चीकू

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
सैपोडिला
സപ്പോട്ട.jpg
वैज्ञानिक वर्गीकरण
जगत: पादप
(अश्रेणिकृत) एंजियोस्पर्म
(अश्रेणिकृत) युडिकॉट
(अश्रेणिकृत) ऍस्टरिड्स
गण: एरिकेल्स
कुल: सैपोटेसी
वंश: मनिल्करा
जाति: M. zapota
द्विपद नाम
Manilkara zapota
(लीनि.) पी.रॉयन
पर्याय

पाठ देखें

सैपोडिला, कच्चा
Sapodilla.jpg
फल, अनुप्रस्थ काट
प्रति परोस का 100 ग्राम (3.5 oz)
ऊर्जा 347 kJ (83 kcal)
कार्बोहाइड्रेट 19.96 g
आहार रेशे 5.3 g
वसा 1.1 g
प्रोटीन 0.44 g
रिबोफ्लेविन(विटा.बी) 0.02 mg (1%)
नायसिन(विटा.बी) 0.2 mg (1%)
पैण्टोथेनिक अम्ल (बी) 0.252 mg (5%)
विटामिन बी 0.037 mg (3%)
फोलेट (Vit. B9) 14 μg (4%)
विटामिन सी 14.7 mg (25%)
कैल्शियम 21 mg (2%)
लौह 0.8 mg (6%)
मैग्नेशियम 12 mg (3%)
फास्फोरस 12 mg (2%)
पोटैशियम 193 mg (4%)
सोडियम 12 mg (1%)
जस्ता 0.1 mg (1%)
Link to USDA Database entry
Percentages are relative to US recommendations for adults.
Source: USDA Nutrient database
Manilkara zapota fruits.jpg
चीकू का वृक्ष जिस पर फल लगे हैं।
मैसूर में एक स्त्री पके चीकू बेच रही है।

चीकू (वानस्पतिक नाम : Manilkara zapota) फल का एक प्रकार हैं।

चीकू मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं।

  1. लम्बा गोल।
  2. साधारण लम्बा गोल।
  3. गोल।

गुण[संपादित करें]

चीकू शीतल, पित्तनाशक, पौष्टिक, मीठे और रूचिकारक हैं। इसमें शर्करा का अंश ज़्यादा होता है। यह पचने में भारी होता है। भोजन के बाद यदि चीकू का सेवन किया जाए तो यह निश्चित रूप से लाभ प्रदान करता है।

उत्पात व खपत[संपादित करें]

चीकू का उत्पादन बहुत अच्छी मात्रा में किया जा सकता है यदि अच्छी फसल का उत्पादन करना है तो उसकी देखभाल अच्छे से करनी होती है।

अन्य फल[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]