ओरिएण्टल इंश्योरेंस कम्पनी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

दि ओरिएण्टल इंश्योरेंस कम्पनी लिमिटेड का आरंभ 12 सितम्बर 1947 को बम्बई में हुआ। कम्पनी पूर्णत: दि ओरिएण्टल इंश्योरेंस गवर्नमेंट सिक्योरिटी लाईफ इंश्योरेंस कम्पनी लिमिटेड की सहायक कम्पनी थी तथा सामान्य बीमा कारोबार करने के लिए बनाई गयी थी। 1956 से 1973 तक (सामान्य बीमा कारोबार के देश में राष्ट्रीयकृत होने तक) कम्पनी भारतीय जीवन बीमा निगम की एक सहायक कम्पनी थी। 2003 में भारतीय साधारण बीमा निगम के पास रखे सभी शेयर केन्द्रीय सरकार को अंतरित कर दिये गये हैं।   कारोबार को सहज एवं सुचारू रूप से चलाने के लिए योजनाएं तैयार करने में कम्पनी अग्रणी है। कम्पनी के पास पूर्णत: प्रशिक्षित एवं प्रेरक कार्यदल है जो कि विविध क्षेत्रों में कार्यरत है तथा निपुण है। पॉवर प्लांट्स, पैट्रोकैमिकल्स, स्टील एवं कैमिकल प्लांट जैसे वृहद प्रौजेक्टों के लिए विशेष आवरण प्रदान करने में ओरिएण्टल विशिष्ट है। कम्पनी ने भारत की ग्रामीण एवं शहरी दोनों प्रकार की जनसंख्या की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए विभिन्न प्रकार के बीमा आवरण विकसित किये हैं। बेहतर ग्राहक सेवा प्रदान करने के लिए कम्पनी के पास उच्चतम तकनीकी योग्यता प्राप्त एवं सक्षम व्यावसायिकों की एक टीम है।   वर्ष 1950 में 99,946 रूपये का प्रथम प्रीमियम अर्जित करके ओरिएण्टल इंश्योरेंस ने शुभारम्भ किया। कम्पनी का मुख्य उद्देश्य था "ग्राहकों को सेवा प्रदान करना"  तथा इसे प्राप्त करने में हमें समय-समय पर बनायी गयी सुदृढ़ परंपराओं से काफी सहयोग मिला।   ओरिएण्टल के नई दिल्ली स्थित प्रधान कार्यालय सहित देश के विभिन्न शहरों में 21 क्षेत्रीय कार्यालय, व 950 से अधिक प्रचालन कार्यालय हैं। (1.4.2004 तक)। नेपाल, कुवैत और दुबई में कम्पनी के विदेशी कार्यालय हैं। कम्पनी के कर्मचारियों की कुल संख्या लगभग 16000 है। आरंभ में जो प्रीमियम 1 लाख रूपये से भी कम था, 1973 में वह बढ़कर 58 करोड़ रूपये हो गया तथा वर्ष 2003-04 के दौरान ये आँकड़े 2899.74 करोड़ की ऊंची रकम तक पहुंच गये।