गीत चतुर्वेदी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
गीत चतुर्वेदी Geet Chaturvedi
Geet Chaturvedi CLF 3.jpg
वर्ष 2018 में गीत चतुर्वेदी
जन्म27 नवम्बर 1977 (1977-11-27) (आयु 44)
मुम्बई, भारत
व्यवसायकवि, गीतकार, पटकथाकार, कहानीकार, उपन्यासकार, पत्रकार एवं अनुवादक
राष्ट्रीयताभारतीय
अवधि/काल1994–वर्तमान तक
विधाकविता, उपन्यास, पटकथा
साहित्यिक आन्दोलनउत्तर आधुनिक साहित्य
उल्लेखनीय सम्मानकविता के लिए भारत भूषण सम्मान,

कथा के लिए कृष्ण प्रताप सम्मान, कविता के लिए स्पंदन पुरस्कार, कथा के लिए कृष्ण बलदेव वैद फेलोशिप,

कथा के लिए सैयद हैदर रज़ा फेलोशिप
जालस्थल
www.geetchaturvedi.com

27 नवंबर 1977 को मुंबई में जन्मे गीत चतुर्वेदी को हिंदी के सबसे ज़्यादा पढ़े जाने वाले समकालीन लेखकों में से एक माना जाता है। वह नित प्रयोगधर्मी लेखन करते हैं, इसलिए उन्हें सम्मान से 'अवां-गार्द' (अपनी विधा में सदैव अग्रणी रहने वाला) लेखक कहा जाता है। उनकी ग्यारह किताबें प्रकाशित हैं, जिनमें दो कहानी-संग्रह और तीन कविता-संग्रह शामिल हैं। ‘न्यूनतम मैं’ और ‘ख़ुशियों के गुप्तचर’ हिंदी की बेस्टसेलर सूचियों में शामिल रहीं। साहित्य, सिनेमा व संगीत पर लिखे उनके निबंधों के संग्रह ‘टेबल लैम्प’ और ‘अधूरी चीज़ों का देवता’ हैं। वह गीतकार, पटकथाकार, आलोचक और स्तम्भकार के रूप में भी सक्रिय हैं।

कविता के लिए गीत को भारत भूषण अग्रवाल पुरस्कार, स्पंदन कृति सम्मान, वाग्धारा नवरत्न सम्मान तथा गल्प के लिए कृष्णप्रताप कथा सम्मान, शैलेश मटियानी कथा सम्मान, कृष्ण बलदेव वैद फेलोशिप और सैयद हैदर रज़ा फेलोशिप मिल चुके हैं। ‘इंडियन एक्सप्रेस’ सहित कई प्रकाशन संस्थानों ने उन्हें भारतीय भाषाओं के सर्वश्रेष्ठ लेखकों में शुमार किया है।

गीत चतुर्वेदी की रचनाएँ देश-दुनिया की 22 भाषाओं में अनूदित हो चुकी हैं। उनकी कविताओं के अंग्रेज़ी अनुवाद का संग्रह ‘द मेमरी ऑफ़ नाउ’ 2019  में अमेरिका से प्रकाशित हुआ। उनके नॉवेला ‘सिमसिम’ के अंग्रेज़ी अनुवाद को (अनुवादक अनिता गोपालन) ‘पेन अमेरिका’ ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठित ‘पेन-हैम ट्रांसलेशन ग्रांट’ अवार्ड किया है। गीत इन दिनों भोपाल रहते हैं।

प्रमुख पुस्तकें[संपादित करें]

कविता-संग्रह[संपादित करें]

  • 2019: ख़ुशियों के गुप्तचर. रुख़ पब्लिकेशन्स, नई दिल्ली. दिसंबर 2019. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788194312307.
  • 2017: न्यूनतम मैं. राजकमल प्रकाशन, नई दिल्ली. जनवरी 2017. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788126729715.
  • 2010: आलाप में गिरह. राजकमल प्रकाशन, नई दिल्ली. फ़रवरी 2010. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-8126718535.

कथा-साहित्य[संपादित करें]

कथेतर साहित्य[संपादित करें]

गीत चतुर्वेदी द्वारा अनूदित[संपादित करें]

  • 2018: ख़ुद से कई सवाल , by अमित दत्ता, राजकमल प्रकाशन, नई दिल्ली. isbn=9788126730735
  • 2004: चिली के जंगलों से, पाब्लो नेरूदा का गद्य, संवाद प्रकाशन, मेरठ

संपादन[संपादित करें]

  • 2018: लेखक का सिनेमा, विश्व सिनेमा पर कुँवर नारायण का लेखन, संपादन: गीत चतुर्वेदी, राजकमल प्रकाशन, नई दिल्ली | isbn=9788126730476

गीत चतुर्वेदी की रचनाओं का पुस्तकाकार अनुवाद[संपादित करें]

  • 2019: द मेमरी ऑफ नाउ, अंग्रेज़ी अनुवाद: अनिता गोपालन, एनॉमलस प्रेस, रोड आइलैंड्स, अमेरिका, ISBN 978-1-939781-44-4
  • 2019: सिमसिम, मराठी अनुवाद : जुई कुलकर्णी, बुक हंगामा, पुणे
  • 2021: चिट्टा फूल जे गुलाबी होना चाहुंदा, विश्व-साहित्य पर निबंधों का पंजाबी अनुवाद, अनुवादक : गौरव, प्रकाशक : ऑटम आर्ट, पटियाला, पंजाब ISBN 978-93-90849-24-6

