विश्वनाथ सत्यनारायण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
विश्वनाथ सत्यनारायण
Viswanatha Satyanarayana.tif
श्रीमान विश्वनाथ सत्यनारायण
उपनाम: कवि साम्राट (तेलुगु)
जन्म: सेप्टेंबर १०, १८९५
नन्दमूरु ग्राम, कृष्णा जिला, आन्ध्रप्रदॅश्
मृत्यु: अक्तूबर १८, १९७६
विजयवाडा
कार्यक्षेत्र: तेलुगु साहित्य, अध्यापक, कवि
राष्ट्रीयता: भारतीय
भाषा: तेलुगु
काल: जीवन पर्यन्त
विधा: सभी तरह कॅ साह्त्यिक प्रक्रियायॅ
विषय: सामाजिक्
साहित्यिक
आन्दोलन
:
सामाजिक्
प्रमुख कृति(याँ): रामायण कल्पवृक्षमु
इनसे प्रभावित: बीस्वी सदी सॅ लेकर वर्तमान कवि, लेखक् एव्ं नवलकार्
वेयि पडगलु, रामायण कल्पवृक्षमु, अनेक कवितायें, नवल, कहानिया, नाटक्

विश्वनाथ सत्यनारायण एक तेलगु साहित्यकार थे। इन्हें 1970 में ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया था । विश्वनाथ सत्यनारायण को साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९७० में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये आंध्र प्रदेश राज्य से थे।

सन्दर्भ[संपादित करें]