रोजेक्ट गुटेनबर्ग प्रविष्टि: Ebook) (LibriVox.org Audiobook)
  2. द रिटर्न ऑफ़ टार्ज़न (1913) (ईबुक) (ऑडियोबुक)
  3. द बीस्टस ऑफ़ टार्ज़न (1914) (ईबुक) (ऑडियोबुक)
  4. द सन ऑफ़ टार्ज़न (1914) (ईबुक) (ऑडियोबुक)
  5. टार्ज़न एंड द ज्वेल्स ऑफ़ ओपर (1916) (ईबुक) (ऑडियोबुक)
  6. जंगल टेल्स ऑफ़ टार्ज़न (1919) (ईबुक) (ऑडियोबुक)
    • "टार्ज़न'स फर्स्ट लव" (1916)
    • "द केप्चर ऑफ़ टार्ज़न" (1916)
    • "द फाईट फॉर द बालू" (1916)
    • "द गोड ऑफ़ टार्ज़न" (1916)
    • "टार्ज़न एंड द ब्लैक बॉय" (1917)
    • "द विच-डॉक्टर सीक्स वेन्जिआन्स" (1917)
    • "द एंड ऑफ़ बुकवाई" (1917)
    • "द लायन" (1917)
    • "द नाईटमेर" (1917)
    • "द बेटल फॉर टीका" (1917)
    • "अ जंगल जोक" (1917)
    • "टार्ज़न रेस्क्यूस द मून" (1917)
  1. टार्ज़न द अनटेमड (1920) (ईबुक)
    • "टार्ज़न एंड ड हन्स" (1919)
    • "टार्ज़न एंड द वेली ऑफ़ लूना" (1920)
  2. टार्ज़न द टेरिबल (1921) (ईबुक)
  3. टार्ज़न एंड द गोल्डन लायन (1922, 1923) (ईबुक)
  4. टार्ज़न एंड द एंट मेन (1924) (ईबुक)
  5. टार्ज़न, लोर्ड ऑफ़ द जंगल (1927, 1928) (ईबुक)
  6. टार्ज़न एंड द लोस्ट अम्पायर (1928) (ईबुक)
  7. टार्ज़न एट द अर्थ'स कोर (1929) (ईबुक)
  8. टार्ज़न द इनविंसिबल (1930, 1931) (ईबुक)
  9. टार्ज़न ट्रिउमफेंट (1931) (ईबुक)
  10. टार्ज़न एंड द सिटी ऑफ़ गोल्ड (1932) (ईबुक)
  11. टार्ज़न एंड द लायन मेन (1933, 1934) (ईबुक)
  12. टार्ज़न एंड द ल्योपार्ड मेन (1935) (ईबुक)
  13. टार्ज़न'स क्वेस्ट (1935, 1936) (ईबुक)
  14. टार्ज़न एंड द फोर्बिडन सिटी (1938) (ईबुक)
  15. टार्ज़न द मेग्निफिकेंट (1939) (ईबुक)
    • "टार्ज़न एंड द मेजिक मेन" (1936)
    • "टार्ज़न एंड द एलिफेंट मेन" (1937-1938)
  16. टार्ज़न एंड द फोरें लीजन (1947) (ईबुक)
  17. टार्ज़न एंड द टार्ज़न ट्विन्स (1963 युवा पाठकों के लिए)
    • "द टार्ज़न ट्विन्स" (1927) (ईबुक)
    • "टार्ज़न एंड द टार्ज़न ट्विन्स एंड जेड-बल-जा द गोल्डन लायन" (1936) (ईबुक)
  18. टार्ज़न एंड मेडमेन (1964)
  19. टार्ज़न एंड कास्टवेस (1965)
    • "टार्ज़न एंड कास्टवेस" (1941) (ईबुक
    • "टार्ज़न एंड द चैंपियन" (1940)
    • "टार्ज़न एंड जंगल मरडर्स" (1940)
  20. Tarzan: the Lost Adventure (जोई आर लेन्स्देल के साथ) (1995)

अन्य लेखकों के द्वारा[संपादित करें]

