अंजना ओम कश्यप

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अंजना ओम कश्यप
Anjana Om Kashyap.jpg
जन्म 12 जून 1975 (1975-06-12) (आयु 46)
(भारांग: 22 ज्येष्ठ 1897)
राँची, बिहार, (वर्तमान में झारखंड)
राष्ट्रीयता भारतीय
शिक्षा पत्रकारिता में डिपलोमा
वनस्पति विज्ञान में स्नातक (ऑनर्ज़)
व्यवसाय पत्रकार और समाचार प्रस्तुतकर्ता
सक्रिय वर्ष 2003-वर्तमान
जीवनसाथी मंगेश कश्यप
बच्चे 2

अंजना ओम कश्यप एक वरिष्ठ पत्रकार और समाचार प्रस्तोता है। वह आज तक समाचार चैनल की एक कार्यकारी संपादक है। वह भारत के सबसे सफल और प्रसिद्ध पत्रकारों में से एक है। वह अपने कार्यक्रम हल्ला बोल और आज तक विशेष रिपोर्ट के लिए जानी जाती हैं।[1] उन्होंने पहले अन्य हिन्दी चैनलों में बडी बहस और दो टूक जैसे बहस कार्यक्रमों की मेजबानी की है।[2].

करियर[संपादित करें]

उन्होंने बिहार से अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की। उन्होंने 2002 में जामिया मिलिया इस्लामिया कॉलेज दिल्ली से पत्रकारिता में डिप्लोमा किया। उन्होंने 2003 में दूरदर्शन के साथ पत्रकारिता करियर शुरू किया।

अंजना ने सुल्तान (2016 फ़िल्म) और टाइगर जिन्दा है जैसे हिन्दी फिल्मों में स्वयं के रूप में अभिनय किया है।

परिवार[संपादित करें]

उनके पिता का नाम डॉ. ओम प्रकाश तिवारी है जो कि पूर्व शिक्षा अधिकारी रह चुके हैं। अंजना की शादी 1995 दिल्ली, अंडमान और निकोबार द्वीप पुलिस सेवा कैडर के एक अधिकारी मंगेश कश्यप से हुई है।[3] वह दिल्ली विश्वविद्यालय में अपने दिनों के दौरान मंगेश से मिलीं।[3] मंगेश दिल्ली पुलिस के उपायुक्त और 2016 से, दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के मुख्य सतर्कता अधिकारी रहे हैं।[4] उनका एक बेटा और एक बेटी है।[5][3]

विवाद[संपादित करें]

बीजेपी की समर्थक पत्रकार[संपादित करें]

द कारवां (निकिता सक्सेना द्वारा) का एक लंबा-चौड़ा रिपोर्ट , अंजना की पत्रकारिता के लिए बहुत महत्वपूर्ण रहा है, जिसमें राष्ट्रवादी विचारधाराओं के आक्रामक प्रसार और विभिन्न स्थितियों के बीच भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में पक्षपातपूर्ण रिपोर्टिंग पर ध्यान नहीं दिया गया है।[3] Scroll.in ने उसे बीजेपी के अनुकूल समाचार एंकर होने का उल्लेख किया है।[6]

मुजफ्फरपुर अस्पताल की घटना[संपादित करें]

2019 बिहार इंसेफेलाइटिस के प्रकोप के बारे में रिपोर्ट करते समय, अंजना ने श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में नवजात आईसीयू में प्रवेश किया और ऑन-ड्यूटी बाल रोग विशेषज्ञ से सम्पर्क करना शुरू कर दिया।[7] उनके अनुचित व्यवहार के लिए उनकी काफी आलोचना की गई थी।[3][8] इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन ने बाद में, प्रचार पाने के प्रयास में, बच्चों के जीवन को खतरे में डालने के लिए उनके विरुद्ध शिकायत दर्ज की।[9]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Newslaundry. "Newslaundry - Sabki Dhulai". Newslaundry. मूल से 18 अक्तूबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 नवंबर 2018.
  2. OM Kashyap, Anjana. "Guest Column: Lynching on Social Media: Anjana Om Kashyap". www.exchange4media.com (अंग्रेज़ी में). मूल से 26 अप्रैल 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 April 2016.
  3. Saxena, Nikita (1 December 2019). "How Anjana Om Kashyap, a star of Hindi news television, sells the new normal". The Caravan (अंग्रेज़ी में). Delhi Press. अभिगमन तिथि 6 December 2019.
  4. "कोई IPS अफसर तो कोई सॉफ्टवेयर इंजीनियर, जानिए क्या करते हैं इन मशहूर न्यूज एंकर्स के पति".
  5. "first time voter".
  6. Scroll Staff. "Establishment-friendly news anchor Anjana Om Kashyap says CAA and NRC can be a 'lethal combination'". Scroll.in (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 9 January 2020.
  7. "'Why Scold Doctor on Duty?' TV Reporter's ICU Coverage Faces Flak". The Quint. 19 June 2019. अभिगमन तिथि 1 July 2019.
  8. "TV anchor Anjana Om Kashyap criticised for entering ICU in Bihar hospital for news report". Telegraph India. 19 June 2019. अभिगमन तिथि 1 July 2019.
  9. "Medical Association letter to channel on Anjana Om Kashyap's ICU entry". Telegraph India.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

अंजना ओम कश्यप को मिलने वाले अवार्ड