चाँदनी (1989 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
चाँदनी
चित्र:चाँदनी.jpg
चाँदनी का पोस्टर
निर्देशक यश चोपड़ा
अभिनेता विनोद खन्ना,
ऋषि कपूर,
श्री देवी,
वहीदा रहमान,
सुषमा सेठ,
अचला सचदेव,
बीना बैनर्जी,
मनोहर सिंह,
मीता वशिष्ठ,
आशा शर्मा,
अनंत महादेवन,
श्याम अरोड़ा,
राम गोपाल बजाज,
संगीतकार शिव-हरि
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1989
देश भारत
भाषा हिन्दी

चाँदनी 1989 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है।

संक्षेप[संपादित करें]

रोहित (ऋषि कपूर) अपने रिश्तेदार की शादी में चाँदनी (श्री देवी) से मिलता है और उसी दौरान उससे प्यार करने लगता है। कई समय बाद वो भी उससे प्यार करने लगती है। उसके बाद उन दोनों की शादी तय हो जाती है। उसका परिवार इस रिश्ते के विरुद्ध रहता है। लेकिन रोहित इसकी परवाह नहीं करता है। एक दिन वह चाँदनी को अपने घर के ऊपर छत में रहने के लिए कहता है। उसके बाद उसके इंतेजार करते समय वो अचानक हेलीकाप्टर से वहाँ आ जाता है और उसके ऊपर फूलों का बरसात करता है। सब कुछ अचानक शांत हो जाता है।

उसके कुछ ही समय बाद चाँदनी के पास फोन आता है। फोन पर रोहित बताता है कि वो अस्पताल में भर्ती है। उसके हेलीकाप्टर से गिरने के कारण उसे चोट लग जाती है। इस चोट के बाद उसके दायें ओर लकवा हो जाता है। इसके बाद रोहित चाँदनी को अपने से दूर करना चाहता है। रोहित की यादों को मिटाने के लिए चाँदनी मुंबई चले जाती है।

यहाँ वो ललित (विनोद खन्ना) के कंपनी में काम करने लगती है। ललित को भी चाँदनी से प्यार हो जाता है। वो उससे शादी की बात करता है और बाद में चाँदनी उसकी बात मान जाती है। ललित कुछ काम से स्विट्ज़रलैंड जाता है। यहाँ उसकी मुलाक़ात रोहित से होती है, जो अपना इलाज कराने आए रहता है। वो दोनों अपने प्यार की कहानी सुनानते हैं, लेकिन उन्हें ये पता नहीं होता है कि वो दोनों एक ही लड़की के बारे में बात कर रहे हैं।

रोहित इलाज के बाद वापस भारत आ जाता है और चाँदनी से शाम को मिलता है। वह मिलते साथ उसके साथ नाचता है और शादी के बारे में पूछता है। चाँदनी यह कह कर उसे मना कर देती है कि वो किसी और से शादी के लिए हाँ कह चुकी है।

रोहित क्रोधित हो जाता है और चाँदनी पूछती है कि वो उसके जगह में क्या कर रहा है। इसके बाद रोहित चला जाता है। ललित और रोहित दोनों स्विट्ज़रलैंड में अच्छे दोस्त बने होते हैं, इस कारण ललित अपने शादी में रोहित को भी न्योता भेज देता है।

ललित के सामने रोहित और चाँदनी अंजान होने का नाटक करते हैं। शादी के दिन रोहित बहुत ज्यादा पी लेता है और उसके बाद ललित को एहसास होता है कि वह रोहित से प्यार करती है।

चरित्र[संपादित करें]

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

दल[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

लगी आज सावनकी वो झड़ी है

रोचक तथ्य[संपादित करें]

परिणाम[संपादित करें]

कमाई[संपादित करें]

समीक्षाएँ[संपादित करें]

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]