वरिष्ठ लेखकों द्वारा प्रशस्ति एवं समीक्षा[संपादित करें]

गीत चतुर्वेदी हिन्दी साहित्य के बहुप्रशंसित लेखक और कवि हैं। हिन्दी और अंग्रेज़ी के अनेक वरिष्ठ लेखकों ने उनके रचनात्मक योगदान की भूरि-भूरि प्रशंसा की है।

  • 21वीं सदी के पहले दशक के मेरे प्रिय कवि व कथाकार हैं गीत चतुर्वेदी। - नामवर सिंह, महान आलोचक[1]
  • गीत के पास बहुत ताज़ा और चमकीली भाषा है। वह विचारवान और स्वप्नदर्शी हैं। - ज्ञानरंजन, कथाकार व संपादक, पहल[2]
  • गीत चतुर्वेदी ने अपने गल्प व कविताओं में अवाँ-गार्द भाव दिखाया है। उनका अध्ययन बेहद विस्तृत है जो कि उनकी पीढ़ी के लिए एक दुर्लभ बात है। यह पढ़ाई उनकी रचनाओं में अनायास और सहज रूप से गुँथी दिखती है। उनकी भाषा व शैली अभिनव है। उनके पास सुलझी हुई दृष्टि है जिसमें क्लीशे नहीं और जो कि वर्तमान विचारधारात्मक खेमों के शिकंजे में भी फँसी हुई नहीं है। - अशोक वाजपेयी, कवि-आलोचक[3]
  • गीत चतुर्वेदी की काव्य-निर्मिति और शिल्प की एक सिफ़त यह भी है कि वह यथार्थ और कल्पित, ठोस और अमूर्त, संगत से असंगत, रोज़मर्रा से उदात्त की बहुआयामी यात्रा एक ही कविता में उपलब्ध कर लेते हैं। इतिहास से गुज़रने का उनका तरीक़ा कुछ-कुछ चार्ली चैपलिन-सा है और कुछ काल-यात्री (टाइम- ट्रैवलर) सरीख़ा…। भारतीय समाज के लुच्चाकरण और अमानवीयता पर जो बहुत कम हिंदी कवि नज़र रखे हुए हैं, गीत उनमें भी एक निर्भीक यथार्थवादी हैं। - विष्णु खरे, कवि-आलोचक[4]
  • किसी भी अच्छे कवि की तरह, गीत चतुर्वेदी के पास तीसरी आँख है, जिसकी मदद से वह सिनेमाई तकनीकों का प्रयोग करते हैं और ऐसे दृश्य रचते हैं जो अद्भुत, मासूम और खिलन्दड़ हैं। उनके संवेदना- बोध और शैली की सूक्ष्मता के कारण उनकी कविताओं को पढ़ने में अत्यन्त आनन्द आता है। - दुन्या मिख़ाइल, अरबी भाषा की इराक़ी कवि[5]
  • भारतीय साहित्य की संस्कृत-पालि परंपरा, योरप के उत्तर-आधुनिक साहित्य व विश्व-कविता के अध्ययन के कारण गीत चतुर्वेदी की कविताएँ स्वाभाविक रूप से इंटर-टेक्स्चुअल हैं। - अरुंधति सुब्रमण्यम, भारतीय अंग्रेज़ी भाषी कवि[6]
  • गीत चतुर्वेदी एक विलक्षण कवि हैं। - सुदीप सेन, भारतीय अंग्रेज़ी भाषी कवि[7]

पुरस्कार एवं सम्मान[संपादित करें]

गीत चतुर्वेदी ने अपने लेखन के लिए अनेकों पुरस्कार व सम्मान अर्जित किए हैं।[8]

  • 2007: भारत भूषण सम्मान, कविता
  • 2011: भारत के दस सर्वश्रेष्ठ लेखकों में एक घोषित इंडियन एक्सप्रेस
  • 2014: कृष्ण प्रताप कथा सम्मान, पुस्तक 'पिंक स्लिप डैडी' के लिए
  • 2016: पेन/हैम ट्रांसलेशन फंड ग्रांट PEN/Heim Translation Fund Grants उपन्यास सिमसिम के लिए, अनुवादक अनिता गोपालन
  • 2018: शैलेश मटियानी कथा सम्मान पुस्तक 'पिंक स्लिप डैडी' के लिए
  • 2019: कृष्ण बलदेव वैद फेलोशिप, कथा साहित्य के लिए
  • 2019: सैयद हैदर रज़ा फेलोशिप, कथा साहित्य के लिए
  • 2020: वाग्धारा नवरत्न सम्मान न्यूनतम मैं के लिए
  • 2020: स्पंदन कृति सम्मान न्यूनतम मैं के लिए

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Official Website". 30 मार्च 2022.
  2. "Official Website". 30 मार्च 2022.
  3. "Official Website". 30 मार्च 2022.
  4. "Official Website". 30 मार्च 2022.
  5. "Official Website". 30 मार्च 2022.
  6. "Official Website". 30 मार्च 2022.
  7. "Official Website". 30 मार्च 2022.
  8. "News18 Hindi Article Jadui Gady ka Udaharan". 28 मई 2021.