कुप्पाली वी गौड़ा पुटप्पा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
के.वी.पुटप्पा
ಕೆ.ವಿ. ಪುಟ್ಟಪ್ಪ

जन्म 29 दिसम्बर 1904
कुपल्ली, तीर्थहल्ली ताल्लुक, शिवमोगा जिला, कर्नाटक
मृत्यु 11 नवम्बर 1994(1994-11-11) (उम्र 89)
मैसूर, कर्नाटक
उपनाम कुवेम्पू
व्यवसाय लेखक, प्राध्यापक
राष्ट्रीयता भारत
शैली फिक्शन
साहित्यिक आन्दोलन नवोदय
आधिकारिक जालस्थल

कुपल्ली वेंकटप्पागौड़ा पुटप्पा (कन्नड़: ಕುಪ್ಪಳ್ಳಿ ವೆಂಕಟಪ್ಪಗೌಡ ಪುಟ್ಟಪ್ಪ) (२९ दिसंबर, १९०४ - ११ नवंबर, १९९४)[1] एक कन्नड़ लेखक एवं कवि थे, जिन्हें २०वीं शताब्दी के महानतम कन्नड़ कवि की उपाधि दी जाती है। ये कन्नड़ भाषा में ज्ञानपीठ सम्मान पाने वाले सात व्यक्तियों में प्रथम थे।[2] पुटप्पा ने सभी साहित्यिक कार्य उपनाम कुवेम्पु से किये हैं। कुप्पाली वी गौड़ा पुटप्पा को साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में सन १९५८ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।


इन्हें भी देखें[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "The Gentle Radiance of a Luminous Lamp". Ramakrishna Math. http://www.sriramakrishnamath.org/magazine/vk/2004/12-3-6.asp. अभिगमन तिथि: 2006-10-31. 
  2. "Jnanapeeth Awards". Ekavi. http://ekavi.org/jnanpeeth.htm. अभिगमन तिथि: 2006-10-31. 

बाहरी सूत्र[संपादित करें]