अरावली

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अरावली पर्वतमाला
पर्वतमाला
Aravalli.jpg
अरावली पर्वतमाला
देश भारत, पाकिस्तान
राज्य राजस्थान, हरियाणा, गुजरात, पंजाब (पाकिस्तान), सिंध (पाकिस्तान)
नगर माउण्ट आबू,सिरोही
नदियां बनास,[खमनौर पहाड़ी(राजसमंद)], लूनी[नागपहाड़,(अजमेर)], Sakhi [सूकड़ी,(पाली में अरावली से], साबरमती[कोटड़ा पहाड़ी,(उदयपुर)
River4     = [खारी] [बिजरावल पहाड़ी,(राजसमंद)
उच्चतम बिंदु गुरू शिखर
 - ऊँचाई 1,722 मी. (5,650 फीट)
 - निर्देशांक 24°35′33″N 74°42′30″E / 24.59250°N 74.70833°E / 24.59250; 74.70833
मानचित्र : भारतीय पर्वतमाला
मानचित्र : भारतीय पर्वतमाला

Rajasthan 9℅ divisions

अरावली भारत के पश्चिमी भाग राजस्थान में स्थित एक पर्वतमाला है। भारत की भौगोलिक संरचना में अरावली प्राचीनतम पर्वत है। यह संसार की सबसे प्राचीन पर्वत श्रृंखला है जो राजस्थान को उत्तर से दक्षिण दो भागों में बांटती है। अरावली का सर्वोच्च पर्वत शिखर सिरोही जिले में गुरुशिखर (1722 /1727 मी.) है, जो माउंट आबू(सिरोही) में है। अरावली पर्वतमाला के आस - पास सदियों से भील जनजाति निवास करती रही है।

अरावली पर्वत श्रंखला की अनुमानित आयु 570 मिलियन वर्ष है यह एक अवशिष्ट पर्वत का उदाहरण है जिसकी कुल लम्बाई गुजरात से दिल्ली तक लगभग 692 किलीमीटर है, अरावली पर्वत श्रंखला का लगभग ८० % विस्तार राजस्थान में है, दिल्ली में स्थित राष्ट्रपति भवन रायसीना की पहाड़ी पर बना हुआ है जो अरावली पर्वत श्रंखला का ही भाग है, अरावली की औसत ऊंचाई ९३० मीटर है तथा अरावली के दक्षिण की ऊंचाई व चौड़ाई सर्वाधिक है, अरावली या अर्वली उत्तर भारतीय पर्वतमाला है। राजस्थान राज्य के पूर्वोत्तर क्षेत्र से गुज़रती 550 किलोमीटर लम्बी इस पर्वतमाला की कुछ चट्टानी पहाड़ियाँ दिल्ली के दक्षिण हिस्से तक चली गई हैं। शिखरों एवं कटकों की श्रृखलाएँ, जिनका फैलाव 10 से 100 किलोमीटर है, सामान्यत: 300 से 900 मीटर ऊँची हैं। यह पर्वतमाला, दो भागों में विभाजित है- सांभर-सिरोही पर्वतमाला- जिसमें माउण्ट आबू के गुरु शिखर (अरावली पर्वतमाला का शिखर, ऊँचाई (1,722 मीटर ) में और (5649.606 फ़ीट ) सहित अधिकतर ऊँचे पर्वत हैं। सांभर-खेतरी पर्वतमाला- जिसमें तीन विच्छिन्न कटकीय क्षेत्र आते हैं। अरावली पर्वतमाला प्राकृतिक संसाधनों (एवं खनिज़) से परिपूर्ण है और पश्चिमी मरुस्थल के विस्तार को रोकने का कार्य करती है। अरावली पर्वत का पश्चिमी भाग मारवाड़ एवं पूर्वी भाग मेवाड़ कहलाता है। यहां अनेक प्रमुख नदियों- बनास, लूनी, साखी एवं साबरमती का उदगम स्थल है। इस पर्वतमाला में केवल दक्षिणी क्षेत्र में सघन वन हैं, अन्यथा अधिकांश क्षेत्रों में यह विरल, रेतीली एवं पथरीली (गुलाबी रंग के स्फ़टिक) है।

अरावली की अन्य उच्च चोटियां:- १ गुरु शिखर - सिरोही (1722 m) २ सेर - सिरोही (1597m) ३ दिलवाडा - सिरोही( इसे हाल ही में जोड़ा गया है, इसी पर्वत पर प्रसिद्ध जैन मंदिर स्थित हैं). (1442m) ४ जरगा - उदयपुर. (1431m) ५ अचलगढ - सिरोही (1380m) 6 रघुनाथगढ(1055 m) - सीकर ७ खो(920) - जयपुर ८ तारागढ - अजमेर (870 m) ९ भेराच - अलवर


राजस्थान :_ अरावली मुख्य रूप से राजस्थान में फैली हुई है। यह राजस्थान के 16 जिलों में फैली है।