  • बार्टन वर्पर- इन उपन्यासों को कभी भी बरोज एस्टेट के द्वारा अधिकृत नहीं किया गया, इन्हें बाजार से हटा लिया गया और बची हुई प्रतिलिपियों को नष्ट कर दिया गया.
    1. टार्ज़न एंड द सिल्वर ग्लोब (1964)
    2. टार्ज़न एंड द केव सिटी (1964)
    3. टार्ज़न एंड द स्नेक पीपल (1964)
    4. टार्ज़न एंड द एबोमिनेबल स्नोमेन (1965)
    5. टार्ज़न एंड द विंगड इन्वेडर्स (1965)
  • फ्रिट्ज लीबर - पहला उपन्यास बरोज एस्टेट के द्वारा अधिकृत कर दिया गया, और इसे टार्ज़न श्रृंखला में 25 वीं किताब के रूप में गिना गया.
    • टार्ज़न एंड द वेली ऑफ़ गोल्ड (1966)
  • फिलिप जोस फार्मर
    • टार्ज़न पर आधारित एक पात्र (भगवान ग्रांडरीथ) नौ त्रयी में दिखाई देता है.
      • अ फीस्ट अननोन (1969 के आस पास)
      • लोर्ड ऑफ़ द ट्रीज़ (1970 के आस पास)
      • द मेड गोबलिन (1970 के आस पास)
    • टार्जन अलाइव (1972) तर्ज़न की एक काल्पनिक जीवनी (यहां लोर्ड ग्रेस्टोक), जो वोल्ड न्यूटन परिवार की दो मूल पुस्तकों (Doc Savage: His Apocalyptic Life के साथ) में से एक है.
    • टाइम'स लास्ट गिफ्ट (1972) यह अनाधिकृत उपन्यास स्पष्ट करता है की टार्ज़न (अनुमान के द्वारा निर्दिष्ट, लेकिन विशेष रूप से इसे नाम नहीं दिया गया है) प्राचीन ओपर में कैसा हो सकता है. (नीचे देखें)
    • द एडवेंचर ऑफ़ द पियरलेस पियर (1974)
    • ओपर उपन्यास- बरोज एस्टेट के द्वारा अधिकृत. ओपर उपन्यासों का एक द्वितीयक पात्र-यद्यपि इसे विशेष रूप से "टार्ज़न" नाम नहीं दिया गया है- इसे फार्मर के द्वारा टार्ज़न बताया गया है, इसे अधिकांश वोल्ड न्यूटन परिवार के विद्वानों के द्वारा शामिल किया गया है.
      • हेंडन ऑफ़ एनशियेंट ओपर (1974)
      • फ्लाईट टू ओपर (1976)
    • द डार्क हार्ट ऑफ़ टाइम (1999) यह उपन्यास विशेष रूप से बरोज एस्टेट के द्वारा प्राधिकृत था, और टार्ज़न को सिर्फ अनुमान से ज्यादा नाम से संदर्भित करता है.
फार्मर ने टार्ज़न के साथ अपने आकर्षण पर आधारित एक उपन्यास भी लिखा, जिसका शीर्षक था लोर्ड टाइगर , और उपन्यास टार्ज़न ऑफ़ द एप्स का अनुवाद एस्परेंटो में किया.
  • आर. ए. साल्वाटोर
    • Tarzan: The Epic Adventures (1996) एक अधिकृत उपन्यास जो इसी नाम की सीरीज़ के पाइलट एपिसोड पर आधारित है.
  • निगेल कॉक्स
    • टार्जन प्रेस्ले (2004) यह उपन्यास टार्ज़न और एल्विस प्रेस्ले के पहलुओं को एक ही संयुक्त पात्र के रूप में प्रस्तुत करता है, जिसका नाम टार्ज़न प्रेस्ले है, यह न्यूज़ीलैंड और अमेरिकी सेटिंग में है.
 इसी रिलीज़ पर, इस पर संयुक्त राज्य अमेरिका में कानूनी कार्रवाई की गयी, और इसके प्रारंभिक प्रकाशन के बाद इसे पुनः प्रकाशित नहीं किया गया है. 

यह भी देखें[संपादित करें]

  • टार्ज़न चीख़
  • पौराणिक कथाओं और कल्पना में जंगली बच्चे
  • जॉर्ज ऑफ़ द जंगल एनिमेटेड टीवी सीरीज और फिल्म
  • गीटार्ज़न, एक गीत
  • क्रीगाह बुन्दोलो, बिवेयर, आई किल
  • मंगानी महान वानर
  • मोगली, किपलिंग की जंगल बुक से
  • मुविरो वाज़िरी के उप-प्रमुख
  • टार्जन ब्वॉय इतालो डिस्को गीत
  • टार्जन येल द विक्ट्री क्राई ऑफ़ द बुल एप" इन मुवीस.
  • Tarzoon: Shame of the Jungle , वयस्क उन्मुख एनिमेटेड फिल्म
  • ) वजीरी (काल्पनिक जनजाति),टार्जन जनजाति
  • ज़ेम्बला, फ्रांसीसी हास्य पुस्तक चरित्र

फुटनोट्स[संपादित करें]

