खरनाल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
खरनाल
गाँव
खरनाल में तेजाजी का मंदिर
खरनाल में तेजाजी का मंदिर
खरनाल की राजस्थान के मानचित्र पर अवस्थिति
खरनाल
खरनाल
खरनाल (राजस्थान)
खरनाल की भारत के मानचित्र पर अवस्थिति
खरनाल
खरनाल
खरनाल (भारत)
निर्देशांक: 27°05′09″N 73°38′41″E / 27.08576°N 73.644705°E / 27.08576; 73.644705निर्देशांक: 27°05′09″N 73°38′41″E / 27.08576°N 73.644705°E / 27.08576; 73.644705
देशFlag of India.svg भारत
राज्यराजस्थान
भाषा
 • आधिकारिकहिंदी
समय मण्डलआइएसटी (यूटीसी+5:30)
आई॰एस॰ओ॰ ३१६६ कोडआरजे-आइएन (RJ-IN)

खरनाल राजस्थान के नागौर जिले में एक गाँव है।[1] यह तेजाजी का जन्मस्थान है। यह नागौर - जोधपुर राजमार्ग पर नागौर से १६ किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। खरनाल गाँव को अतीत में कई बार छोड़ दिया गया था और वर्तमान में यह प्राचीन गाँव के उत्तर-पश्चिम में १ मील की दूरी पर स्थित है। तेजाजी को लोक-देवता माना जाता है और सभी समुदायों द्वारा पूरे राजस्थान तथा मध्य प्रदेश के मालवा में पूजा की जाती है। उनका जन्म भाद्रपद शुक्ल दशमी को वर्ष १०७४ में, धौल्या गोत्र के जाटों के परिवार में हुआ था। उनके पिता, खरनाल के एक प्रमुख चौधरी ताहरजी थे। उनकी माता का नाम सुगना था। माना जाता है कि नाग-देवता के आशीर्वाद से माता सुगना को पुत्र तेज की प्राप्ति हुई थी।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

जनसांख्यिकी[संपादित करें]

यह धौल्या जाटों का मुख्य गाँव है। हेमा, दूल्हा, धन्ना और पीपा के धौल्या वंशजों की चार शाखाएँ हैं। गाँव के अन्य जाट गोत्र हैं ― राड, महिया, जाखड़, करवीर और बेंदा।

गाँव में रहने वाली अन्य जातियाँ हैं ― मुस्लिम, तेली, नायक, बलाई, लुहार, सुनार, ब्राह्मण और बनिया। कोई राजपूत नहीं है।

खरनाल में तेजाजी का एक बड़ा मंदिर है। मंदिर में मुकुट, कलगी और हाथ में भाले के साथ तेजाजी की पीतल की मूर्ति है। गाँव के बाहर तेजाजी का एक छोटा मंदिर है, जो बड़े मंदिर से १.५ किलोमीटर की दूरी पर है। इस गाँव के लोग बताते हैं कि तेजाजी की मूर्ति प्राकृतिक रूप से मिट्टी से निकली थी। माना जाता है कि यह मूर्ति लगभग १००० वर्ष पुरानी है। यह मंदिर धवा जोहर में स्थित है, जिसके पानी का उपयोग ग्रामीणों द्वारा पीने के लिए किया जाता है।

राजलजी (तेजाजी की बहन, जो तेजाजी के साथ सती हुईं) का मंदिर, पूर्व दिशा में गाँव से १ किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।


खरनाल जम्मू और कश्मीर में डोडा जिले का एक गाँव भी है।

यह भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  • मनसुख रणवा: क्षत्रिय शिरोमणि वीर तेजाजी (क्षत्रिय शिरोमणि वीर तेजाजी), २००१