  1. Burroughs, Edgar Rice (1914). "Chapter XXV". Tarzan of the Apes. "our little boy... the second John Clayton" 
  2. Farmer, Philip José (1972). "Chapter One". Tarzan Alive: A Definitive Biography of Lord Greystoke. प॰ 8. http://books.google.com/books?id=Nd28jX1ft74C&printsec=frontcover&source=gbs_navlinks_s&#PPA8,M1. 
  3. Burroughs, Edgar Rice (1928). Tarzan, Lord of the Jungle. 
  4. Greystoke: The Legend of Tarzan, Lord of the Apes. Warner Bros.. 1984. 
  5. Burroughs, Edgar Rice (1924). "Chapter Two". Tarzan and the Ant Men. 
  6. द रिटर्न ऑफ़ टार्ज़न , अध्याय 2, सबसे प्रारंभिक उदाहरण
  7. देखें जेन गुडाल की जेन गुडाल संस्थान की जीवनी [1].
  8. जॉन क्लुट और पीटर निकोलस, द एन्साइक्लोपीडिया ऑफ़ साइंस फिक्शन , सेंट मार्टिन प्रेस, 1993, ISBN 0-312-09618-6, p. 178, "टार्ज़न एक उल्लेखनीय निर्माण है, और संभवतया सदी का सबसे प्रसिद्द काल्पनिक पात्र है.
  9. "द टार्ज़न ट्रेडमार्क (अमेरिका)"
  10. गेल बेडरमेन, मर्दानगी और सभ्यता: संयुक्त राज्य अमेरिका में जेंडसर और रेस का एक सांस्कृतिक इतिहास, 1880-1917, शिकागो प्रेस विश्वविद्यालय, 1995, पृष्ठ 219 .
  11. जॉन क्लुट और पीटर निकोलस, द एन्साइक्लोपीडिया ऑफ़ साइंस फिक्शन , सेंट मार्टिन प्रेस, 1993, ISBN 0-312-09618-6, p. 178, "ऐसा अक्सर कहा गया है कि ई आर बी के काम में कुछ साहित्यिक या बौद्धिक योग्यता है. फिर भी, .......क्योंकि ईआरबी के पास किसी सपने को पूरा करने की योग्यता है.
  12. "टार्जन रीविसिटेड" गोरे विडाल के द्वारा .
  13. बोज़र्थ, डेविड ब्रूस."एप-इंग्लिश डिक्शनरी".
  14. Rothschild, Bertram (1999). "Tarzan - Review". Humanist. Archived from the original on 2012-07-10. http://archive.is/USqp. 
  15. टार्ज़न एंड द ज्वेल्स ऑफ़ ओपर एसी मेकक्लर्ग, 1918
  16. एडगर राइस बरोज, द रिटर्न ऑफ़ टार्ज़न , ग्रोसेट और डनलप, 1915 ASIN B000WRZ2NG.
  17. एडगर राइस बरोज, टार्जन'स क्वेस्ट ग्रोसेट और डनलप, 1936, ASIN B000O3K9EU.
  18. [2] एडगर राइस बरोज और मरदाना कथा थोमस एफ. बार्टोन्यू
  19. गेल बेडरमेन, मेन्लिनेस एंड सिविलाइज़ेशन: अ कल्चर हिस्ट्री ऑफ़ जेंडर एंड रेस इन द यूनाईटेड स्टेट्स, 1880-1917 , यूनिवर्सिटी ऑफ़ शिकागो प्रेस, 1995, पृष्ठ 224-232.
  20. वायलेट पुस्तकें: इसराइल में टार्जन.
  21. द वीर्ड रिव्यू: टार्ज़न इन होली लैंड.
  22. אוריאל אופק מהגיהנום - הארץ.
  23. जेम्स आर नेस्त्बी, 'टार्ज़न ऑफ़ अरेबिया', लोकप्रिय संस्कृति की पत्रिका में, खंड १५, संख्या 1, 1981.
  24. रॉबर्ट आर बैरेट, टार्ज़न ओं रेडियो , रेडियो स्पिरिट्स, 1999.
  25. http://soli.inav.net/~edzwil/Tarzan.html
  26. वलाकिवी, लहजा (फीनिश) .
  27. Hutchison, Don (2007). The Great Pulp Heroes. Book Republic Press. प॰ 195. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1580421843. 
  28. लस्ट: और नो हार्म डन
  29. [3]

बाहरी लिंक[संपादित करें]

]
  • [http://www.panthanpress.com/ डेटलाइन जसूम, बरोज के प्रशंसकों का एक पोडकास्ट
]
]

साँचा:Tarzan